Wednesday, Nov 14 2018 | Time 16:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एनजीटी ने पंजाब पर ठोंका 50 करोड़ रुपए जुर्माना
  • शिवभक्त नहीं, बगुला भगत हैं राहुल गांधी:भाजपा
  • मुजफ्फरनगर मण्डी में गुड़ एवं चीनी के भाव
  • समुद्री उत्पाद का निर्यात 95 प्रतिशत बढा
  • राधामोहन ने सहकारिता क्षेत्र में स्टार्ट अप की शुरुआत
  • समुद्री उत्पाद का निर्यात 95 प्रतिशत बढा
  • राधामोहन ने सहकारिता क्षेत्र में स्टार्ट अप की शुरुआत
  • पंथ विरोधी गलतियाें के कारण सुखबीर बादल का सियासी अंत तय :जाखड़
  • गुजरात में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के निकट होगा डीजीपी सम्मेलन, मोदी के शिरकत की संभावना
  • मेगन और एलिसा ने दिलाई आस्ट्रेलिया काे जीत
  • मेगन और एलिसा ने दिलाई आस्ट्रेलिया काे जीत
  • ई-वीजा सुविधा सभी देशों के लिए व्यावहारिक तौर पर शुरू
  • बेटों के बाद अब अजय चौटाला भी इनेलो से निष्कासित
  • आर्थिक तंगी के कारण एक ने की खुदकुशी
  • सामूहिक दुष्कर्म मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार
राज्य Share

‘के’ अक्षर से फिल्म बनाने के लिये मशहूर है राकेश रोशन

..जन्मदिन 06 सितंबर के अवसर पर ..
मुम्बई 05 सितम्बर (वार्ता) बॉलीवुड में राकेश रोशन का नाम एक ऐसे फिल्मकार रूप में शुमार किया जाता है जो अपनी निर्मित फिल्मों से कई दशकों से अधिक समय से मनोरंजन कर रहे है।
राकेश रोशन का जन्म 06 सितम्बर 1949 को मुम्बई में हुआ। उनके पिता रोशन फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर संगीतकार थे। राकेश रोशन ने 1970 में ‘घर-घर की कहानी’ से अपने फिल्म करियर की शुरआत की। नायक के तौर पर उनकी पहली फिल्म 1971 में प्रदर्शित फिल्म ‘पराया धन’ थी। जो सुपरहिट रही। इसके बाद राकेश रोशन ने कई फिल्मों में अभिनय किया लेकिन खास सफल नहीं रहे। अभिनय में अपेक्षित कामयाबी हासिल नहीं कर पाने के बाद राकेश रोशन ने 1980 में ‘आपके दीवाने’ फिल्म के जरिए निर्माण के क्षेत्र में कदम रखा। इसके बाद उन्होंने 1982 में ‘कामचोर’ बनाई। इन दोनों फिल्मों में उन्होंने अभिनय भी किया। के. विश्वनाथ के निर्देशन में बनी इस फिल्म के सुपरहिट होने के बाद उन्हें यह लगा कि ‘के’ अक्षर उनके लिए लकी है और उन्होंने अपनी आगामी सभी फिल्मों के नाम ‘के’ अक्षर से रखने शुरू कर दिए।
‘के’ अक्षर से शुरू होने वाली उनकी फिल्में हैं- ‘खुदगर्ज’, ‘खून भरी मांग’, ‘काला बाजार’, ‘किशन कन्हैया’, ‘कोयला’, ‘करण अर्जुन’, ‘कहो ना प्यार है’, ‘कोई मिल गया’, ‘क्रिश’, ‘क्रेजी-4’, ‘किंग अंकल’, ‘काइट्स’ ,‘क्रिश-3’ और ‘काबिल’ आदि। वर्ष 2000 में प्रदर्शित फिल्म ‘कहो ना प्यार है’ के जरिये राकेश रोशन ने अपने पुत्र ऋतिक रोशन को फिल्म इंडस्ट्री में लांच किया। यह फिल्म उनकी सबसे बडी हिट फिल्मों में शामिल है। इस फिल्म से जुड़ा यह तथ्य भी रोचक है कि सर्वाधिक पुरस्कार पाने वाली बालीवुड की फिल्म होने पर इसे लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में भी शामिल किया गया है।
वर्ष 2003 में प्रदर्शित ‘कोई मिल गया’ फिल्म राकेश रोशन के निर्माण और निर्देशन में बनी महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। इसी तरह इस फिल्म का सीक्वल ‘क्रिश’ और तीसरा संस्करण ‘क्रिश-3’ भी उनकी बेहद कामयाब फिल्मों में हैं जिसने छोटे बच्चों से लेकर सभी दर्शकों तक का भरपूर मनोरंजन किया। राकेश रोशन चार बार फिल्म फेयर पुरस्कार हासिल कर चुके हैं। ‘कहो ना प्यार है’ और ‘कोई मिल गया’ के लिए उन्हें निर्माता-निर्देशक का फिल्म फेयर पुरस्कार मिला है। फिल्म इंडस्ट्री में 35 वर्ष पूरे होने पर उन्हें ‘ग्लोबल इंडियन फिल्म अवार्ड्स’ की ओर से भी सम्मानित किया गया है। राकेश रोशन अब फिल्म ‘क्रिश-4’ बनाने की तैयारी कर रहे हैं।
प्रेम दिनेश
वार्ता
image