Monday, Nov 19 2018 | Time 08:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ट्रंप नहीं सुनेंगे खशोगी की हत्या का ऑडियो टेप
  • तालिबान के साथ शांति समझौता चाहते हैं खलिलजाद
  • इजरायल में जल्द चुनाव संभव नहीं : नेतन्याहू
  • सबरीमला : श्रद्धालु गिरफ्तार, विजयन के निवास के बाहर प्रदर्शन
  • विजयन के निवास के बाहर श्रद्धालुओं ने किया प्रदर्शन
  • सबरीमला में तनाव बरकरार, भक्ति गीत गाने पर श्रद्धालु गिरफ्तार
  • एचएएल बनायेगा स्वदेशी तेजस लड़ाकू विमान: भामरे
  • सबरीमला मेें मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन: केरल मानवाधिकार आयोग
  • कांग्रेस ने राजस्थान के लिए सभी उम्मीदवार किये घोषित
राज्य Share

एक ही परिवार के तीन लोगों की गला दबाकर हत्या

नैनीताल 04 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड के चंपावत जिले में दो बदमाशों ने एक ही परिवार के तीन लोगों की निर्मम हत्या कर दी है। मृतकों में दो महिलायें हैं।
पुलिस ने दोनों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना का आश्चर्यजनक पहलू यह है कि घटना की जानकारी बदमाशों की लापरवाही से ही पुलिस को मिली।
चंपावत जिले के एसपी धीरेन्द्र गुज्यांल ने बताया कि चंपावत पुलिस ने तीन सितम्बर रात को संदिग्धावस्था में घूम रहे दो लोगों को हिरासत में लिया। संदेह होने पर जब इनसे कड़ाई से पूछताछ की गयी तो इनमें से एक बदमाश प्रीतम पुराने मामले में वांछित निकला।
पुलिस ने इनसे और पूछताछ की तो बदमाशों ने ही तिहरे हत्याकांड का राज फाश कर दिया। इन्होंने बताया कि उन्होंने दो दिन पूर्व चंपावत के चाचरी गांव में एक तिहरे हत्याकांड को अंजाम दिया है। इसके बाद पुलिस हरकत में आयी। आज सुबह पुलिस की एक टीम को गांव भेजा गया जिसने वहां पहुंचकर दो महिलाओं
मनुदेवी (45) और पार्वती देवी( 75) तथा एक पुरूष कृष्ण सिंह पुत्र चंदन सिंह का शव बरामद किया। बदमाशों ने इस घटना को लूट के इरादे से अंजाम दिया था।
उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी प्रीतम चंपावत जिले के तामली का रहने वाला है। वह काफी समय से हरिद्वार में रहने लगा है। वह कुछ दिन पूर्व श्यामपुर रायवाला निवासी विशाल को साथ लेकर अपने गांव तामली चंपावत आया था।
वह हमेशा ही चाचरी गांव होकर ही अपने गांव तामली पैदल जाता था। तामली गांव जाने के लिये वह हमेशा चाचरी में इस परिवार के पास एक दिन रूक कर जाता था। एक सितम्बर को भी ये दोनों चाचरी में इस परिवार के पास रात को रूके थे। यहीं से इनके दिमाग में लूट की वारदात को अंजाम देने की बात आयी।
श्री गुज्यांल ने बताया कि दोनों सुबह घर से निकल गये और दिन भर नदी किनारे झाड़ियों में छुप गये। दो सितम्बर की रात को आठ बजे ये फिर से घर में घुसे और पहले मनु देवी व उसके पति कृष्ण सिंह की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद घर को खंगालने लगे तो कृष्ण सिंह की बूढ़ी मां पार्वती देवी भी जाग गयी। दोनों ने पार्वती देवी का भी गला दबाकर उसे मार दिया। इसके वे घर में रखे एक सोने का गलाबंद व अन्य सामान लेकर चंपत हो गये।
श्री गुज्यांल ने बताया कि प्रीतम सिंह खूंखार किस्म का है और वह कई अपराधों को अंजाम दे चुका है। प्रीतम ने पूछताछ में यह भी बताया कि उसने 2004 में श्यामपुर हरिद्वार में भी एक महिला की हत्या कर दी थी। हरिद्वार एसएसपी को इस मामले की जानकारी दे दी गयी है। इसके अलावा 2017 में भी उसने चंपावत में एक बच्चे को लूटकर उसके शव को पहाड़ी से नीचे गिरा दिया था।
सं जितेन्द्र्र
वार्ता
image