Wednesday, Jun 19 2019 | Time 18:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बंगलादेश के खिलाफ वापसी कर सकते हैं स्टोयनिस
  • कैप्टन सरकार नशे को काबू करने में बुरी तरह विफल : चीमा
  • वाई वी सुब्बा रेड्डी तिरुपति देवस्थानम के नये अध्यक्ष
  • मध्य नाइजीरिया में बंदूकधारी ने चार लोगों की हत्या की
  • ढाणी दादूपुर बना हरियाणा का पहला पशुधन जोखिम मुक्त गांव
  • कुशीनगर में तस्कर गिरफ्तार, 350 पेटी शराब बरामद
  • बिहार में पांच चिकित्सा टीमें भेजेगा केन्द्र
  • इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के प्रति जागरूकता के लिए एविस की पहल
  • शिखर बाहर, पंत अंदर, भुवी पर अभी फैसला नहीं
  • शिखर बाहर, पंत अंदर, भुवी पर अभी फैसला नहीं
  • मुरसी के पोस्टमार्टम की मांग पर मिस्र ने जतायी नाराजगी
  • किरण राव की आठ साल बाद निर्देशक के रुप में वापसी: फेसबुक इंडिया से मिलाया हाथ
  • अगले स्थापना दिवस पर होगा शिवसेना का मुख्यमंत्री!
  • मंगोलिया में घर में आग लगने से छह लोगों की मौत
  • ओडिशा में शहीद के परिजनों को 25 लाख रुपये की सहायता
राज्य


कर्नाटक के शिक्षक दंपति ने गोद लिए तीन भाई-बहन

उज्जैन, 05 सितम्बर (वार्ता) मध्यप्रदेश के उज्जैन स्थित मातृछाया में रह रहे तीन बच्चों के लिए ये शिक्षक दिवस खुशियों की सौगात लेकर आया है।
दररअसल इन तीनों सगे भाई-बहनों को पिछले साल उनके परिवार ने त्याग दिया था। तभी से तीनों यहां मातृछाया में पल रहे थे।
मातृछाया के प्रबंधक अनुराग जैन ने बताया कि सेवाभारती द्वारा यहां संचालित मातृछाया में तीन भाई-बहन माही (5), पियूष (4) और आर्या (2) पल रहे थे। संस्था की इच्छा थी कि तीनों बच्चों को कोई एक परिवार गोद ले, ताकि तीनों एक-दूसरे से बिछड़ें ना। इसी क्रम में कर्नाटक के उडूपी निवासी एक शिक्षक दंपति पी रमेश एवं गीता ने इस बारे में सहमति जताई।
कल यहां आयोजित एक कार्यक्रम में संस्था ने दंपति को तीनों बच्चे गोद दिये। इस मौके पर संस्था के सभी पदाधिकारी सहित अन्य अतिथि मौजूद थे।
सं गरिमा
वार्ता
image