Friday, Jul 19 2019 | Time 22:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पीडीपी नेता के पीएसओ की गोली मारकर हत्या
  • एटा में पूर्व विधायक के आवास पर फायरिंग, मामला दर्ज
  • भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने जीते राष्ट्रमंडल टेटे खिताब
  • भारतीय पुरुष और महिला टीमों ने जीते राष्ट्रमंडल टेटे खिताब
  • विश्वास मत पर आज भी नहीं हुआ मतदान, कार्यवाही सोमवार तक स्थगित
  • एसटीएफ ने दो लाख 42 हजार के जाली नोट पकड़े, पांच गिरफ्तार
  • बिहार में विश्वविद्यालयों के शैक्षणिक वातावरण में हो रहा सुधार : लालजी
  • नवादा में वज्रपात की घटना में आठ बच्चे समेत नौ की मौत, आठ घायल
  • मवेशी चोरी के आरोप में तीन लोगों के हत्या मामले में सात गिरफ्तार
  • डॉल्फिन मारने वाला गिरफ्तार
  • वज्रपात से आठ बच्चों की मौत से लालजी टंडन मर्माहत
  • अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके
  • छात्रों और शिक्षकों पर लाठियां बरसाने से बेहतर नहीं होगी शिक्षा : उपेंद्र
  • नीतीश ने वज्रपात से आठ बच्चों की मौत पर जताया शोक, मुआवजे की घोषणा
  • प्रियंका को सोनभद्र जाने से रोकने के खिलाफ वाराणसी में कांग्रेस का प्रदर्शन
राज्य


वर्ष 1980 में प्रदर्शित फिल्म ..कर्ज ..ऋषि कपूर की सुपरहिट फिल्म में शुमार की जाती है। सुभाष घई के निर्देशन में पुनर्जन्म पर आधारित इस फिल्म में उन पर फिल्माया यह गीत ..ओम शांति ओम ..दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ था। इस गीत से जुड़ा दिलचस्प तथ्य यह है कि इसे कोलकाता के नेताजी सुभाषचंद्र स्टेडियम में फिल्माया गया था और गाने के दौरान ऋषि कपूर एक घूमते हुये डिस्क पर नृत्य करते है । वर्ष 1982 में प्रदर्शित फिल्म ..प्रेम रोग ..में ऋषि कपूर के अभिनय के नये रूप देखने को मिले। यूं तो यह फिल्म नारी प्रधान थी इसके बावजूद उन्होंने अपने भावपूर्ण अभिनय से दर्शको का दिल जीतकर फिल्म को सुपरहिट बना दिया। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामांकित भी किये गये ।
वर्ष 1985 में प्रदर्शित फिल्म ..तवायफ ..ऋषि कपूर के करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में एक है। फिल्म में जबरदस्त अभिनय के लिये ऋषि कपूर को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामांकित किया गया । वर्ष 1989 में प्रदर्शित पिल्म ..चांदनी ..ऋषि कपूर अभिनीत महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। यश चोपड़ा के निर्देशन में बनी
इस फिल्म में ऋषि कपूर ने फिल्म के शुरूआत में जहां चुलबुला और रूमानी अभिनय किया , वहीं फिल्म के मध्यांतर में एक अपाहिज की भूमिका में संजीदा अभिनय से दर्शको को मंत्रमुग्ध कर दिया। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के
लिये वह सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार से नामांकित भी किये गये ।
वर्ष 1996 में ऋषि कपूर ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रखकर ..प्रेम ग्रंथ ..का निर्माण किया। यह फिल्म हालांकि टिकट खिड़की पर असफल साबित हुयी , लेकिन इसमें ऋषि कपूर के अभिनय को जबरदस्त सराहना मिली । वर्ष 1999 में ऋषि कपूर ने फिल्म ..आ अब लौट चले ..का निर्माण और निर्देशन किया। दुर्भाग्य से यह फिल्म भी टिकट खिड़की पर असफल साबित हुयी। वर्ष 2000 में प्रदर्शित फिल्म ..कारोबार ..की असफलता के बाद और अभिनय
में एकरूपता से बचने तथा स्वयं को चरित्र अभिनेता के रूप मे भी स्थापित करने के लिये ऋषि कपूर ने स्वयं को विभिन्न भूमिकाओं में पेश किया।
वर्ष 2009 में प्रदर्शित फिल्म ..लव आज कल ..में अपने दमदार अभिनय के लिये ऋषि कपूर को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया। ऋषि कपूर ने अपने चार दशक के लंबे सिने करियर में लगभग 150 फिल्मों में अभिनय किया है। ऋषि की इस वर्ष 102 नॉट आउट और मुल्क जैसी फिल्में प्रदर्शित हुयी जिसमें उनके अभिनय के विविध रंग देखने को मिले। ऋषि आज भी उसी जोशो खरोश के साथ फिल्मों में सक्रिय हैं।
प्रेम टंडन
वार्ता
More News
शिक्षा की गुणवत्ता छोड़ राजनीतिकरण पर उतरी सरकार - देवनानी

शिक्षा की गुणवत्ता छोड़ राजनीतिकरण पर उतरी सरकार - देवनानी

19 Jul 2019 | 10:32 PM

जयपुर, 19 जुलाई (वार्ता) राजस्थान के पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने आज राजस्थान विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार शिक्षा की गुणवत्ता को छोड़कर इसका राजनीतिकरण कर रही है।

see more..
image