Monday, Nov 19 2018 | Time 05:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विजयन के निवास के बाहर श्रद्धालुओं ने किया प्रदर्शन
  • सबरीमला में तनाव बरकरार, भक्ति गीत गाने पर श्रद्धालु गिरफ्तार
  • एचएएल बनायेगा स्वदेशी तेजस लड़ाकू विमान: भामरे
  • सबरीमला मेें मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन: केरल मानवाधिकार आयोग
  • कांग्रेस ने राजस्थान के लिए सभी उम्मीदवार किये घोषित
राज्य Share

भोपाल गैंगरेप के दोषी उच्च न्यायालय की शरण में

भोपाल गैंगरेप के दोषी उच्च न्यायालय की शरण में

जबलपुर, 04 सितंबर (वार्ता) बहुचर्चित भोपाल गैंगरेप मामले में आजीवन कारावास की सजा से दण्डित चारों आरोपियों की याचिकाएं आज उच्च न्यायालय ने सुनवाई के लिए स्वीकार कर ली। चारों आरोपियों ने लीगल ऐड के माध्यम से फास्ट ट्रेक द्वारा सुनाई गई सजा को चुनौती दी है।

मुख्य न्यायाधीश हेमंत गुप्ता और न्यायाधीश व्ही के शुक्ला की युगलपीठ ने याचिकाओं को सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है। पीड़िता की तरफ से आरोपियों की जमानत के लिए आपत्ति पेश की गई थी। युगलपीठ ने पीड़िता की आपत्ति इस आधार पर खारिज कर दी कि आरोपियों ने तरफ से याचिका में जमानत की मांग नहीं की गई है।

पिछले वर्ष 31 अक्टूबर की शाम भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन के आउटर पर कोचिंग से लौट रही 19 वर्षीय छात्रा से चार लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था।

भोपाल के फास्ट ट्रेक कोर्ट ने प्रकरण की सुनवाई करते हुए आरोपी गोलू, अमर, राजेश और रमेश मेहरा को आजीवन कारावास की सजा से दण्डित किया था।

चारों आरोपियों ने लीगल ऐड के माध्यम से फास्ट ट्रेक के आदेश को उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी। युगलपीठ ने पूर्व में याचिकाओं की सुनवाई करते हुए निचली अदालत से रिकॉर्ड तलब किया था। रिकॉर्ड का अवलोकन करने के बाद युगलपीठ ने याचिकाओं को सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया।

सं सुधीर

वार्ता

More News
राम मंदिर निर्माण को जल्द संसद में विधेयक लाए केंद्र सरकारः बाबा रामदेव

राम मंदिर निर्माण को जल्द संसद में विधेयक लाए केंद्र सरकारः बाबा रामदेव

18 Nov 2018 | 11:35 PM

हरिद्वार 18 नवम्बर (वार्ता) योगगुरु बाबा रामदेव ने राम मंदिर निर्माण की वकालत करते हुए कहा कि इसके लिए संसद में जल्द कानून लाया जाए।

 Sharesee more..
image