Thursday, Feb 21 2019 | Time 08:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बंगलादेश: ढाका में इमारत में आग, 45 की मौत
  • किम जोंग के साथ और मुलाकातों की उम्मीद : ट्रम्प
  • इराक में घुसपैठ करने वाले आईएस के 24 आतंकवादी हिरासत में
  • तुर्की में सैन्य प्रशिक्षण के दौरान विस्फोट, पांच सैनिक घायल
  • पाकिस्तान ने राजौरी में संघर्ष विराम उल्लंघन कर की गोलीबारी
  • पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से कश्मीर में शांति बाधित : डीजीपी
राज्य Share

पंजाब (पुन:जारी )आप बादल कार्रवाई दो अंतिम लुधियाना

ज्ञातव्य है कि कांग्रेस के पाँच मंत्रियों ने श्री फूलका के इस्तीफ़ा देने की धमकी को न्याय के रास्ते में बाधा डालने की कोशिश बताते हुये कहा था कि लोकहितों के लिए यह ऐसा करना वरिष्ठ नेता को शोभा नहीं देता।
इन मंत्रियों ने कल जारी एक बयान में कहा कि जस्टिस रंजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट के अनुसार दोषियों के विरुद्ध कानून के अनुसार समयबद्ध और विस्तृत जांच की जायेगी। कैप्टन अमरिन्दर सिंह विधानसभा चुनाव में किये गये वादे के मुताबिक पुलिस फायरिंग में मारे गये युवकों के परिवार को न्याय दिलाने के प्रति वचनबद्ध हैं।दोषी कितने भी रसूख़दार क्यों न हों, क्षमा नहीं किया जाएगा।
इन मंत्रियों नवजोत सिंह सिद्धू, मनप्रीत सिंह बादल, सुखजिन्दर सिंह रंधावा, तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा और चरनजीत सिंह चन्नी शामिल हैं ।उन्होंने कहा कि श्री फूलका का 15 सितंबर तक संदिग्धों को गिरफ़्तार करने का अल्टीमेटम देना न्याय और इंसाफ के सिद्धांत का उल्लंघन है।
उनके अनुसार श्री फूलका अनुभवी तथा जाने माने वकील हैं तथा कानून और इंसाफ की ज़रूरत से अच्छी तरह परिचित हैं और धर्म के ऐसे संवेदनशील मुद्दे पर आप पार्टी के नेता को राजनीति नहीं करनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से बेअदबी और गोलीबारी की घटनाओं की जांच के लिए ‘विशेष जांच दल’ (एस.आई.टी.) बनाये जाने तथा इस बारे में सर्वसम्मति से पारित किये प्रस्ताव को लागू करने के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि ‘विशेष जांच दल’ गठित होने की प्रक्रिया पूरी होने पर मामले की जांच कानून के अनुसार की
जायेगी ।
शर्मा विक्रम
वार्ता
More News
18 अलगावववादी नेताओं की सुरक्षा वापस

18 अलगावववादी नेताओं की सुरक्षा वापस

20 Feb 2019 | 11:39 PM

नयी दिल्ली/ जम्मू 20 फरवरी (वार्ता) जम्मू-कश्मीर सरकार ने 14 फरवरी को पुलवामा में हुए भीषण आतंकवादी हमले के बाद बड़ा कदम उठाते हुए यासीन मलिक, सैयद अली शाह गिलानी, सलीम गिलानी, मौलबी अब्बास अंसारी समेत 18 अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा बुधवार को वापस ले ली।

 Sharesee more..

ईसागढ़ छात्रावास अधीक्षक निलंबित

20 Feb 2019 | 11:27 PM

 Sharesee more..

मालगाड़ी के छह डिब्बे पटरी से उतरे

20 Feb 2019 | 11:26 PM

 Sharesee more..

कमलनाथ मिलने पहुंचे बावरिया से

20 Feb 2019 | 11:16 PM

 Sharesee more..
image