Tuesday, Sep 25 2018 | Time 10:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बीएचयू में हिंसा, आगजनी एवं तोड़फोड़ के बाद तनाव
  • अमेरिका और चीन ने एक-दूसरे के उत्पादों पर लगाया आयात शुल्क
  • ताइवान को 33 करोड़ डॉलर के रक्षा उपकरण बेचेगा अमेरिका
  • मोदी ने पं दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर दी श्रद्धांजलि
  • मोदी और शाह भोपाल में भाजपा कार्यकर्ता महाकुंभ में होंगे शामिल
  • इजरायल सेना की गोलीबारी में फिलीस्तीनी की मौत
  • उ कोरिया के साथ दूसरी शिखर बैठक जल्द ही : ट्रम्प
  • मेडागास्कर में अमेरिकी राजनयिक की रहस्यमयी मौत
  • रूहानी ने शत्रुतापूर्ण नीति को लेकर अमेरिका को दी चेतावनी
  • गुटेरेस ने की ईरान में हुए आतंकवादी हमले की निंदा
  • कश्मीर पर चर्चा किये बगैर भारत-पाक के बीच वार्ता संभव नहीं : फवाद
  • तेलंगाना में कांग्रेस, टीटीडीपी और भाकपा गठबंधन जहरीला मिलाप: डॉ लक्ष्मण
  • संरा में सुषमा ने कई देशों के विदेश मंत्रियों, वैश्विक नेताओं से की मुलाकात
खेल Share

भारत ने इन खेलों में 10 मुक्केबाजों को उतारा था जिनमें से सिर्फ अमित ही फाइनल में पहुंचे और देश को स्वर्ण पदक भी दिलाया। भारत ने पिछले एशियाई खेलों में मुक्केबाजी में एक स्वर्ण और चार कांस्य सहित पांच पदक जीते थे।
सेना में नायब सूबेदार के पद पर कार्यरत अमित के लिये फाइनल मुकाबला बहुत ही चुनौतीपूर्ण माना जा रहा था जहां उनके सामने ओलंपिक चैंपियन हसनब्वॉय थे लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने शुरूआत से ही अपनी रक्षात्मक शैली से उलट आक्रामकता के साथ खेला जबकि उज्बेक पहलवान पहले राउंड में केवल रक्षात्मक खेलते रहे।
अमित ने दूसरे राउंड में लगातार तीन पंच लगाकर अंक बटोरे। उन्होंने 25 वर्षीय विपक्षी मुक्केबाज़ के सिर के पीछे भी पंच जड़े, हालांकि इससे उन्हें अंक नहीं मिले लेकिन हसनब्वॉय इससे कमजोर जरूर पड़े। उज्बेक मुक्केबाज़ ने भी वापसी करते हुये अच्छे पंच जड़े, हालांकि भारतीय खिलाड़ी का पलड़ा दो राउंड के बाद भारी ही रहा।
तीसरा राउंड और भी रोमांचक रहा जिसमें अमित ने आक्रामकता दिखाने के साथ काफी बचाव भी किया और बायीं एवं दायीं ओर से हुक्स लगाये। उन्होंने हसनब्वॉय के सामने अपनी लंबी कदकाठी का भी फायदा उठाया और आखिरी 15 सेकंड में उज्बेक मुक्केबाज़ के चेहरे में लगातार पंच जड़े।
पांचों जजों ने हालांकि विभाजित फैसला सुनाया लेकिन अमित ने 28-29, 29-28, 29-28, 28-29, 30-27 से बाउट और स्वर्ण पदक जीत लिया।
रोहतक में जन्मे अमित ने 2008 में मुक्केबाजी शुरू की थी। उन्होंने इस साल गोल्डकोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक हासिल किया था जबकि इसी साल बुल्गारिया के सोफिया में हुए स्ट्रैंडजा मैमोरियल टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था। भारतीय सेना ने 2017 में अमित को महार रेजीमेंट में नियुक्त किया था।
प्रीति
वार्ता
More News
शहजाद से फिक्सिंग के लिए किया गया था संपर्क

शहजाद से फिक्सिंग के लिए किया गया था संपर्क

24 Sep 2018 | 9:56 PM

दुबई, 24 सितम्बर (वार्ता) अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद शहजाद से शारजाह में पांच से 23 अक्टूबर तक खेली जाने वाली पहली अफगान प्रीमियर ट्वंटी 20 लीग में खराब प्रदर्शन करने के लिए संपर्क किया गया था।

 Sharesee more..
भारत ने 33 वर्षों में पहली बार ईरान को ड्रा पर रोका

भारत ने 33 वर्षों में पहली बार ईरान को ड्रा पर रोका

24 Sep 2018 | 9:14 PM

कुआलालम्पुर, 24 सितम्बर (वार्ता) भारत की अंडर-16 फुटबॉल टीम ने ईरान को एएफसी अंडर-16 चैंपियनशिप में सोमवार को गोल रहित ड्रा पर रोककर इतिहास रच दिया।

 Sharesee more..
टीवीएस रेसिंग के जगन ने बनायी बढ़त

टीवीएस रेसिंग के जगन ने बनायी बढ़त

24 Sep 2018 | 9:56 PM

बेंगलुरु, 24 सितम्बर (वार्ता) टीवीएस रेसिंग के जगन कुमार ने इंडियन नेशनल मोटरसाइकिल रेसिंग चैंपियनशिप 2018 के चौथे राउंड में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए चैंपियनशिप में अपनी बढ़त मजबूत कर ली है।

 Sharesee more..
अदिति-तनीशा ने युगल वर्ग में जीता स्वर्ण

अदिति-तनीशा ने युगल वर्ग में जीता स्वर्ण

24 Sep 2018 | 9:56 PM

हल्द्वानी, 24 सितंबर (वार्ता) उत्तराखंड की बैडमिंटन खिलाड़ी अदिति भट्ट ने अखिल भारतीय जूनियर बैडमिंटन रैंकिंग टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए युगल वर्ग में स्वर्ण पदक जीत लिया।

 Sharesee more..
डालमिया के मेंटर और पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष दत्ता का निधन

डालमिया के मेंटर और पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष दत्ता का निधन

24 Sep 2018 | 8:40 PM

कोलकाता, 24 सितम्बर (वार्ता) भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व अध्यक्ष बिश्वनाथ दत्ता का फेफड़ों के संक्रमण से सोमवार सुबह निधन हो गया। वह 92 वर्ष के थे। उनके परिवार में पुत्री और पुत्र सुब्रत दत्ता हैं।

 Sharesee more..
image