Tuesday, Apr 23 2019 | Time 07:32 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तीसरे चरण में 116 लोकसभा सीटों के लिए मतदान शुरू
  • नाइजीरिया में भीड़ के बीच घुसी गाड़ी, 11 की मौत 30 घायल
  • यमन के विद्रोहियों ने सउदी के दो जासूसी ड्रोन को मार गिराने का दावा किया
  • ईरान के रक्षा मंत्री सुरक्षा सम्मेलन में भाग लेने मॉस्को जाएंगे
  • वियतनाम के पूर्व राष्ट्रपति ली डुक अनह का निधन
  • श्रीलंका पुलिस ने हमले के मामले में पांच और संदिग्ध को किया गिरफ्तार
  • फिलीपींस में भूकंप से छह लोगों की मौत
राज्य


--

सदन में शोर शराबे के दौरान दोनों पक्षों द्वारा तेज आवाज में अपनी बात कहते रहे। इस बीच सार्वजनिक निर्माण मंत्री युनूस खां कुछ कागज लहराते दिखे जिस पर गोविंद डोटासरा ने कहा कि यह संबंधित प्रश्न नहीं है।
सरकारी सचेतक मदन राठौड ने प्रतिपक्ष के शोर शराबे के बीच कहा कि विपक्ष स्वयं प्रश्नों के प्रति गंभीर नहीं है और दोहरी रणनीति अपना कर सदन का समय जाया करना चाहते है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के इस रवैये की भर्त्सना की जानी चाहिये। सरकारी मुख्य सचेतक कालूलाल गुर्जर ने भी प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी से अपने विधायकों को शांत रहने और अनुशासन में रहने का आग्रह किया। शोर शराबे के बीच ही सत्ता पक्ष की ओर से कहा गया कि विपक्ष के इस रवैये की भर्त्सना करनी चाहिये।
शोर शराबे के बीच ही विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेधवाल ने नेता प्रतिपक्ष नेता रामेश्वर डूडी से भी पूछा कि विपक्ष प्रश्नकाल चलाना चाहता है या नही। इस पर श्री डूडी यह कहते नजर आये कि विपक्ष अपने सवालों का जवाब चाहता है और सरकार को इसे गंभीरता से लेना चाहिये।
सदन में चल रहे हंगामे के बीच श्री मेघवाल ने कहा कि सदन में अध्यक्षीय व्यवस्था पर कोई चर्चा नही की जा सकती है। उन्होंने कहा कि विपक्ष प्रश्नकाल के प्रति गंभीर नही है। लगभग बीस मिनट तक हुये हंगामे के बाद श्री मेघवाल ने प्रश्नकाल को स्थगित करने की घोषणा करते हुये कहा कि उन्हें कार्यवाही स्थगित करने का कडा अफसोस है और विपक्ष के हंगामे के कारण उन्हें यह कदम उठाना पड़ रहा है।
अजय रमेश
वार्ता
image