Monday, Apr 22 2019 | Time 11:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • खगड़िया में कैसर और मुकेश सहनी के बीच रोमांचक मुकाबला
  • ट्रक की टक्कर से मोटरसाइकिल सवार दो की मौत
  • मधेपुरा में नीतीश और लालू की प्रतिष्ठा दाव पर
  • पुतिन, किम की बैठक, रूसी विश्वविद्यालय की सुरक्षा बढ़ी
  • कांग्रेस ने दिल्ली की छह सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित किये
  • उप्र में वाराणसी समेत 13 लोकसभा क्षेत्रों के लिये अधिसूचना जारी, नामांकन प्रक्रिया शुरू
  • कांग्रेस ने दिल्ली के छह लोकसभा उम्मीदवारों की घोषणा की
  • तृणमूल कांग्रेस के आक्रामक प्रहारों से जूझ रहे अभिजीत मुखर्जी
  • सीकर जिले का हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार
  • श्रीलंका आतंकवादी हमले में मृतकों की संख्या 290 हुई
  • संयुक्त राष्ट्र ने श्रीलंका में हुये आतंकवादी हमले की निंदा की
  • कारवां-ए-अमन बस की सेवा आठवें सप्ताह स्थगित
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 23 अप्रैल)
  • भरोसा बढ़े तो रुस,जापान किसी भी समस्या को हल कर सकते है : मोर्गुलोव
  • कोलंबिया में भूस्खलन से 14 लोगों की मौत
राज्य


त्रिवेंद्र ने शिक्षकों को दी शुभकामनाएं

देहरादून 04 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रदेश के सभी शिक्षकों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी।
सिंगापुर दौरे पर गये श्री रावत की ओर से यहां जारी संदेश में कहा गया है कि शिक्षकों का हमारे जीवन में बहुत बड़ा योगदान है। शिक्षक विद्यार्थी के जीवन में ज्ञान का संचार करने के साथ ही देश के मजबूत भविष्य की बुनियाद भी रखते हैं। समाज में नवजागरण के साथ ही उसे नई दिशा देने में भी शिक्षकों का महत्वपूर्ण योगदान होता है।
उन्होंने कहा कि हमारे जीवन में माता-पिता के पश्चात सबसे महत्वपूर्ण स्थान शिक्षकों का ही होता है। देश के पूर्व राष्ट्रपति, शिक्षाविद् एवं दार्शनिक डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाना हम सभी के लिये गर्व की बात है। यह दिन उस महान व्यक्तित्व को नमन करने का भी दिन है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार शिक्षा के उन्नयन और सम्पूर्ण शिक्षित समाज की परिकल्पना को साकार करने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने शिक्षकों से राज्य में शिक्षा के स्तर को ऊंचाई पर ले जाने के लिए हर सम्भव सहयोग करने की अपील भी की। उन्होंने इस अवसर पर शिक्षकों को देश के भविष्य का निर्माता बताते हुए युवा पीढ़ी का आह्वान किया कि वे शिक्षकों को समुचित मान-सम्मान दें।
सं. उप्रेती
वार्ता
image