Thursday, Sep 20 2018 | Time 22:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फिल्म अभिनेता मोहन बाबू की मां का निधन
  • हाई-प्रोफाइल सुसाइड मामले में पैरवी करने पहुंचे चिदम्बरम
  • ओडिशा विधानसभा का मानसून सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
  • ओडिशा में कई परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे मोदी
  • हाई-प्रोफाइल सुसाइड मामले में पैरवी करने पहुंचे चिदम्बरम
  • झारखंड में हो रहा 60 हजार करम पौधों का रोपण : रघुवर
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • सफाईकर्मी करेंगे 21 से 25 सितम्बर तक भूख हड़ताल
  • आनंदपुर साहिब -नैना देवी रोपवे प्रोजेक्ट को मंजूरी
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • कार और ट्रक की टक्कर में तीन की मौत
  • राजकीय सम्मान के साथ शहीद नरेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार
  • नदीम ने 10 ओवर में 10 रन पर झटके आठ विकेट
  • एस्मा के तहत निलम्बन के खिलाफ रोडवेज कर्मियों की भूख हड़ताल
  • हरियाणा में 23-25 अक्तूबर तक होगा खेल महाकुम्भ
खेल Share

टूर्नामेंट के सभी मैचों में भारतीय खिलाड़ियों की रक्षात्मक शैली लाजवाब रही है। भारत के खिलाफ अब तक केवल एक गोल हुआ है। कोरिया ने यह गोल पेनल्टी स्ट्रोक पर किया था। दीप ग्रेस एक्का, दीपिका, गुरजीत कौर, सुनीता लाकड़ा और युवा खिलाड़ी रीना खोखर ने कमाल का प्रदर्शन किया है।
भारतीय टीम के कोच शुअर्ड मरिने का मानना है कि स्वर्ण पदक अपने नाम करने के लिए पूरी टीम को बेहतर प्रदर्शन करना होगा। मरिने ने कहा,“पूरे टूर्नामेंट के दौरान हमारी खिलाड़ियों ने बेहतर रक्षात्मक खेल दिखाया है। जापान के खिलाफ होने वाले फाइनल को लेकर लड़कियां काफी उत्साहित हैं और आत्मविश्वास से भरी हुई हैं।”
कप्तान रानी रामपाल का मानना है कि टीम स्वर्ण पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक का टिकट कटाने का माद्दा रखती है। रानी ने कहा,“जापान के खिलाफ होने वाला फाइनल निश्चित रूप से रोमांचक होगा लेकिन हम मैच जीतने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक देंगे। टीम जानती है कि उसका केवल एक ही उद्देश्य है 2020 टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना। इसलिए हम एशिया की सर्वश्रेष्ठ टीम की तरह खेलने की कोशिश करेंगे और अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे।”
भारतीय टीम के पास वंदना कटारिया और रानी रामपाल जैसी अनुभवी खिलाड़ी हैं जो शानदार फार्म में हैं। इस टूर्नामेंट के दौरान भारतीय टीम ने कुल 39 गोल किए हैं। टीम के पास नवनीत कौर, नवजोत कौर और लालरेमसियामी जैसी धुंधर खिलाड़ी हैं।
शुअर्ड मरीने ने कहा,“हम जापान के खिलाफ पहले भी खेल चुके हैं और जानते हैं कि वह एक मजबूत टीम है। इस टूर्नामेंट के दौरान शानदार खेल दिखाने के बाद जापान फाइनल में पहुंचा है। लेकिन मेरा मानना है कि हमारे पास विश्व की किसी भी टीम को हराने की क्षमता है। इसलिए यह जरूरी है कि हम अपने खेल की योजना के अनुसार खेलें और चैंपियन जैसा प्रदर्शन करें।”
कंधे और टखने की चोट से उबर रहीं रानी ने कहा, “शुक्रवार को हमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। मेरी फिटनेस को लेकर कुछ मुद्दे हैं लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है। हमारे सामने यहां स्वर्ण पदक जीतकर 2020 टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना बहुत बड़ा अवसर है।” भारत ने एशियाई खेलों में अब तक एक स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक जीते हैं।
रवि राज
वार्ता
More News
अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती

अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती

20 Sep 2018 | 9:01 PM

अबु धाबी, 20 अगस्त (वार्ता) राशिद खान (नाबाद 57) और गुलबदीन नायब (नाबाद 42) के बीच आठवें विकेट के लिए 95 रन की शानदार अविजित साझेदारी की बदौलत अफगानिस्तान ने बंगलादेश के खिलाफ एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट के आखिरी ग्रुप मैच में गुरूवार को सात विकेट पर 255 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बना लिया।

 Sharesee more..
डीडीसीए ने अपनाया नया संविधान

डीडीसीए ने अपनाया नया संविधान

20 Sep 2018 | 8:52 PM

नयी दिल्ली, 20 अगस्त (वार्ता) दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने अपना नया संविधान अपना लिया है।

 Sharesee more..
इंडो यूरोप खेल सप्ताह में ढूंढी जाएंगी फुटबॉल प्रतिभाएं

इंडो यूरोप खेल सप्ताह में ढूंढी जाएंगी फुटबॉल प्रतिभाएं

20 Sep 2018 | 8:42 PM

नयी दिल्ली, 20 सितम्बर (वार्ता) उभरती फुटबॉल प्रतिभाओं को ढूंढने के लिए यहां डॉ अंबेडकर स्टेडियम में इंडो यूरोप सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है जिसमें यूरोप के जाने माने कोच हिस्सा लेंगे।

 Sharesee more..
खेल मंत्री से न्याय नहीं मिला तो अदालत जाऊंगा: बजरंग

खेल मंत्री से न्याय नहीं मिला तो अदालत जाऊंगा: बजरंग

20 Sep 2018 | 8:37 PM

नयी दिल्ली, 20 सितम्बर (वार्ता) राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता पहलवान बजरंग पुनिया ने गुरूवार को कहा कि देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न के लिए उन्हें यदि केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से न्याय नहीं मिला तो वह अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

 Sharesee more..
image