Friday, Apr 19 2019 | Time 06:27 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी ने रीति-रिवाजों को संवैधानिक संरक्षण देने का दिया आश्वासन
  • कांगो में नाव पलटने से 104 लोगों की मौत, 30 को बचाया गया
  • सत्ता पाने के लिए भाजपा बना रही है कश्मीर को बलि का बकरा: महबूबा
  • भाजपा ने की कांग्रेस नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
राज्य


फडनवीस ने फोड़ी दही हांडी

मुंबई 03 सितंबर (वार्ता) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेेन्द्र फडनवीस कृष्ण जन्माष्टमी त्योहार मनाने के बाद सोमवार को घाटकोपर में जनता के बीच पहुंच कर नारियल से दही भरी हांडी फोड़ी और ‘दही हांडी’ उत्सव मनाया।
श्री फडनवीस ने कहा कि जिस तरह दही हांडी फोड़ने के लिए सबसे मजबूत व्यक्ति नीचे खड़ा होता है और कमजोर व्यक्ति ऊपर चढ़ता है, उसी तरह समाज के कमजोर लोगों को ऊपर लाने की कोशिश जारी है और महाराष्ट्र में विकास
की दही हांडी फूट चुकी है, अब महाराष्ट्र का विकास तेजी के साथ होगा।
भारतीय जनता पार्टी के सांसद किरीट सोमैया भी घाटकोपर में दही हांडी फाेड़ने के लिए मानव श्रृंखला का हिस्सा बने और ऊपर चढ़कर खुशी से झूमने लगे।
महाराष्ट्र में भगवान कृष्ण के जन्म के बाद दही हांडी अर्थात मिट्टी के छोेटे से हांडी में दही भर कर रस्सी के सहारे ऊपर खींच कर बांधा जाता है और श्री कृष्ण के दोस्त (गोविंदा) मानव श्रृंखला बना कर हांडी को फोड़कर उत्सव मनाते हैं।
मानव श्रृंखला दही हांडी तक नहीं पहुंच सके इसके लिए उन पर पानी फेंका जाता है। लोग अपनी छतों पर खड़े होकर पानी फेंकते हैं और पानी के डर से मानव श्रृंखला टूट कर नीचे गिर जाती है और फिर दोबारा प्रयास शुरू होता है।
मुंबई से सटे ठाणे शहर में गोविदाओं ने सीमाओं पर रक्षा करने वाले शहीदों को नमन किया और सेना का परिधान पहनकर मानव श्रृंखला की नौ कड़ी बना कर दही हांडी को सलाम किया।
इस उत्सव में फिल्म उद्योग भी पीछे नहीं रहा और कई स्थानों पर सिने तारिकाओं ने नृत्य किया। कई स्थानों पर दाही हांडी फोड़ने वाले गोविंदा टोली को इनाम भी रखा गया था।
दाही हांडी महोत्सव के दौरान मुंबई में 50 से अधिक लोग घायल हो गये और धारावी के एक 20 वर्षीय बच्चे की सरकारी सायन अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी।
इस बार सरकार ने दुर्घटना को टालने के लिए सिर पर हेलमेट लगाने और नीचे जाल लगाने की भी व्यवस्था की थी।
मुंबई समेत पूरे राज्य में आज बड़े उत्साह और पारंपरिक तरीके से दही हांडी का उत्सव मनाया गया।
त्रिपाठी.श्रवण
वार्ता
image