Wednesday, Apr 24 2019 | Time 02:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सउदी ने आतंकवाद फैलाने के आरोप में 37 नागरिकों को दी फांसी
  • अबू धाबी के क्राउन प्रिंस ने दक्षिण सूडान के राष्ट्रपति से की मुलाकात
  • रक्षा बलों के प्रमुखों को बदल सकते हैं श्रीलंका के राष्ट्रपति
  • मोरक्को पुलिस ने आईएस से जुड़े संदिग्ध को हिरासत में लिया
राज्य


श्री शाह ने कहा कि अटल जी के सपनो का छत्तीसगढ़ बनाने के लिए केवल 2018 में डा.सिंह को मुख्यमंत्री ही नही बनाना है बल्कि 2019 में मौदी जी को प्रधानमंत्री बनाना है।उन्होने कहा कि केन्द्र में मोदी सरकार बनने के बाद छत्तीसगढ़ के विकास में और तेजी आई है।राज्य के 10 पिछड़े जिलों के विकास के लिए केन्द्र ने राज्य की भरपूर मदद की है।उन्होने इस मौके पर आयुष्मान भारत योजना,उज्जवला योजना सहित केन्द्र की महात्वाकांक्षी योजनाओं का भी जिक्र किया।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए श्री शाह ने कहा कि शहजादे पूछते है कि मोदी जी बताईए कि आपने चार वर्ष में क्या किया। राहुल बाबा आपको तो मोदी जी प्रश्न पूछने का हक ही नही है और न ही आपको जवाब देने की जरूरत है।उन्होने कहा कि देश की जनता को हिसाब मांगने का हक है,और वह उसे दे रहे है।
श्री शाह ने कहा कि राहुल बाबा चार पीढियों तक कांग्रेस की सरकार थी देश का विकास आखिर क्यों नही हुआ। उन्होने हाल ही में श्री गांधी के भाषण के दौरान छत्तीसगढ़ दौरे में बीएसएनएल की जगह बीएचईएल फोन के कथन पर आड़े हाथों लेते हुए व्यंग्य किया और कहा कि उऩ्हे यह भी नही पता कि बीएचईएल फोन नही बनाता।
उन्होने यूपीए सरकार में हुए कथित कोल घोटाले एवं पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा भारतीय जवान का सिर काटे जाने का भी जिक्र किया और कहा कि मोदी ने सर्जिकल स्ट्राईक के जरिए पाकिस्तान को सबक सिखाया वहीं कोल ब्लाकों की नीलामी कर देश के खजाने में भारी रकम जमा कराई। छत्तीसगढ़ को भी इससे 3600 करोड रूपए हासिल हुए।श्री शाह ने इसके उपरान्त डा.सिंह की अटल विकास यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
साहू
वार्ता
More News
कारवां-ए-अमन बस सेवा आठवें सप्ताह स्थगित रही

कारवां-ए-अमन बस सेवा आठवें सप्ताह स्थगित रही

23 Apr 2019 | 10:43 PM

श्रीनगर, 23 अप्रैल (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद के बीच चलने वाली बस कारवां-ए-अमन लगातार आठवें सप्ताह नहीं चली। दोनों ओर फंसे हुए यात्रियों को उरी के कामन पोस्ट पर नियंत्रण रेखा के इस ओर अंतिम भारतीय सैन्य चौकी को पार करने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है

see more..
image