Thursday, Jan 17 2019 | Time 15:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रेस हारा, लेकिन हिम्मत नहीं: कमांडर अभिलाष टॉमी
  • पहाड़ों पर हिमपात तथा मैदानी इलाकों में मौसम खुशगवार
  • सोना रिकॉर्ड स्तर पर, चाँदी 300 रुपये टूटी
  • एनजीटी के जुर्माने के आदेश को फॉक्सवैगन ने दी चुनौती
  • तमिलनाडु में धूमधाम से आयोजित हुआ जल्लीकट्टू का खेल
  • लोकप्रिय चैनल ही अस्तित्व बचा पायेंगे: ट्राई प्रमुख
  • लोकप्रिय चैनल ही अस्तित्व बचा पायेंगे : ट्राई प्रमुख
  • लोकप्रिय चैनल ही अस्तित्व बचा पायेंगे : ट्राई प्रमुख
  • केईआई को रिटेल कारोबार में 40 प्रतिशत की वृद्धि की उम्मीद
  • दिल्ली में सुबह ठंड और कोहरा छाया रहा
  • आतंकवादी बनने कश्मीर गया युवक परिवार में लौटा
  • तीन दिवसीय गुजरात दौरे पर पहुंचे मोदी, कई कार्यक्रमाें में करेंगे शिरकत, वाइब्रेंट गुजरात का करेंगे उद्घाटन
  • ममता ने ज्योति बसु को किया याद
राज्य Share

पिता के हत्यारे को उम्रकैद की सजा

दरभंगा 05 सितम्बर (वार्ता) बिहार में दरभंगा जिले की एक सत्र अदालत ने एक पितृहंता को आज आजीवन कारावास की सजा सुनाई।
अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (पंचम) रूपेश देव की अदालत ने मामले में सजा के बिंदु पर सुनवाई करते हुए जिले के कमतौल थाना क्षेत्र के अहियारी उत्तरी गांव निवासी संजय कुमार ठाकुर को अपने ही पिता की हत्या की आरोप में भारतीय दंड विधान की धारा 302 के तहत दोषी करार देने के बाद यह सजा सुनाई है। अदालत ने पितृहंता को दस हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया जिसे नहीं देने पर तीन माह अतिरिक्त कारावास भुगतने का प्रावधान किया है।
अभियोजन पक्ष का संचालन कर रहे अपर लोक अभियोजक अमरेंद्र नारायण झा ने बताया कि 08 मार्च 2017 को दोषी ने अपने भतीजे राहुल की हत्या की कोशिश की थी। अपने पोता के साथ घट रही घटना को देखकर बचाने आए 75 वर्षीय दादा राम दयाल ठाकुर को उसके पुत्र संजय ने धक्का देकर गिरा दिया और उनकी छाती पर बैठकर गला रेत दिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।
इस दौरान बीच बचाव में आई घर की महिलाओं को भी संजय ने चाकू मारकर घायल कर दिया था। इस घटना की प्राथमिकी घायल राहुल कुमार ठाकुर की पत्नी जूही देवी के बयान पर 08 मार्च 17 को कमतौल थाने में दर्ज करायी गयी थी। अदालत ने मामले में विचारण के बाद 31 अगस्त को ही अभियुक्त को दोषी करार दिया था।
सं. सतीश सूरज
वार्ता
image