Thursday, Sep 20 2018 | Time 23:35 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पीडीपी नेता पेंथर्स पार्टी में शामिल
  • दो नाबालिग लड़कियों के साथ बलात्कार, एक की मौत
  • सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़, दो आतंकवादी ढेर
  • द्रोणाचार्य अवार्डी कुश्ती कोच यशवीर का निधन
  • द्रोणाचार्य अवार्डी कुश्ती कोच यशवीर का निधन
  • फिल्म अभिनेता मोहन बाबू की मां का निधन
  • हाई-प्रोफाइल सुसाइड मामले में पैरवी करने पहुंचे चिदम्बरम
  • ओडिशा विधानसभा का मानसून सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
  • ओडिशा में कई परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे मोदी
  • हाई-प्रोफाइल सुसाइड मामले में पैरवी करने पहुंचे चिदम्बरम
  • झारखंड में हो रहा 60 हजार करम पौधों का रोपण : रघुवर
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • सफाईकर्मी करेंगे 21 से 25 सितम्बर तक भूख हड़ताल
  • आनंदपुर साहिब -नैना देवी रोपवे प्रोजेक्ट को मंजूरी
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
खेल Share

सेना में नायब सूबेदार के पद पर कार्यरत अमित के लिये फाइनल मुकाबला बहुत ही चुनौतीपूर्ण माना जा रहा था जहां उनके सामने ओलंपिक चैंपियन हसनब्वॉय थे लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने शुरूआत से ही अपनी रक्षात्मक शैली से उलट आक्रामकता के साथ खेला जबकि उज्बेक पहलवान पहले राउंड में केवल रक्षात्मक खेलते रहे।
अमित ने दूसरे राउंड में लगातार तीन पंच लगाकर अंक बटोरे। उन्होंने 25 वर्षीय विपक्षी मुक्केबाज़ के सिर के पीछे भी पंच जड़े, हालांकि इससे उन्हें अंक नहीं मिले लेकिन हसनब्वॉय इससे कमजोर जरूर पड़े। उज्बेक मुक्केबाज़ ने भी वापसी करते हुये अच्छे पंच जड़े, हालांकि भारतीय खिलाड़ी का पलड़ा दो राउंड के बाद भारी ही रहा।
तीसरा राउंड और भी रोमांचक रहा जिसमें अमित ने आक्रामकता दिखाने के साथ काफी बचाव भी किया और बायीं एवं दायीं ओर से हुक्स लगाये। उन्होंने हसनब्वॉय के सामने अपनी लंबी कदकाठी का भी फायदा उठाया और आखिरी 15 सेकंड में उज्बेक मुक्केबाज़ के चेहरे पर लगातार पंच जड़े। अमित ने तीसरे राउंड के निर्णायक पलों में किलर पंच लगाकर जो अंक बटोरा वह उन्हें जीत दिलाने के लिये निर्णायक साबित हुआ।
रोहतक में जन्मे अमित ने 2008 में मुक्केबाजी शुरू की थी। उन्होंने इस साल गोल्डकोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक हासिल किया था जबकि इसी साल बुल्गारिया के सोफिया में हुए स्ट्रैंडजा मैमोरियल टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था। भारतीय सेना ने 2017 में अमित को महार रेजीमेंट में नियुक्त किया था।
वर्ष 2016 में सीनियर मुक्केबाजी में प्रवेश करने वाले अमित ने 2017 एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य जीता था जबकि हसनब्वॉय विश्व चैंपियनशिप के रजत विजेता और 2015 तथा 2017 एशियाई चैंपियनशिप के विजेता रहे थे।
राज प्रीति
वार्ता
More News

नदीम ने 10 ओवर में 10 रन पर झटके आठ विकेट

20 Sep 2018 | 9:01 PM

 Sharesee more..
अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती

अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती

20 Sep 2018 | 9:01 PM

अबु धाबी, 20 अगस्त (वार्ता) राशिद खान (नाबाद 57) और गुलबदीन नायब (नाबाद 42) के बीच आठवें विकेट के लिए 95 रन की शानदार अविजित साझेदारी की बदौलत अफगानिस्तान ने बंगलादेश के खिलाफ एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट के आखिरी ग्रुप मैच में गुरूवार को सात विकेट पर 255 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बना लिया।

 Sharesee more..
डीडीसीए ने अपनाया नया संविधान

डीडीसीए ने अपनाया नया संविधान

20 Sep 2018 | 8:52 PM

नयी दिल्ली, 20 अगस्त (वार्ता) दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने अपना नया संविधान अपना लिया है।

 Sharesee more..
इंडो यूरोप खेल सप्ताह में ढूंढी जाएंगी फुटबॉल प्रतिभाएं

इंडो यूरोप खेल सप्ताह में ढूंढी जाएंगी फुटबॉल प्रतिभाएं

20 Sep 2018 | 8:42 PM

नयी दिल्ली, 20 सितम्बर (वार्ता) उभरती फुटबॉल प्रतिभाओं को ढूंढने के लिए यहां डॉ अंबेडकर स्टेडियम में इंडो यूरोप सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है जिसमें यूरोप के जाने माने कोच हिस्सा लेंगे।

 Sharesee more..
image