Wednesday, Nov 13 2019 | Time 18:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • देश के कई हिस्सों में राता का पारा अत्यधिक ऊपर
  • झामुमो ने अकील अख्तर समेत चार को किया निष्कासित
  • जनकपुरी पश्चिम- आर के आश्रम मार्ग लाइन का काम इसी महीने से
  • अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह के लिए थीम सांग तैयार
  • क्रोएशियाई फुटबालर मोडरिच को ‘गोल्डन फुट’ अवार्ड
  • तेलंगाना परिवहन निगम कर्मियों की हड़ताल का 40वां दिन
  • राममंदिर उनके तराशे गये पत्थर और बनाये गये मॉडल के अनुसार ही बने: विहिप
  • अक्टूबर में खुदरा मु्द्रास्फीति की दर 4 62 प्रतिशत पर
  • नड्डा ने की भाजपा महासचिवों के साथ बैठक
  • अक्टूबर में खुदरा मु्द्रास्फीति की दर 4 62 प्रतिशत पर
  • पलामू में अंतिम दिन 65 उम्मीदवरों ने दाखिल किए नामांकन
  • सिरसा में सीटू की राज्य स्तरीय रैली 24 को
  • देश में अब वंशवाद और परिवारवाद की राजनीति नहीं चलेगी : रघुवर
  • मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में बनना चाहती हूं विश्व चैंपियन: ऋतू फोगाट
  • अक्टूबर 2019 में खुदरा मुद्रास्फीति की दर 4 62 प्रतिशत पर
खेल


800 स्कूलों में 5 लाख बच्चों तक पहुंच चुका है एडुस्पोर्ट्स

800 स्कूलों में 5 लाख बच्चों तक पहुंच चुका है एडुस्पोर्ट्स

नयी दिल्ली, 07 दिसम्बर (वार्ता) खेलों को स्कूली शिक्षा का हिस्सा बनाने के मिशन के साथ एडुस्पोर्ट्स देश भर में 800 स्कूलों में पांच लाख बच्चों तक पहुंच चुका है।

एडुस्पोर्ट्स के सह-संस्थापक और सीईओ सौमिल मजमूदार का कहना है कि देश में जब भी खेलों की चर्चा होती है तो जिक्र सिर्फ इस बात का होता है कि कितने पदक जीते, लेकिन खेलों के प्रति इस नजरिये को बदलने की जरूरत है। खेल प्रतियोगिता का हिस्सा तो हैं लेकिन बच्चों को शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ बनाने के लिए भी उतना ही जरूरी है।

मजमूदार ने कहा, “हमारा मकसद बच्चों का सर्वांगीण विकास है और इसका महत्त्वपूर्ण पहलू खेल है जिस पर अमूमन ध्यान नहीं दिया जाता है। हमारा मकसद इस धारणा को बदलना था और धीरे-धीरे ही सही लोगों में यह बदलाव देखने को मिल रहा है। माता-पिता भी खेलों में बच्चों की दिलचस्पी के बारे में पूछने लगे हैं।”

मजमूदार कहते हैं कि एडुस्पोर्ट्स का मकसद खेलों को शिक्षा का हिस्सा बनाना है और उनका मानना है कि जिस तरह फिजिक्स, केमेस्ट्री या मैथमेटिक्स पाठ्यक्रम का हिस्सा होते हैं, खेल भी पाठ्यक्रम की तरह बच्चों के लिए जरूरी है।

उन्होंने कहा, “हमने एडुस्पोर्ट्स का गठन 2003 में किया था लेकिन शुरुआत में स्कूलों ने इसमें रुचि नहीं दिखाई जिससे थोड़ी परेशानी भी हुई लेकिन 2008 में हमने फिर से नई शुरुआत करने की ठानी। स्कूलों का रवैया पहले जैसा ही था, लेकिन तीन-चार स्कूलों को हमारी बात समझ में आई। फिर धीरे-धीरे बात आगे बढ़ी और लोगों को हमारी बात समझ में आई और हालात बदले।”

उन्होंने कहा कि वह चैंपियन बनाने के लिए खेलों का प्रशिक्षण नहीं देते है बल्कि उनकी कोशिश बच्चों को चुस्त-दुरुस्त रखना है। मजमूदार ने बताया कि उनकी टीम नर्सरी के बच्चों को भी प्रशिक्षण देती है और उससे बड़े आयु वर्गों को भी। मजमूदार के मुताबिक प्रशिक्षण का स्तर अलग-अलग होता है।

