Tuesday, Apr 23 2019 | Time 19:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उप्र में 40 06 करोड़ की नगदी जब्त 52,21,366 पोस्टर्स आदि हटाये
  • केदारनाथ कस्तूरी मृग अभ्यारण्य क्षेत्र के वन पंचायतों, गांवों को मिल सकती है राहत
  • तीसरे चरण में बंगाल,त्रिपुरा,असम,गोवा और केरल में बंपर वोटिंग
  • मध्यप्रदेश के अनेक स्थानों में गर्म हवाएं, खरगोन में लू
  • आंतकवादियों की इदलिब में रासायनिक हमले की योजना
  • क्षेत्र की गरीबी व बेरोजगारी दूर करना होगी कांग्रेस की प्राथमिकता:शिवशरण
  • लोकसभा के तीसरे चरण में सात बजे तक करीब 64 प्रतिशत मतदान
  • मुंबई और दिल्ली से 28 नयी उड़ानें शुरू करेगी स्पाइसजेट
  • राजस्थान में भीषण गर्मी, पश्चिमी भारत में लू चलने का अनुमान
  • केंद्र में कांग्रेस की सरकार आने पर 22 लाख सरकारी रिक्त पदों को भरा जाएगा - राहुल
  • डेढ़ किलो हेरोइन सहित एक गिरफ्तार
  • बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण
  • बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण
  • कच्चे तेल की आपूर्ति के लिए पुख्ता योजना : प्रधान
राज्य


डेंगू नियंत्रण के लिए उत्तराखंड को पर्याप्त अनुदान दे केंद्र: एचसी

नैनीताल, 05 सितम्बर (वार्ता ) उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने बुध‌वार को केन्द्र सरकार को डेंगू नियंत्रण के लिये उत्तराखंड सरकार को पर्याप्त अनुदान तथा सहायता उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।
इसके साथ न्यायालय ने राज्य सरकार को प्रदेश में डेंगू नियंत्रण के लिये अस्पतालों की संख्या में वृद्धि करने तथा प्रत्येक अस्पताल में डेंगू प्रभावित मरीजों की भर्ती के लिये पृथक वार्ड और पर्याप्त संख्या में बिस्तरों की व्यवस्था करने का निर्देश दिया।
देहरादून निवासी रोहित ध्यानी ने इस मामले में एक जनहित याचिका दायर कर बताया कि प्रदेश में डेंगू प्रभावित मरीजों के लिये जिलों में मौजूद अस्पतालों में पृथक वार्ड तथा बिस्तरों की पर्याप्त व्यवस्या नहीं है। इसके जवाब में राज्य सरकार की ओर से न्यायालय को बताया गया कि अत्यधिक डेंगू प्रभावित चार जिले हैं देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी तथा नैनीताल हैं।
केन्द्र सरकार के राष्ट्रीय विक्टर बोर्न रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत प्रदेश के प्रत्येक अस्पताल में डेंगू के इलाज के लिये डेंगू नैदानिक किट तथा दवाइयां उपलब्ध हैं। डेंगू प्रभावित सभी जिलों में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी डेंगू नैदानिक किट की सुविधा उपलब्ध हैं।
सरकार की ओर से यह भी कहा गया है कि केन्द्र सरकार की ओर से प्रदेश के सात अस्पतालों को विशेष अस्पताल नामित किया गया है। इनमें डेंगू जांच तथा परीक्षण को नि:शुल्क रखा गया है। केन्द्र द्वारा अनुशंसित सात अस्पतालों में दून अस्पताल, ज्योलिग्रांट अस्पताल, सरकारी मेडिकल कालेज हल्द्वानी, बेस अस्पताल हल्द्वानी, श्रीनगर मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल रूद्रपुर तथा कोरोनेशन अस्पताल देहरादून शामिल हैं।
सरकार की ओर से कहा गया कि डेंगू पर नियंत्रण के लिये सरकार की ओर से विभिन्न तरह के कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं।
सं.संतोष
वार्ता
More News
कांग्रेस ने गरीब और किसान के लिए कुछ नहीं किया :केशव

कांग्रेस ने गरीब और किसान के लिए कुछ नहीं किया :केशव

23 Apr 2019 | 7:25 PM

बाराबंकी, 23 अप्रैल (वार्ता) उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि उसने गरीब और किसान के लिए कुछ नहीं किया । उनके नेता चांदी का चम्मच लेकर पैदा हुए हैं और किसान और गरीब के लिए कुछ नहीं बल्कि देश को लूटने का ही काम किया।

see more..
image