Thursday, Nov 15 2018 | Time 07:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रूस में भूकंप के झटके
  • अमेरिका में बस पलटने से दो की मौत, 44 घायल
  • सीरिया में हवाई हमले मेें 20 आईएस की मौत
  • टीआरएस ने 10 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की
  • कोविंद, मोदी ने जीसैट-29 उपग्रह के प्रक्षेपण पर बधाई दी
  • पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी हमलों का स्राेत : मोदी
  • सीटें नहीं मिली तो निर्दलीय के रूप में चुनाव लडेंगे: खान
राज्य Share

बंद को देखते हुए मध्यप्रदेश में अलर्ट

भोपाल, 05 सितंबर (वार्ता) अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम में संशोधन के विरोध में कल प्रस्तावित बंद को देखते हुए समूचे मध्यप्रदेश में पुलिस-प्रशासन अलर्ट पर है।
पुलिस-प्रशासन ने संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। दो अप्रैल को भारत बंद के दौरान मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में हुई हिंसा और कई लोगों की मौत के बाद अब प्रशासन ने ऐसे क्षेत्रों में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात किया है।
प्रदेश के छतरपुर, ग्वालियर, भिंड, शिवपुरी, मुरैना और श्योपुर जिलों में जिला प्रशासन ने ऐहतियातन निषेधाज्ञा लागू कर दी है। निषेधाज्ञा के दौरान इन जिलों की सीमाओं में कोई भी रैली, जुलूस, शोभायात्रा, धरना-प्रदर्शन और सार्वजनिक सभा आदि बिना सक्षम प्राधिकारी की अनुमति के प्रतिबंधित रहेंगें। साथ ही सोशल मीडिया पर किसी भी ऐसे संदेश का आदान-प्रदान नहीं किया जाएगा, जिससे किसी धर्म, सम्प्रदाय व जाति विशेष की भावना आहत हो या वह राष्ट्रीय एकता एवं अखंडता को हानि पहुंचाता हो।
इसके पहले श्योपुर में कल शाम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा पर पथराव की घटना का विरोध करते हुए धरना दे रहे जिला भाजपा के प्रमुख पदाधिकारियों व स्थानीय विधायक दुर्गालाल विजय का बहुत से लोगों ने विरोध किया। विरोध करने वाले लोग भाजपा सरकार के विरोध में नारेबाजी कर इस अधिनियम में संशोधन का विरोध कर रहे थे।
मुरैना में भी कई घरों पर लोगों ने इस अधिनियम के विरोध में अपने घरों के बाहर पोस्टर लगा दिए हैं। पोस्टरों में नोटा का समर्थन करते हुए राजनीतिक दलों से अपील की गई है कि वे वोट मांगने नहीं आएं।
प्रदेश के ग्वालियर और चंबल संभाग में इस अधिनियम में संशोधन का तीखा विरोध देखने को मिल रहा है। इसी क्षेत्र में दो अप्रैल को दलितों के बंद के दौरान भारी हिंसा हुई थी और विभिन्न स्थानों पर करीब छह लोगों की मौत हो गई थी। इसी के मद्देनजर अब सवर्णों के प्रस्तावित बंद के दौरान सरकार पूरी तरह अलर्ट है।
गरिमा
वार्ता
More News
कोलकाता में ‘रसगुल्ला दिवस’ पर मनाया जा रहा है जश्न

कोलकाता में ‘रसगुल्ला दिवस’ पर मनाया जा रहा है जश्न

14 Nov 2018 | 11:44 PM

कोलकाता, 14 नवंबर (वार्ता) मिष्ठान प्रेमी बंगाल वासियों के लिए 14 नवंबर का दिन विशेष महत्व का है क्योंकि अपनी विशिष्ट विरासत को समेटे बंगाल के रसगुल्ला को पिछले वर्ष इसी दिन भौगोलिक पहचान (जीआई) का तमगा हासिल हुआ था।

 Sharesee more..
राज्यपाल अभिवादन स्वरूप महामहिम नहीं माननीय का प्रयोग किया जाए : मौर्य

राज्यपाल अभिवादन स्वरूप महामहिम नहीं माननीय का प्रयोग किया जाए : मौर्य

14 Nov 2018 | 11:37 PM

देहरादून, 14 नवम्बर (वार्ता) उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने निर्देश दिया है कि भविष्य में एक रिवाज के प्रयोजन हेतु अभिवादन स्वरूप जहाँ महामहिम राज्यपाल शब्द प्रयोग किया जाता है उसके स्थान पर राज्यपाल महोदय या ‘‘माननीय राज्यपाल’’ का प्रयोग किया जाए।

 Sharesee more..
संजय कुमार के मीटू के आरोप में फंसने के मसले पर बोले त्रिवेन्द्र

संजय कुमार के मीटू के आरोप में फंसने के मसले पर बोले त्रिवेन्द्र

14 Nov 2018 | 11:16 PM

नैनीताल 14 नवम्बर (वार्ता) उत्तराखंड के मुख्यमत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के निवर्तमान प्रदेश महासचिव संजय कुमार के मी टू के आरोप में फंसने पर बुधवार को तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि गलती करने वाले को सजा मिलनी चाहिए।

 Sharesee more..
image