Tuesday, Jan 22 2019 | Time 17:59 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • वारंटियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर 13 थानाध्यक्षों का वेतन रुका
  • गडकरी ने रावी नदी पर बना पुल राष्ट्र को किया समर्पित
  • एसटीएफ ने लखनऊ में पकड़ी नकली खाद बनाने की कई फैक्ट्री, पांच गिरफ्तार
  • शाह का तृणमूल कांग्रेस को सत्ता से उखाड़ फेंकने का अाह्वान
  • अफ्रीकी देशों के साथ सैन्य कौशल के गुर साझा करेंगे भारतीय सैनिक
  • सिम्स पीडियाट्रिक्स आईसीयू में लगी आग, बच्चे की मौत
  • प्रधानमंत्री परीक्षाओं के बारे में छात्रों, अभिभावकों से बात करेंगे
  • ईवीएम हैकिंग पर प्रेस कांफ्रेंस कांग्रेस की साजिश : भाजपा
  • बीएसएफ ने 31 रोहिंग्या सौंपे पुलिस को त्रिपुरा जेल भेजे गए
  • निजी हैसियत से गया था लंदन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में: सिब्बल
  • लीजेंड नडाल और जायंट किलर सितसिपास सेमीफाइनल में
  • नैनीताल में पत्नी को मारने के बाद पति ने की आत्महत्या
  • लगातार तीसरे दिन टूटा रुपया
  • जींद की जनता बाहरियों को नहीं बल्कि स्थानीय उम्मीदवार को वोट करेगी: अरोड़ा
राज्य Share

शासकीय स्कूलों के निजीकरण की कोई योजना नहीं: जोशी

भोपाल, 04 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के तकनीकी शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री दीपक जोशी ने कहा है कि शासकीय स्कूलों के निजीकरण की कोई योजना नहीं है।
श्री जोशी ने कहा कि स्कूल शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिये जन-भागीदारी की योजनाएँ चलायी जा रही हैं। यह योजनाएँ हैं- प्रणाम पाठशाला-विद्यालय उपहार योजना और मिल-बाँचें मध्यप्रदेश कार्यक्रम हैं। उन्होंने बताया कि प्रणाम पाठशाला-विद्यालय उपहार योजना का उद्देश्य विद्यालयों और छात्रावासों के भौतिक एवं अकादमिक विकास के लिये समुदाय की सक्रिय भागीदारी प्राप्त करना है। उपहार-दाता के रूप में कोई भी व्यक्ति/संस्था योजना से जुड़ सकती है। उपहार-दाता को तीन विकल्प दिये गये हैं। वह किसी कार्य के लिये राशि, सामग्री दे सकता है और अधोसंरचना के कार्य करवा सकता है।
श्री जोशी ने बताया कि 'मिल-बाँचें मध्यप्रदेश'' कार्यक्रम का उद्देश्य वालिंटियर के माध्यम से बच्चों में भाषा कौशल उन्नयन, पाठ्य-पुस्तकों के अतिरिक्त अन्य पुस्तकों को पढ़ने एवं समझने की रुचि विकसित करना और शाला में सह-शैक्षिक गतिविधियों का आयोजन है। कार्यक्रम में जन-प्रतिनिधि, सेवानिवृत्त अधिकारी, सेवा में कार्यरत अधिकारी, पेशेवर व्यक्ति और शाला के पूर्व विद्यार्थी आदि लोग शामिल हो सकते हैं।
बघेल
वार्ता
More News

इनामी बदमाश गिरफ्तार

22 Jan 2019 | 5:54 PM

 Sharesee more..
लाेकसभा चुनाव के बाद पता चल जायेगा सबसे बड़ा डकैत कौन : अखिलेश

लाेकसभा चुनाव के बाद पता चल जायेगा सबसे बड़ा डकैत कौन : अखिलेश

22 Jan 2019 | 5:54 PM

लखनऊ 22 जनवरी (वार्ता)समाजवादी पार्टी(सपा)अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) पर तंज कसते हुये कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद देश की जनता को पता चल जायेगा कि असली डकैत कौन है।

 Sharesee more..
image