Sunday, Jul 21 2019 | Time 16:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पैरोल जंप करने वाला ‘मोस्ट वांटेड‘ बदमाश पकड़ा गया
  • अमेरिका में लू से छह लोगों की मौत, करोड़ों प्रभावित
  • विश्व में खसरे से प्रति घंटे दस बच्चों की होती है मौत
  • विराट को तीनों फार्मेट की कप्तानी, हार्दिक को विश्राम
  • सादगी की मिसाल राय दा ने आजीवन पेंशन नहीं ली
  • सिरसा मेंं कांग्रेस नेताओं ने दी शीला दीक्षित को श्रद्धाजंलि
  • सिंधू का 2019 में अपने पहले खिताब का सपना टूटा
  • खाद्य तेलों पर दबाव: गेहूँ, दाल में उबाल, गुड़ नरम
  • ममता का मतपत्रों का इस्तेमाल दोबारा शुरू करने का आह्वान
राज्य


जिला परिषद, पंचायत समिति चुनाव : एससी/बीसी प्रत्याशियों को जाति प्रमाणपत्र तुरंत दिये जाएं : शिअद

चंडीगढ़, 03 सितंबर (वार्ता) शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने आज राज्य चुनाव आयुक्त से अनुरोघ किया कि जिला परिषद और पंचायत समिति चुनावों में अनुसूचित जाति और पिछड़े वर्गों के लिए आरक्षित सीटों पर चुनाव लड़ने के इच्छुक प्रत्याशियों को जाति प्रमाणपत्र 12 घंटे के भीतर दिये जाएं ताकि कोई भी इच्छुक चुनाव लड़ने के अपने अधिकार से वंचित न हो।
आयोग को लिखे पत्र में शिअद प्रवक्ता और वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि चुनावों की घाेषणा 29 अगस्त को की जा चुकी है और दूसरे दिन विभिन्न माध्यमों से इसे प्रचारित किया गया लेकिन तब से सरकारी कार्यालय बंद हैं और चार सितंबर को ही खुलेंगे जब नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी जिससे इच्छुकों के पास आवश्यक प्रमाणपत्र प्राप्त करने का समय ही नहीं बचेगा।
डॉ चीमा ने कहा कि जिला मजिस्ट्रेट से लेकर पटवारी के स्तर तक सभी को निर्देश दिया जाए कि प्रमाणपत्र 12 घंटे के भीतर जारी किये जायें।
उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं हो सकता तो प्रत्याशियों से हलफनामा लेकर कि वह जाति प्रमाणपत्र बाद में जमा कराएंगे, नामांकन भरने की अनुमति दी जाए।
उन्होंने कहा कि आरक्षित एससी/बीसी सीटों को नाेटीफाई चुनावी कार्यक्रम की घोषणा के बाद किया गया, अलावा इसके राजनीतिक दलों के पास मतदाता सूचियां उपलब्ध नहीं कराई गई हैं ऐसे में कोई मतदाता सूची में अपना नाम होने की जांच किये बिना नामांकन दाखिल कैसे करेगा।
सत्तारूढ़ कांग्रेस पर प्रतिद्वंद्वियों को चुनाव लड़ने के मौके से वंचित करने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए शिअद प्रवक्ता ने कहर कि आयोग भी परोक्ष रूप से कांग्रेस की चाल का हिस्सा बन चुका है।
उन्होंने यह भी कहा कि पंजाब विधानसभा में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के मिलकर शिअद व इसके नेताओं को बदनाम करने के ड्रामे के बाद चुनाव की तारीखों की घोषणा भी संदेह पैदा करती है।
उन्हाेंने कहा कि चुनाव आयोग को सर्व दलीय बैठक बुलाने के बाद चुनावी कार्यक्रम की घोषणा करनी चाहिए थी।
महेश विक्रम
वार्ता
More News
बलरामपुर पुलिस ने दो इनामी बदमाशों को किया गिरफ्तार

बलरामपुर पुलिस ने दो इनामी बदमाशों को किया गिरफ्तार

21 Jul 2019 | 3:47 PM

बलरामपुर, 21 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश की बलरामपुर जिला पुलिस ने देहात कोतवाली क्षेत्र से रविवार को पांच-पांच हजार रुपये के दो इनामी बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया ।

see more..
image