Wednesday, Sep 26 2018 | Time 18:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राजद विधायक अबू दोजाना के ठिकानों पर आयकर का छापा
  • माकपा ने सरकारी योजनाओं में आधार को अनिवार्य बनाने का विरोध किया
  • हरियाणा सरकार में कच्चे कर्मचारी होंगे नियमित
  • आधार पर हमारे नजरिये के समर्थन के लिए कोर्ट का आभार : राहुल
  • सायना आसान जीत से दूसरे दौर में, समीर बाहर
  • बिहार ने मेघालय को 108 रन से हराया
  • किसान सभा ने की पंजाब में गिरदावरी और मुआवजे की मांग
  • एसबीआई कार्ड और अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप ने लॉन्च किया को-ब्रांडेड कार्ड
  • आर्टिफिशल इंटेलिजेंस से नहीं घटेंगे रोजगार के अवसर : सारस्वत
  • भारत-बंगलादेश ने विस्तृत आर्थिक साझेदारी पर जतायी सहमति
  • आर्टिफिशल इंटेलिजेंस से नहीं घटेंगे रोजगार के अवसर : सारस्वत
  • एसपी की हत्या में मामले दो माओवादियों को फांसी
  • अोड़िशा ने दिल्ली को 9 रन से चौंकाया
  • तकनीकी सलाहों ने बदली किसानों की तकदीर
  • भारतीय चिकित्सा परिषद् संशोधन अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी
राज्य Share

नए राजस्थान के आर्किटेक्ट बनें शिक्षक-वसुंधरा

जयपुर, 05 सितम्बर (वार्ता) राज्य की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि उन्नत, समृद्ध और प्रगतिशील राजस्थान के सपने को प्रदेश के सभी शिक्षकों के सहयोग और योगदान से पूरा किया जायेगा।
श्रीमती राजे आज यहां अमरूदों का बाग में राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को नए राजस्थान के आर्किटेक्ट बनकर अपने कन्धों पर जिम्मेदारी लेते हुए प्रदेश का भविष्य संवारने का काम करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि एक शिक्षित प्रदेश ही विकसित प्रदेश बन सकता है और यह शिक्षकों की मेहनत से ही संभव है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों की मेहनत और लगन से प्रदेश शिक्षा के क्षेत्र में आज देश में 26वें स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में सैकण्डरी बोर्ड परीक्षाओं का परिणाम वर्ष 2013-14 में 58 प्रतिशत से बढ़कर वर्ष 2017-18 में 80 प्रतिशत हो गया। इसी प्रकार 12वीं कला का परिणाम 83 से 89 प्रतिशत, 12वीं वाणिज्य का परिणाम 86 से 91 तथा 12वीं विज्ञान का परिणाम 72 से बढ़कर 87 प्रतिशत तक पहुुंच गया है।
श्रीमती राजे ने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों से प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता में भी सुधार हुआ है। 90 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की संख्या बढ़ी है और इसी का परिणाम है कि निजी स्कूलें छोड़कर बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने सरकारी स्कूलों में प्रवेश लिया है। उन्होंने कहा कि यह कोई साधारण काम नहीं था परन्तु शिक्षकों ने अपने घर से दूर रहकर भी शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने का काम किया।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के उत्थान के लिए 78 हजार से अधिक शिक्षकों की भर्ती की गयी है। वर्तमान में 87 हजार से अधिक पदों पर और भर्तियां की जा रही हैं। इसके बाद मात्र दो से तीन प्रतिशत पद ही खाली रह जाएंगे। उन्होंने शिक्षकों का आह्वान किया कि पांच साल में शिक्षा में सुधार के जो काम शुरू हुए हैं, उन्हें चालू रखें।
श्रीमती राजे ने कहा कि शिक्षा को रोजगार से जोड़ने के लिए 720 सैकंडरी और सीनियर सैकंडरी स्कूलों में 10 ट्रेड में व्यावसायिक शिक्षा के कोर्स शुरू किए गए हैं। वर्ष 2018-19 में 185 और नए स्कूलों में भी व्यावसायिक शिक्षा के कोर्स शुरू किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि बीएड और बीएसटीसी के दो लाख विद्यार्थियों को भी सरकारी स्कूलों में इंटर्नशिप के लिए लगाया गया है ताकि अच्छे शिक्षक तैयार हो सकें।
जोरा
जारी वार्ता
More News

स्कूली बस से कुचलकर छात्र की मौत

26 Sep 2018 | 6:41 PM

 Sharesee more..
लहसुन उत्पादकों के लिए विशेष योजना बनाएं  विश्वविद्यालय -राज्यपाल

लहसुन उत्पादकों के लिए विशेष योजना बनाएं विश्वविद्यालय -राज्यपाल

26 Sep 2018 | 6:35 PM

जयपुर, 26 सितम्बर(वार्ता) राजस्थान के राज्यपाल एवं कुलाधिपति कल्याण सिंह ने कृषि से जुड़े वैज्ञानिकों, प्राध्यापकों और छात्र-छात्राओं को कृषि विकास की तीन महत्वपूर्ण बातें बताई हैं। श्री सिंह ने कहा है कि स्थान विशेष की कृषि रणनीति बनाये ,कृषि विपणन का ढ़ांचा मजबूत करें और कृषि योजनाओं को किसानों तक पहुॅचायें।

 Sharesee more..
किसानों को 20 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा दिया जाए: खैहरा

किसानों को 20 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा दिया जाए: खैहरा

26 Sep 2018 | 6:32 PM

जालंधर 26 सितंबर (वार्ता) आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं हलका भुलत्थ से विधायक सुखपाल सिंह खैहरा ने बुधवार को सरकार से मांग की है कि किसानों की बाढ़ से खराब हुई फसलों के लिए 20 हजार रुपये प्रति एकड़ का मुआवजा दिया जाए।

 Sharesee more..
image