Tuesday, Nov 20 2018 | Time 18:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अमृतसर रेल हादसे के पीड़ितों को मुख्यमंत्री साैंपेंगे नियुक्ति पत्र: सिद्धू
  • सस्ते दर पर गुणवत्तापूर्ण दवाओं से लोगों के 15 हजार करोड़ बचे:मंडाविया
  • सस्ते दर पर गुणवत्तापूर्ण दवाओं से लोगों के 15 हजार करोड़ बचे:मंडाविया
  • राम मंदिर निर्माण के लिए सरकार अध्यादेश लाये:गिरिराज
  • उत्तराखंड नगर निकाय चुनाव में भाजपा आगे
  • विजयराघवगढ़ में संजय पाठक की प्रतिष्ठा दांव पर, रोचक मुकाबले की उम्मीद
  • उच्च शिक्षा का औसत 30 प्रतिशत करने को प्रतिबद्ध : नीतीश
  • आस्ट्रेलिया में विजयी शुरूआत के लिये उतरेगी टीम विराट
  • मानव सेवा ही सबसे श्रेष्ठ सेवा, मिलती है धर्म और कर्तव्य की झलक: आर्य
  • ट्रंप ने अर्जेंटीना पनडुब्बी हादसे में मारे गये लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना
  • सुषमा का फैसला निजी मामला: कांग्रेस
  • एडिडास से जुड़े हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह
  • गुरुप्रताप बोपाराय फॉक्सवैगन इंडिया के भी प्रबंध निदेशक होंगे
  • पुणे से सिंगापुर के लिए उड़ान शुरू करेगी जेट एयरवेज
  • सिन्हा के हलफनामे पर जवाब दें मोदी : कांग्रेस
राज्य Share

गुटखा घोटाले में सीबीआई का 30 से अधिक स्थानों पर छापा

चेन्नई 05 सितंबर (वार्ता) केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने करोड़ों रुपये के गुटखा घोटाले में बुधवार को तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजयभास्कर, पुलिस महानिदेशक टी के राजेंद्रन और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एस जॉर्जके निवास समेत 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे।
सीबीआई सूत्रों ने बताया कि पूर्व मंत्री बी रामन्ना और विल्लीपुरम में एक किराने की दुकान के मालिक के निवास पर भी छापे मारे गये। उन्होंने बताया कि सुबह लगभग आठ बजे शुरू हुए छापे अब तक जारी हैं।
सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई की विशेष टीम छापे मार रही हैं। यह पहली बार है जब सीबीआई राज्य के डीजीपी के निवास पर तलाशी ले रही है।
सूत्रों ने बताया कि श्री राजेंद्रन और श्री जॉर्ज के करीबी माने जाने वाले सभी वर्तमान और पूर्व पुलिस अधिकारी के निवासों पर छापे मारे जा रहे हैं। एक भारतीय राजस्व सेवा (सीमा शुल्क) अधिकारी और खाद्य सुरक्षा एवं आयकर विभाग के कुछ अधिकारियों के ठिकानों पर भी छापे मारे जा रहे हैं।
ये छापे एमडीएम गुटखा के मालिक माधव राव से सीबीआई की पूछताछ के कुछ दिन बाद मारे गये हैं। सीबीआई ने उन लोगों से भी पूछताछ की है जिन्होंने कथित तौर पर शीर्ष अधिकारियों को रिश्वत दी और उनके बयान भी दर्ज किये गये।
गौरतलब है कि गुटखा घोटाला आठ जुलाई 2017 को तब सामने आया जब आयकर विभाग ने कर चोरी के संदेह में एक गुटखा कंपनी के मालिक के घर में छापे मारे। उस पर लगभग 250 करोड़ की कर चोरी का आरोप था। गुटखा कंपनी के मालिक के घर के अलावा गोदाम और कार्यालय पर भी छापे मारे गये थे। छापे के दौरान अधिकारियों को एक डायरी मिली थी, जिसमें उन लोगों के नाम थे, जिन्हें कथित तौर पर पैसे दिए गए थे। इनमें से एक नाम राज्य के स्वास्थ्य मंत्री का भी था।
मद्रास उच्च न्यायालय ने 26 अप्रैल को गुटखा घोटाले से संबंधित मामले की सीबीआई जांच का आदेश दिया था।
यामिनी आशा
वार्ता
More News

राष्ट्रीय रूपाला सहकारिता दो अंतिम लखनऊ

20 Nov 2018 | 6:44 PM

 Sharesee more..

नक्सली विस्फोट मामले में थानेदार निलंबित

20 Nov 2018 | 6:44 PM

 Sharesee more..

बागपत में दिव्यांग युवक की हत्या से सनसनी

20 Nov 2018 | 6:41 PM

 Sharesee more..

20 Nov 2018 | 6:40 PM

 Sharesee more..
image