मजमूदार ने कहा, “इस दौरान हम इस बात का भी पता लगाते हैं कि कौन से खिलाड़ी किन खेलों में रुचि लेते हैं या फिर यह कि उन्हें कौन सा खेल खेलना चाहिए। दरअसल हमारा मकसद बच्चों को खेलों में रुचि पैदा करना है। हम छोटी जगहों का इस्तेमाल भी इसके लिए करते हैं और जरूरी नहीं है कि इसके लिए बड़ा मैदान ही हो।”

उन्होंने कहा, “एडुस्पोर्ट्स का दायरा बढ़ा है और दिल्ली से लेकर चेन्नई और कोलकाता से लेकर बेंगलुरु तक के स्कूलों में हम बच्चों को प्रशिक्षित कर रहे हैं। फिलहाल एडुस्पोर्ट्स देश के 800 स्कूलों में बच्चों को प्रशिक्षित कर रहा है। इनमें से करीब 350 स्कूल सरकारी हैं, बाकी निजी स्कूल हैं। हम लड़कियों को बड़ी संख्या में खेलों में आगे आने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं क्योंकि उनकी संख्या अभी भी कम है।”

मजमूदार ने बताया कि एडुस्पोर्ट्स के पास 1500 प्रशिक्षक हैं जो बच्चों को प्रशिक्षण देते हैं। इनमें महिला प्रशिक्षकों की तादाद 40 के करीब है। उन्होंने बताया कि एडुस्पोर्ट्स ने 2017 में आईएसएल फ़ुटबाल क्लब चेन्नई एफसी के साथ भागीदारी की थी और फुटबॉल में दिलचस्पी रखने वाले बच्चों को ढूंढने के लिए सॉकर फेस्टिवल आयोजित किये थे।

More News
20 जनवरी से होगा शुरू होगा पीबीएल का 5वां सीजन

20 जनवरी से होगा शुरू होगा पीबीएल का 5वां सीजन

13 Nov 2019 | 5:53 PM

नयी दिल्ली, 13 नवंबर (वार्ता) पिछले चार सफल सीजन के बाद प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) अपने पांचवें सीजन के साथ एक बार फिर से लौट आया है। दुनिया की अग्रणी बैडमिंटन लीगों में से एक पीबीएल का पांचवां सीजन 20 जनवरी से शुरू होकर नौ फरवरी 2020 तक चलेगा।

see more..
सिंधू, श्रीकांत दूसरे दौर में, सायना पहले राउंड में हारीं

सिंधू, श्रीकांत दूसरे दौर में, सायना पहले राउंड में हारीं

13 Nov 2019 | 5:41 PM

हांगकांग, 13 नवंबर (वार्ता) भारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधू ने बुधवार को हांगकांग ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में जीत के साथ महिला एकल के दूसरे राउंड में जगह बना ली है, लेकिन सायना नेहवाल एक बार फिर पहले ही दौर में हार कर बाहर हो गयीं। पुरूष एकल वर्ग में किदाम्बी श्रीकांत को विश्व के नंबर एक खिलाड़ी और टॉप सीड जापान के केंतो मोमोता से वाकओवर मिल गया और वह दूसरे दौर में पहुंच गये।

see more..
सर्जरी के बाद वापसी की राह पर हैं झिंगन

सर्जरी के बाद वापसी की राह पर हैं झिंगन

13 Nov 2019 | 5:20 PM

मुंबई, 13 नवंबर (वार्ता) भारतीय फुटबाल टीम और इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में केरला ब्लास्टर्स के लिए खेलने वाले अनुभवी डिफेंडर संदेश झिंगन अपने घुटने की सफल सर्जरी के बाद वापसी की तैयारी पर हैं।

see more..
गुलाबी गेंद से खेलना होगा चुनौतीपूर्ण: विराट

गुलाबी गेंद से खेलना होगा चुनौतीपूर्ण: विराट

13 Nov 2019 | 5:03 PM

इंदौर, 13 नवंबर (वार्ता) भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि पहली बार गुलाबी गेंद से खेलना उनके और अन्य खिलाड़ियों के लिये चुनौतीपूर्ण होगा और नियमित लाल गेंद के बजाय डे-नाइट प्रारूप में अधिक सतर्कता बरतनी होगी।

see more..
image