Sunday, Jul 21 2019 | Time 10:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • खास है सुगंधित अप्पेमिडी आम का अचार
  • खास है सुगंधित अप्पेमिडी आम का अचार
  • निजी जिंदगी में बेहद संवेदनशील इंसान थे मुकेश
  • निजी जिंदगी में बेहद संवेदनशील इंसान थे मुकेश
  • रणबीर के साथ फिर जोड़ी जमायेंगी दीपिका!
  • रणबीर के साथ फिर जोड़ी जमायेंगी दीपिका!
  • रणबीर के साथ फिर जोड़ी जमायेंगी दीपिका!
  • ‘जजमेंटल है क्या’ जैसे किरदार से न्याय कर सकती हैं कंगना
  • ‘जजमेंटल है क्या’ जैसे किरदार से न्याय कर सकती हैं कंगना
  • ‘जजमेंटल है क्या’ जैसे किरदार से न्याय कर सकती हैं कंगना
  • पाकिस्तान को अपनी नीतियों में बदलाव करना होगा : अमेरिका
  • टैंकर जब्ती मामले में रूस की भागीदारी की जांच कर रहा है ब्रिटेन
  • जापान में ऊपरी सदन के लिए मतदान शुरू
  • भाजपा नेता मांगे राम गर्ग का निधन
  • न्यूजीलैंड में भूकंप के तेज झटके
राज्य


कैदी ने ओडिशा के मुख्यमंत्री को धमकीभरा पत्र लिखा, पुलिस में मचा हड़कंप

बिलासपुर 03 सितम्बर (वार्ता) छत्तीसगढ में बिलासपुर केंद्रीय जेल में बंद एक कैदी की ओर से ओडिशा के मुख्यमंत्री को धमकी भरा पत्र लिखे जाने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि मिली जानकारी के अनुसार हत्या, लूट एवं डकैती के मामले में आजीवन कारावास की सजायाफ्ता केंद्रीय जेल में बंद पुष्पेन्द्रनाथ चौहान ने जेल के अंदर से ही ओडिशा के मुख्यमंत्री और अन्य पुलिस अधिकारियों को धमकी भरा पत्र लिखकर भेजा था। अंग्रेजी में लिखे गये पत्र में रूपयों की मांग की गयी थी और रूपये नहीं दिये जाने पर जान से मार देने की धमकी दी गयी। मुख्यमंत्री ने इसकी शिकायत ओडिशा पुलिस से की।
मुख्यमंत्री और पुलिस अधिकारियों को धमकी भरा पत्र मिलने से ओडिशा पुलिस सकते में आ गई और पूरे मामले की जानकारी पुलिस महानिदेशक को दी गयी। पुलिस महानिदेशक ने इससे बिलासपुर पुलिस को अवगत कराया।
बिलासपुर पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने संपूर्ण मामले की की जांच का दायित्व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चंद्राकर को सौंपा है। श्री चंद्राकर ने मामले की गंभीरता को देखते हुए रविवार को केन्द्रीय जेल जाकर आरोपी पुष्पेन्द्रनाथ चौहान का बयान लिया और उससे पूछताछ शुरू कर दी है। पूछताछ में उसने पत्र लिखने की बात स्वीकार किया और कहा कि उसने सुर्खियों में आने के लिए ऐसा किया।
इस बीच जेल महानिदेशक गिरधारी नायक बिलासपुर जेल पहुंचे और जेल का निरीक्षण करने के साथ जेल अधिकारियों और आरोपी से पूछताछ की। श्री नायक ने मामले का अपराध की श्रेणी बताते हुए आरोपी पुष्पेंद्र के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किये जाने के निर्देश दिये हैं।
दूसरी तरफ पुलिस ने इस मामले में जेल प्रबन्धन की लापरवाही बताते हुए विवेचना शुरू कर दी है , हालांकि वह इस मामले का खुलासा करने से बच रही है।
जेल अधीक्षक एसएस तिरंगा से संपर्क किये जाने पर उन्होंने कहा कि वह अभी छुट्टी पर हैं और रायपुर है तथा बिलासपुर लौटने के बाद ही इस मामले में कुछ बता सकेंगे।
हबीब टंडन
वार्ता
image