Tuesday, Jan 22 2019 | Time 18:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी -जगन्नाथ ने काशी में की द्विपक्षीय बैठक
  • हिरण की सींग के साथ तस्कर गिरफ्तार
  • वारंटियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर 13 थानाध्यक्षों का वेतन रुका
  • गडकरी ने रावी नदी पर बना पुल राष्ट्र को किया समर्पित
  • एसटीएफ ने लखनऊ में पकड़ी नकली खाद बनाने की कई फैक्ट्री, पांच गिरफ्तार
  • शाह का तृणमूल कांग्रेस को सत्ता से उखाड़ फेंकने का अाह्वान
  • अफ्रीकी देशों के साथ सैन्य कौशल के गुर साझा करेंगे भारतीय सैनिक
  • सिम्स पीडियाट्रिक्स आईसीयू में लगी आग, बच्चे की मौत
  • प्रधानमंत्री परीक्षाओं के बारे में छात्रों, अभिभावकों से बात करेंगे
  • ईवीएम हैकिंग पर प्रेस कांफ्रेंस कांग्रेस की साजिश : भाजपा
  • बीएसएफ ने 31 रोहिंग्या सौंपे पुलिस को त्रिपुरा जेल भेजे गए
  • निजी हैसियत से गया था लंदन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में: सिब्बल
  • लीजेंड नडाल और जायंट किलर सितसिपास सेमीफाइनल में
राज्य Share

ठगी गिरोह के चार सदस्य चढे पुलिस के हत्थे

उज्जैन, 04 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश की उज्जैन पुलिस ने लाखों रुपए की ठगी करने वाले एक गिरोह के चार सदस्यों को आज गिरफ्तार कर लिया। इस गिरोह का एक सदस्य फरार है जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। पकडे गए आरोपी रतलाम जिले के निवासी बताए गए हैं, जो इससे पहले अन्य राज्यों में भी इस तरह की वारदात कर चुके हैं।
पुलिस अधीक्षक सचिन अतुलकर ने आज बताया कि खाचरौद निवासी पुनीत कुमार सोनी ने 11 लाख 76 हजार रुपए की धोखाधडी के मामले में 27 अगस्त प्रकरण दर्ज कराया था। जांच में पुलिस ऐसे एक गिरोह की गुड्डी बाई, भैरवनाथ, मदननाथ एवं तेजूनाथ को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी। ये सभी कालबेलिये रतलाम जिले के रहने वाले हैं। इस गिरोह का एक आरोपी लोगनाथ फरार है, पुलिस उसकी तलाश कर रही है। इनके कब्जे से चार पहिया वाहन भी बरामद किया गया है।
श्री अतुलकर ने बताया कि पीडित के पास अगस्त 2017 में अज्ञात व्यक्ति ने मोबाईल से फोन कर 51 हजार रुपए की आर्थिक मदद के लिये गुजरात के गोदरा बुलाया था। बाबा के कहे अनुसार दशा माता मंदिर में रुपए उछालने को कहा और रुपए को बाजार में चलाने का कहा। दूसरे दिन मोबाइल पर बताया कि दो करोड पच्चीस लाख रुपए मंजूर किये गए हैं। इसके बाद 21 लाख रुपयें दान देने को कहा। 31 अगस्त 2017 को 11 लाख रुपयें की व्यवस्था के साथ बाबा के पास पहुंचा तो दूर से एक पेटी बताई कहा कि उसमें दो करोड 25 लाख रुपयें रखें है। इस पेटी काे दो दिन बाद खोलने का आदेश दिया। लेकिन पीडित को शंका होने पर इसके पूर्व खोलने पर कागज के टुकडे मिले।
उन्होने बताया कि ये गिरोह सेवानिवृत्त कर्मचारी एवं जरुरतमंद लोगो निशाना बनाते थे। फर्जी बाबा रुप धारण कर वशीकरण करते हुए नगदी रकम लेकर एकांत में बुलाते थे। इसके पूर्व कई राज्यो में भी ठगी कर चुके है और इनका रतलाम में अलीशान मकान भी है।
सं बघेल
वार्ता
image