Tuesday, Nov 13 2018 | Time 23:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उप्र सरकार के सतत प्रयास से प्रदेश के सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति:योगी
  • धनगर समाज ने आरक्षण के लिए रैली निकाली
  • कैलिफोर्निया के जंगलों में भीषण आग, 44 मरे
  • स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है आयोग: रावत
  • चेन्नई ने ईस्ट बंगाल को 2-1 से हराया
  • चेन्नई ने ईस्ट बंगाल को 2-1 से हराया
  • विकास कार्यों में मिट्टी खनन के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र देने में विलम्ब न हो:मौर्य
  • रोहिंग्याओं की सुरक्षित वापसी के लिए म्यांमार पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बने: बंगलादेश
  • इजरायली हवाई हमले में छह फिलीस्तीनियों की मौत
  • कोलकाता में होगा भारत-इटली डेविस कप मुकाबला
  • कोलकाता में होगा भारत-इटली डेविस कप मुकाबला
  • फाेटो कैप्शन दूसरा सेट
  • जम्मू कश्मीर में हुई बारिश
  • लोग सामाजिक बुराईयां समाप्त करने का संकल्प लें: खट्टर
  • सरकार ने आठ मैती उग्रवादी संगठनों पर प्रतिबंध लगाया
राज्य Share

हड़ताल पर चल रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों के बर्खास्तगी का अल्टीमेटम

गरियाबंद, 05 सितंबर (वार्ता) छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में स्वास्थ्य विभाग के सैकड़ों कर्मचारी पिछले एक माह से अधिक समय से हड़ताल में हैं, इसको देखते हुए स्वास्थ्य प्रशासन ने अल्टीमेटम जारी कर दिया है कि काम पर लौटे नहीं तो बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एस के तिवारी ने जिले के सभी हड़तालरत स्वास्थ्य पर्यवेक्षकों तथा ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजकों को कार्य पर वापस लौटने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि पिछले माह की एक तारीख से स्वास्थ्य पर्यवेक्षक तथा ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक हड़ताल पर हैं। चूंकि स्वास्थ्य से संबंधित सेवाएं सीधे तौर पर जनसामान्य की स्वास्थ्य सुविधाओं से जुड़ी हुई है तथा हड़ताल की अवधि के दौरान मरीज की मृत्यु उपचार के अभाव में हो जाती है, तो इससे गंभीरता से लेते हुए संबंधित स्वास्थ्यकर्मी के विरूद्ध नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी।
उन्होंने कहा कि इसके लिए कर्मचारी स्वयं जिम्मेदार होंगे। उन्होंने यह भी बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से कई राष्ट्रीय कार्यक्रम प्रभावित है, जो गंभीर अनुशासनहीनता है। उन्होंने सभी स्वास्थ्य पर्यवेक्षकों एवं ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजकों को आगामी दो दिनों के भीतर संबंधित कार्यालय में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने कहा है। इसके बाद भी यदि कोई स्वास्थ्य पर्यवेक्षक/संयोजक अनुपस्थित रहता है, तो उसके विरूद्ध छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण 1965 के प्रावधानों के तहत बर्खास्तगी की कार्यवाही की जायेगी।
सं बघेल
वार्ता
More News
भाजपा ने भेदभाव की राजनीति नहीं की: शिवराज

भाजपा ने भेदभाव की राजनीति नहीं की: शिवराज

13 Nov 2018 | 10:02 PM

रीवा, 13 नवंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कांग्रेस पर भेदभाव किए जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के शासन में भेदभाव किया जाता था, लेकिन उनकी सरकार ने भेदभाव की राजनीति नहीं की, इन क्षेत्रों के विकास के लिए खूब किया, लेकिन जनप्रतिनिधियों ने विकास में कंजूसी की।

 Sharesee more..
स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है आयोग: रावत

स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है आयोग: रावत

13 Nov 2018 | 10:00 PM

इंदौर, 13 नवंबर (वार्ता) देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओ पी रावत ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए तैयारियों पर आज संतोष जताते हुए कहा कि आयोग स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

 Sharesee more..
उप्र सरकार के सतत प्रयास से प्रदेश के सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति:योगी

उप्र सरकार के सतत प्रयास से प्रदेश के सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति:योगी

13 Nov 2018 | 9:19 PM

लखनऊ 13 नवम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार के सतत प्रयास से प्रदेश के सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति की है अौर 30 नवम्बर तक प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत 10 लाख आवासों का निर्माण करा लिया जाएगा ।

 Sharesee more..

उत्तर प्रदेश-योगी प्रगति दो लखनऊ

13 Nov 2018 | 9:08 PM

 Sharesee more..

धनगर समाज ने आरक्षण के लिए रैली निकाली

13 Nov 2018 | 9:04 PM

 Sharesee more..
image