Tuesday, Apr 23 2019 | Time 19:32 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • त्रिवेन्द्र ने की अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना की समीक्षा
  • उप्र में 40 06 करोड़ की नगदी जब्त 52,21,366 पोस्टर्स आदि हटाये
  • केदारनाथ कस्तूरी मृग अभ्यारण्य क्षेत्र के वन पंचायतों, गांवों को मिल सकती है राहत
  • तीसरे चरण में बंगाल,त्रिपुरा,असम,गोवा और केरल में बंपर वोटिंग
  • मध्यप्रदेश के अनेक स्थानों में गर्म हवाएं, खरगोन में लू
  • आंतकवादियों की इदलिब में रासायनिक हमले की योजना
  • क्षेत्र की गरीबी व बेरोजगारी दूर करना होगी कांग्रेस की प्राथमिकता:शिवशरण
  • लोकसभा के तीसरे चरण में सात बजे तक करीब 64 प्रतिशत मतदान
  • मुंबई और दिल्ली से 28 नयी उड़ानें शुरू करेगी स्पाइसजेट
  • राजस्थान में भीषण गर्मी, पश्चिमी भारत में लू चलने का अनुमान
  • केंद्र में कांग्रेस की सरकार आने पर 22 लाख सरकारी रिक्त पदों को भरा जाएगा - राहुल
  • डेढ़ किलो हेरोइन सहित एक गिरफ्तार
  • बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण
  • बजरंग ने मंगल के दिन जीता स्वर्ण
राज्य


इलाहाबाद में गंगा-यमुना का जलस्तर घटा, लोगों ने ली राहत की सांस

इलाहाबाद में गंगा-यमुना का जलस्तर घटा, लोगों ने ली राहत की सांस

इलाहाबाद,06 सितम्बर (वार्ता) प्रयागराज में गंगा और यमुना का जलस्तर घटने से निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों ने राहत महसूस की है।

गंगा और यमुना का जल प्रयाग के कोतवाल कहे जाने वाले बड़े हनुमान का अभिषेक करने मंदिर के मुंहाने पर बुधवार को जब पहुंच गया था, तब लोगों में दो साल पहले आयी बाढ़ की परेशानियों को याद कर सिहरन पैदा होने लगी थी। अब जलस्तर कम होने से थोड़ी राहत महसूस कर रहे हैं।

लोगों का कहना है कि अभी बाढ़ के पानी को घटना नहीं कहा जा सकता। इससे पहले लगता था कि दोनो नदियों का जल हनुमान जी को स्पर्श नहीं करेंगी लेकिन देखते ही देखते हालत खराब हो गये और निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के मकानों तक में बाढ़ का पानी घुस गया। उनका कहना है कि अगर बाढ़ का पानी लगातार एक सप्ताह तक घटता रहा तब थोड़ा राहत महसूस किया जा सकता है।

पिछले सालों में आयी बाढ़ से हुई परेशानियों को यादकर लोग सिहर उठते हैं। दो साल पहले आयी बाढ़ ने उन्हें काफी दर्द दिया था। इस बार ऐसा न/न हो इसलिए भगवान से दुआ करते हैं। कृष्णा नगर निवासी सुखदेव, राम निहाेर ने बताया कि जब गंगा जी बंधवा स्थित बड़े हनुमान जी को नहला देंगी तो इस मुहल्ले के करीब दो दर्जन मकानों में पानी घुस जायेगा। निचले कुछ क्षेत्रों के मकानों में बाढ का पानी घुस गया जबकि शहर के कुछ इलाकों में बस्ती के काफी करीब बाढ़ का पानी पहुंच गया है। घाट किनारे दर्जनों दुकानदारों, तीर्थपुरोहितों और घाटियों ने अपना सामान समेट कर बंधा पर रखा था।

एक तरफ जहां लोग बाढ़ की कल्पना से सिहर रहे हैं वहीं लोग मंदिर के करीब पानी आने से उसके पास की सडकों पर सेल्फी का आनंद उठा रहे हैं। सड़क पर खड़े होकर सेल्फ ले रहे युगल दीपक और मनोरमा ने बताया कि हम हनुमान जी का दर्शन करने आये थे। पार्क में पेडों के बीच पानी भरा मनोरम दृश्य देखकर एक सेल्फी लेने से वह अपने को रोक नहीं पाये।

बक्शीबांध, ढ़रहरिया, कैलशपुरी, छोटा बघाड़ा बड़ा बघाड़ा और सलोरी आदि क्षेत्रों में बाढ़ का पानी सडकों पर आने से कीचड़ भरा है जिससे लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है।

दिनेश प्रदीप

जारी वार्ता

image