Saturday, Nov 17 2018 | Time 20:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सबरीमला में तनाव के बीच श्रद्धालुओं का सालाना व्रत शुरू
  • बस की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत
  • संसद अखाड़े जैसा, लोकतांत्रिक संस्थाएं कर रही है विश्वसनीयता की कमी का सामना - पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी
  • झारखंड के मूल निवासियों का हक छीन रही रघुवर सरकार : हेमंत
  • अमित शाह ने रोड शो कर भाजपा प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट
  • अमित शाह ने रोड शो कर भाजपा प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट
  • सोनिया और रानी पिंकी प्री क्वार्टरफाइनल में
  • सोनिया और रानी पिंकी प्री क्वार्टरफाइनल में
  • दानापुर नगर परिषद् के प्रमुख सहायक रिश्वत लेते गिरफ्तार
  • राष्ट्रवादी कांग्रेस की छत्तीसगढ़ इकाई के अध्यक्ष कांग्रेस में शामिल
  • राष्ट्रवादी कांग्रेस की छत्तीसगढ़ इकाई के अध्यक्ष कांग्रेस में शामिल
  • घायल शेर शावक की मौत
  • हरमोहन धवन अब जाएंगे आप में, बोले भाजपा ने जलील किया
  • कश्मीर में प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियाें नि:शुल्क कोचिंग
  • सिग्नेचर ब्रिज मामले में अमानतुल्ला खां को अग्रिम जमानत
राज्य Share

रायपुर में बंद का मिला जुला असर

रायपुर, 06 सितंबर (वार्ता) अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम में संशोधन के विरोध में सवर्णों द्वारा आज आयोजित भारत बंद का छत्तीसगढ़ की राजधानी में मिला-जुला असर देखने को मिला है।
रायपुर में कुछ पेट्रोल पंप बंद थे, तो कुछ खुले। मुख्य बाजार में दुकानें कहीं पर बंद रहीं, तो कहीं पर खुली रहीं। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुलिस की व्यवस्था की गई थी। सवर्ण संगठनों ने शहर के कुछ हिस्से में नए कानून का विरोध किया और जातिगत नहीं बल्कि आर्थिक आधार पर आरक्षण की वकालत की।
शहर के तात्यापारा चौक पर इकट्ठा हुए सवर्णों ने नए कानून का विरोध किया। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय का फैसला स्वागत योग्य था। इसे पलटकर कानून बनाकर सरकार ने सवर्णों और पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। आए दिन झूठे मुकदमों में सवर्ण पिसता है।
आरक्षण का विरोध करते हुए लोगों ने कहा कि इसे जाति के आधार पर देने की बजाय आर्थिक आधार पर देना चाहिए। कई लोग आरक्षण पाकर सशक्त बन जाते हैं। बावजूद इसके उनके बच्चों को भी आरक्षण मिलता है। इस मौके पर पूर्व पार्षद ज्ञानेंद्र शर्मा, स्वप्निल मिश्रा समेत कई लोग मौजूद थे। इन्होंने सांकेतिक गिरफ्तारी भी दी।
छत्तीसगढ़ सर्वहित संघ ने रायपुर सांसद रमेश बैस को ज्ञापन सौंपकर उच्चतम न्यायालय के आदेश को पूर्ववत रखने की मांग की है।
संघ ने कहा कि सामाजिक न्याय के नाम पर ऐसी व्यवस्था दी गई है कि इसका कुछ ही लोग कई पीढ़ियों तक दोहन कर रहे हैं। योग्यता अभिशाप बन चुकी है और देश से पलायन करने पर मजबूर हैं। संघ के अध्यक्ष विवेक अवस्थी, आशीष अग्निहोत्री, पूर्णिमा सक्सेना समेत कई लोग मौजूद थे।
सुरेंद्र सुधीर
वार्ता
More News

महिलाओं पर टिप्पणी करने वालों का नहीं हो सकता भला: शिवराज

17 Nov 2018 | 8:36 PM

नीमच, 17 नवंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की महिलाओं पर की गयी टिप्पणी को लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को आड़े हाथों लेते हुए आज कहा कि उनका अपमान करने वालों का भला नहीं हो सकता।

 Sharesee more..
खरखौदा में बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा फुटवियर पार्क

खरखौदा में बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा फुटवियर पार्क

17 Nov 2018 | 8:36 PM

रोहतक, 17 नवम्बर(वार्ता) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज कहा कि खरखौदा में दुनिया का सबसे बड़ा फुटवियर पार्क विकसित किया जाएगा जिसमें पांच एकड़ क्षेत्र में फुटवियर कौशल विकास केंद्र भी स्थापित किया जाएगा ताकि इसमें प्रशिक्षण हासिल करने वालों को तुरंत रोजगार मिल सके।

 Sharesee more..
अमित शाह ने..रोड शो.. कर भाजपा प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट

अमित शाह ने..रोड शो.. कर भाजपा प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट

17 Nov 2018 | 8:32 PM

रायपुर 17 नवम्बर(वार्ता) भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने आज शाम राजधानी में रोड शो कर भाजपा प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे।

 Sharesee more..

बस की चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

17 Nov 2018 | 8:32 PM

 Sharesee more..
image