Wednesday, Nov 14 2018 | Time 20:42 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नेहरू स्टेडियम में 18 साल के एथलीट ने की आत्महत्या
  • विकास के मुद्दे पर 2019 का चुनाव लड़ेगी भाजपा: मौर्य
  • उप्र में निवेश की असीम संभावनायें: मुख्य सचिव
  • बागेश्वर में आतंक का पर्याय बना आदमखोर तेंदुआ मारा गया
  • कीटनाशक की गंध से युवती की मौत
  • गुजरात सरकार ने 200 करोड़ से अधिक के विनय शाह घोटाले की जांच के आदेश दिये
  • फोटो कैप्शन-पहला सेट
  • जूनागढ मेले के लिए चलेंगी अतिरिक्त ट्रेनें
  • हरियाणा रोडवेज की बस ने बच्चे को कुचला,मौत
  • पहली बार जॉर्डन से भिड़ेगा भारत
  • कार चालक ने चलती कार से नर्स को फेंका, नर्स की मौत
  • मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की चेतावनी
  • जूनागढ़ के मेले के दौरान चलेंगी अतिरिक्त ट्रेनें
  • अपने ही कार्यालय के सेवानिवृत्त क्लर्क से रिश्वत मांगने वाला इंजीनियर गिरफ्तार
  • चलती कार से चालक ने नर्स को फेंक की हत्या
राज्य Share

अशोकनगर में बंद के दौरान तीन घंटे बाधित रहा रेलवे ट्रेक

अशोकनगर, 06 सितंबर (वार्ता) अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम में संशोधन के विरोध में सवर्णों द्वारा आज आयोजित भारत बंद के दौरान मध्यप्रदेश के अशोकनगर जिले में प्रदर्शनकारियों ने बीना कोटा रेलवे ट्रेक को ब्लॉक कर दिया। प्रशासन की लंबी समझाइश के बाद तीन घंटे बाद वह खुल पाया।
जिले के शाढ़ौरा स्टेशन के रेलवे ट्रेक पर सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे हजारों की संख्या में बंद समर्थक प्रदर्शनकारी जुट गए और रेलवे ट्रेक ब्लॉक कर दिया। इस दौरान बीना से गुना के बीच अलग-अलग स्टेशनो पर करीब दर्जन भर यात्री और मालगाड़ियां रुकी रहीं।
प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए गुना सहित अशोकनगर जिला मुख्यालय से भारी मात्रा में पुलिस बल बुलाया गया था।
वहीं, अशोकनगर में भी बंद के दौरान रैली निकालने को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों और बंद समर्थकों के बीच तीखी नोकझोक हुई। बंद समर्थक ज्ञापन देने के लिए रैली निकालकर कलक्टोरेट जाना चाहते थे, वहीं प्रशासन धारा 144 लागू होने के कारण उनको रैली नहीं निकालने दे रहा था। इसके चलते बंद समर्थक भड़क गए और प्रशासनिक अधिकारियों से बहस के बाद रैली निकाल कर ही माने।
प्रदर्शनकारी रैली निकालते हुए गांधी पार्क पहुंचे और एसडीएम नीलेश शर्मा को ज्ञापन दिया। प्रशासनिक अधिकारियों से हुई तकरार का गुस्सा बंद समर्थकों ने नेताओं के बैनर पोस्टर पर उतारा और नेताओं को फोटो वाले बैनर-पोस्टर फाड़ दिए।
सं सुधीर
वार्ता
More News
सशस्त्र सेना का राजनीतिकरण किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण :अमरिंदर

सशस्त्र सेना का राजनीतिकरण किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण :अमरिंदर

14 Nov 2018 | 8:34 PM

चंडीगढ़, 14 नवम्बर (वार्ता ) पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा है कि रक्षा सेनाओं का राजनीतिकरण नहीं किया जाये क्योंकि सशस्त्र सेना रेजिमेंटल प्रमुखों के प्रति जवाबदेह होती है ।

 Sharesee more..

बंंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका खारिज

14 Nov 2018 | 8:25 PM

 Sharesee more..
image