Friday, Nov 16 2018 | Time 18:09 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रूट के शतक से इंंग्लैंड की वापसी
  • कराईकल में ‘गाजा’ से तबाही, तीन हजार लोग राहत में शिविरों में
  • मंत्री मूणत को रायपुर पश्चिम सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी से मिल रही है कड़ी चुनौती
  • 150 कार्टन विदेशी शराब बरामद , दो गिरफ्तार
  • भारत ए के चार बल्लेबाज़ों ने ठोके अर्धशतक
  • पूर्व सांसद प्रफुल्ल कुमार माहेश्वरी पंचतत्व में विलीन
  • आम लोगों के साथ जुड़ें पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता: ममता
  • देश में 1023 विशेष अदालतें गठित होंगी
  • आयीआयीटी रुढ़की ने अमेरिकी विश्वविद्यालय के साथ लीडरशिप कार्यक्रम शुरू किया
  • स्टार्टअप में देशभर में बड़ा बदलाव लाने की क्षमता :प्रभु
  • कृषि क्षेत्र में नवाचार की सख्त जरुरत :प्रभु
  • स्टार्टअप में देशभर में बड़ा बदलाव लाने की क्षमता :प्रभु
  • कश्मीर में सीमावर्ती क्षेत्रों में तीन दिन बाद यातायात बहाल
  • कृषि क्षेत्र में नवाचार की सख्त जरुरत :प्रभु
  • विदेशी मुद्रा भंडार 12 करोड़ डॉलर घटा
राज्य Share

पंजाब (पुन:जारी )आप बादल कार्रवाई दो अंतिम लुधियाना

ज्ञातव्य है कि कांग्रेस के पाँच मंत्रियों ने श्री फूलका के इस्तीफ़ा देने की धमकी को न्याय के रास्ते में बाधा डालने की कोशिश बताते हुये कहा था कि लोकहितों के लिए यह ऐसा करना वरिष्ठ नेता को शोभा नहीं देता।
इन मंत्रियों ने कल जारी एक बयान में कहा कि जस्टिस रंजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट के अनुसार दोषियों के विरुद्ध कानून के अनुसार समयबद्ध और विस्तृत जांच की जायेगी। कैप्टन अमरिन्दर सिंह विधानसभा चुनाव में किये गये वादे के मुताबिक पुलिस फायरिंग में मारे गये युवकों के परिवार को न्याय दिलाने के प्रति वचनबद्ध हैं।दोषी कितने भी रसूख़दार क्यों न हों, क्षमा नहीं किया जाएगा।
इन मंत्रियों नवजोत सिंह सिद्धू, मनप्रीत सिंह बादल, सुखजिन्दर सिंह रंधावा, तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा और चरनजीत सिंह चन्नी शामिल हैं ।उन्होंने कहा कि श्री फूलका का 15 सितंबर तक संदिग्धों को गिरफ़्तार करने का अल्टीमेटम देना न्याय और इंसाफ के सिद्धांत का उल्लंघन है।
उनके अनुसार श्री फूलका अनुभवी तथा जाने माने वकील हैं तथा कानून और इंसाफ की ज़रूरत से अच्छी तरह परिचित हैं और धर्म के ऐसे संवेदनशील मुद्दे पर आप पार्टी के नेता को राजनीति नहीं करनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से बेअदबी और गोलीबारी की घटनाओं की जांच के लिए ‘विशेष जांच दल’ (एस.आई.टी.) बनाये जाने तथा इस बारे में सर्वसम्मति से पारित किये प्रस्ताव को लागू करने के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि ‘विशेष जांच दल’ गठित होने की प्रक्रिया पूरी होने पर मामले की जांच कानून के अनुसार की
जायेगी ।
शर्मा विक्रम
वार्ता
More News
केशव प्रसाद मौर्य को एमपी-एमएलए विशेष अदालत से मिली जमानत

केशव प्रसाद मौर्य को एमपी-एमएलए विशेष अदालत से मिली जमानत

16 Nov 2018 | 6:04 PM

प्रयागराज,16 नवम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को एमपी-एमएलए विशेष अदालत से शुक्रवार को जमानत मिल गयी।

 Sharesee more..

16 Nov 2018 | 6:03 PM

 Sharesee more..

16 Nov 2018 | 6:01 PM

 Sharesee more..
image