Tuesday, Apr 23 2019 | Time 19:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • केदारनाथ कस्तूरी मृग अभ्यारण्य क्षेत्र के वन पंचायतों, गांवों को मिल सकती है राहत
  • तीसरे चरण में बंगाल,त्रिपुरा,असम,गोवा और केरल में बंपर वोटिंग
  • मध्यप्रदेश के अनेक स्थानों में गर्म हवाएं, खरगोन में लू
  • आंतकवादियों की इदलिब में रासायनिक हमले की योजना
  • क्षेत्र की गरीबी व बेरोजगारी दूर करना होगी कांग्रेस की प्राथमिकता:शिवशरण
  • लोकसभा के तीसरे चरण में सात बजे तक करीब 64 प्रतिशत मतदान
  • मुंबई और दिल्ली से 28 नयी उड़ानें शुरू करेगी स्पाइसजेट
  • राजस्थान में भीषण गर्मी, पश्चिमी भारत में लू चलने का अनुमान
  • केंद्र में कांग्रेस की सरकार आने पर 22 लाख सरकारी रिक्त पदों को भरा जाएगा - राहुल
  • डेढ़ किलो हेरोइन सहित एक गिरफ्तार
  • बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण
  • बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण
  • कच्चे तेल की आपूर्ति के लिए पुख्ता योजना : प्रधान
  • प्रयागराज पुलिस मुठभेड़ में 50 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार
राज्य


डा.सिंह ने कहा कि धान खरीद पर 2400 करोड़ रूपए का बोनस दिया जायेगा,इसकी मंजूरी के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है। उन्होंने विकास यात्रा का जिक्र करते हुएर कहा कि इस यात्रा का प्रमुख लक्ष्य राज्य सरकार की उपलब्धियों को जनता के बीच लेकर जाना और नवा छत्तीसगढ़ 2025 के दृष्टिपत्र में जनता के विचारों को शामिल करना है। इसके साथ ही प्रदेश के कोने-कोने तक जाकर सरकार के काम-काज का लेखा-जोखा जनता के सामने रखना।
उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वं अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि नया रायपुर का अटल नगर रख दिया गया है। साथ ही राजनांदगांव के मेडिकल कॉलेज का नाम भी अटल जी के नाम पर रखा जाएगा।उन्होंने राज्य की स्काई योजना का भी जिक्र किया और कहा कि आने वाले चार महीनों के अंदर 40 लाख बहनों के हाथ में स्मार्ट फोन होगा।
उन्होंने अटल दृष्टिपत्र का उल्लेख करते हुए कहा कि वर्ष 2025 तक सभी छत्तीसगढ़ वासियों के पास पक्का स्वयं का मकान होगा और प्रत्येक नागरिक को गुणवत्तापूर्ण तथा किफायती स्वास्थ्य देख-भाल का अधिकार भी होगा। किसानों की आमदनी दोगुनी कर उन्हें सशक्त बनाया जाएगा और खेती में आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल कृषि उत्पादन को बढ़ाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि अटल दृष्टिपत्र के संकल्पों के अनुसार, वर्ष 2025 तक छत्तीसगढ़ में 15 प्रतिशत से भी कम लोग गरीबी रेखा से नीचे होंगे और वर्ष 2030 तक गरीबी का उन्मूलन भी कर दिया जाएगा। सभी नागरिकों के लिए शुद्ध पेयजल, टेलीफोन संपर्क, बेहतर स्वच्छता की सुविधा मिलने लगेगी। इस कार्यक्रम के बाद डा.सिंह विकास यात्रा पर आगे के लिए रवाना हो गए।
सुरेन्द्र.साहू
वार्ता
image