Wednesday, Feb 20 2019 | Time 18:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मंत्री ने धार्मिक,पुरातात्विक,ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक स्थलों की मांगी जानकारी
  • गडकरी ने किया मुरादाबाद और मेरठ में करोड़ों की परियोजनाओं का शिलान्यास
  • टेलर ने फ्लेमिंग को पीछे छोड़ा
  • आरपीएफ को विशेष अभियान में 922 लावारिस बच्चे मिले
  • नामवर पंचतत्व में विलीन, साहित्य में शोक की लहर
  • श्रम कार्ड के लम्बित आवेदनों का 15 दिन में होगा निस्तारण - डहरिया
  • जोशी ने दिये शहीद के आश्रित के लिए डेढ़ लाख
  • देश को गर्त में धकेलने का प्रयास कर रहे हैं विपक्षी दल-शर्मा
  • पाकिस्तान के खिलाफ भड़काऊ बयान देकर करतारपुर कॉरीडोर को नुकसान पहुंचा रहे : खेहरा
  • 73 साल की सुनीता के लिए उम्र सिर्फ एक नंबर
  • राष्ट्रीय ग्रिड से बिजली उपलब्ध कराना हुआ आसान : राजकुमार
  • चौथी भारत-आसियान प्रदर्शनी एवं सम्मेलन कल से
  • छत्तीसगढ़ सरकार पंचायतों से रेत खदाने लेंगी वापस – भूपेश
  • भारत से जाने वाले हाजियों का काेटा बढ़ा
  • अमेरिका आईएनएफ संधि से हटने को लेकर गंभीर नहीं : पुतिन
राज्य Share

लोकरूचि दुकान संदेश दो अंतिम खरगोन

पवन ने बताया कि सरकार की अपनी मजबूरियां हो सकती हैं कि वह बिहार और गुजरात की तरह मध्य प्रदेश में शराबबंदी फिलहाल लागू नहीं कर पाई है। पवन ने कहा कि वह कोई समाज सुधारक या सामाजिक कार्यकर्ता नहीं है किंतु उसकी छोटी सी दुकान में संचालित अपने व्यवसाय में ऐसा कदम उठाकर समाज के प्रति योगदान देना उनकी सीमा में था।
कसरावद में टाइल्स का व्यवसाय करने वाले रवि दसेरा ने बताया कि वह 5 किलोमीटर दूर भीलगांव में पवन के पास दाढ़ी कटिंग बनवाने आते हैं। उन्होंने बताया कि उसकी दुकान में कम से कम यह ग्यारंटी रहती है कि शराब का सेवन किए हुए व्यक्ति नहीं मिलेंगे। पवन का इस तरह का बायकॉट करना भी एक तरह का शराब सेवन का विरोध है, और समाज सुधार का अनूठा तरीका है।
भील गांव से 3 किलोमीटर दूर अरिहंत नगर में रहने वाले सतपाल बज्जड एक फैक्ट्री में सुपरवाइजर के रूप में कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि वह भी पवन के पास दाढ़ी और कटिंग बनवाने आते हैं और पवन का कदम अनुकरणीय है। अरिहंत नगर के एक ठेकेदार राजू पाटीदार भी पवन के ग्राहक हैं और वह भी नशा बहुल क्षेत्र में उसके इस साहसिक कदम से खुश हैं।
भील गांव के पूर्व उप सरपंच कन्हैया पाटीदार ने कहा कि पवन का यह छोटा कदम बड़ा संदेश दे रहा है। उन्होंने बताया कि वे भी उस तख्ती के कारण ही पवन की दुकान पर आ रहे हैं। उसने अपने हुनर के चलते एक स्थान पर बैठे हुए सैकड़ों लोगों को इस सामाजिक बुराई से दूर रहने का संदेश दे दिया।
सं बघेल
वार्ता
image