Monday, Jul 15 2019 | Time 23:29 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सेल्फी लेने के चक्कर में छात्र की डूबकर मौत
  • सड़क दुर्घटना में युवती की मौत
  • कैनरा बैंक की शाखा से साढ़े तीन लाख की लूट, एक गिरफ्तार
  • पीएचईडी का जिला कॉर्डिनेटर रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार
  • नहीं रहे जाने-माने पत्रकार बादल सान्याल
  • सफेदपोश अपराधियों से सख्ती से निपटें : रघुवर
  • उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर
  • उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर
  • सड़कों की खुदाई एवं साफ सफाई को लेकर हाईकोर्ट सख्त
  • बिहार में बंद पड़ी 12 चीनी मिलों की जमीन बियाडा को शीघ्र : सुशील
  • लखनऊ में सड़को की खुदाई एवं साफ-सफाई को लेकर हाईकोर्ट सख्त
  • उप्र में लखनऊ ,मेरठ समेत कई स्थानों पर बारिश
  • बिहार में फिल्म ‘सुपर-30’ हुआ टैक्स फ्री
  • दौसा जिले में किसान फिर आंदोलन की राह पर
  • फीस वृद्धि के विरोध में छात्रों ने खट्टर की गाड़ी रोकने का प्रयास किया
राज्य


अजमेर में पानी की कटौती के विरोध में कांग्रेसियों का प्रदर्शन

अजमेर, 06 सितम्बर(वार्ता) राजस्थान में अजमेर शहर में तीन से चार दिन के अन्तराल से हो रही जलापूर्ति के बावजूद जलदाय विभाग द्वारा शहर में आगामी एक अक्टूबर से पचास प्रतिशत पानी की कटौती के विरोध में आज अजमेर शहर कांग्रेस कमेटी की ओर से प्रदर्शन किया गया।
कांग्रेसियों ने जयपुर को दिए जाने वाले पानी में कटौती की मांग करते हुए अजमेर में नियमित आपूर्ति की मांग की । शहर अध्यक्ष विजय जैन की अगुवाई में बड़ी संख्या में कांग्रेसी टोडरमल मार्ग स्थित जलभवन पर पहुंचे और बीसलपुर बांध से पानी की कटौती के विरोध में जमकर नारेबाजी की और भाजपा सरकार को कोसा। श्री जैन ने कहा कि बीसलपुर बांध के पानी पर अजमेर जिले की जनता का हक है। यह योजना केवल अजमेर के लिए बनाई गई थी और आज बीसलपुर बांध में 309 एम.एल. टी. पानी मौजूद हैं। इसके बावजूद जलदाय विभाग अजमेर शहर से सौतेला व्यवहार करते हुए पहले ही नियमित पानी सप्लाई नहीं कर रहा और अब पचास प्रतिशत कटौती की और घोषणा कर दी गई है।
प्रदेश सचिव महेंद्र सिंह रलावता ने कहा कि अजमेर जिले को भाजपा सरकार में प्रयाप्त प्रतिनिधित्व होने के बावजूद वे उपेक्षा का शिकार हैं। शहर के दोनों मंत्री वासुदेव देवनानी एवं अनिता भदेल के रहते शहर के पानी का हक छिनना उनका निकम्मापन है। श्री रलावता ने दोनों मंत्रियों को निकम्मा करार दिया। पूर्व सूचना के बावजूद जलभवन पर ज्ञापन लेने उच्च अभियंताओं के अनुपस्थित रहने के कारण कांग्रेसियों ने ज्ञापन को मीडिया के समक्ष अभियंता कार्यालय के बाहर चस्पा कर दिया।
गौरतलब है कि बीसलपुर बांध परियोजना प्रारंभ में अजमेर के लिए ही बनाई गई थी बाद में जयपुर और अन्य स्थानों को भी इससे पानी दिया जाने लगा।
सं सैनी
वार्ता
More News
ईडी शारदा चिट फंड घोटाले में छह लोगों को समन

ईडी शारदा चिट फंड घोटाले में छह लोगों को समन

15 Jul 2019 | 11:27 PM

कोलकाता 15 जुलाई (वार्ता) प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शारदा चिट फंड घोटाला मामले में तृणमूल कांग्रेस सांसद शताब्दी रॉय और कुणाल घोष सहित छह व्यक्तियों को जांच अधिकारियों के समक्ष पेश होने का समन जारी किया है।

see more..
image