Saturday, Jul 20 2019 | Time 08:52 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 21 जुलाई)
  • विदेश सचिव ने टैंकर जब्त करने को लेकर आपात बैठक बुलाई
  • चीन के गैस फैक्ट्री में विस्फोट,10 की मौत,19 घायल
  • अमेरिकी सेना की मेजबानी करने को तैयार सऊदी किंग
  • हंट ने ईरान को टैंकर मामले पर चेताया
  • आतंकवादी ने किया पुलिस टीम पर हमला, एक की मौत
  • अदालत से सम्मन मिलने के बाद कोसोवो के प्रधानमंत्री ने इस्तीफा दिया
  • बिना शर्त ईरान से बातचीत को तैयार : पोंपियो
  • चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता भाजपा में आएंगे : पाटिल
राज्य


मनरेगा में घटते घटते मानव दिवसों पर कैसा गर्व-पायलट

जयपुर, 06 सितम्बर(वार्ता) राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से सवाल किया कि मनरेगा में साल दर साल घटते मानव दिवस और बढ़ते अधूरे कार्यों से कमजोर होती ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर क्या आप गौरव महसूस करती हैं।
श्रीमती राजे की गौरव यात्रा के औचित्य को लेकर सवालों की कड़ी में श्री पायलट ने आज अट्ठारहवा सवाज पुछते हुये कहा कि पायलट ने कहा कि वर्ष 2013 में भाजपा के सत्तारूढ़ होते ही केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर नरेगा कानून का न केवल विरोध किया गया था वरन कानून को कमजोर करने के लिए उसे योजना में परिवर्तित करने की अभिशंषा भी की गई थी। यह मुख्यमंत्री की मनरेगा के तहत रोजगार के अधिकार कानून को कमजोर बनाने का सबसे बड़ा उदाहरण है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों से मनरेगा में सौ दिन का रोजगार पूरा करने वाले परिवारों की संख्या में गिरावट आ रही है, जहॉं 2015-16 में ऐसे परिवार 4.68 लाख थे, वही 2016-17 में 4.27 लाख एवं 2017-18 में केवल 2.28 लाख परिवार ही ऐसे थे जिन्हें सौ दिन रोजगार मिला।
उन्होंने कहा कि नहीं मनरेगा में शुरू किए गए ग्रामीण विकास के कामों को पूरा करने के मामले में सरकार ने लापरवाही बरती है जिसका परिणाम यह है कि 2015-16 में जहॉं कार्य पूर्ण करने की दर 95 प्रतिशत थी वहीं 2016-17 में यह दर 47 प्रतिशत रह गई और 2017-18 में तो मात्र 18 प्रतिशत काम ही पूरे हो पाये हैं। उन्होंने कहा कि आज स्थिति यह है कि प्रदेश में 2.55 लाख कार्य स्वीकृत होने के बावजूद अब तक प्रारम्भ नहीं हो पाये हैं, वहीं 4.79 लाख ग्रामीण विकास कार्य या तो निलम्बित कर दिये गये हैं या प्रक्रिया में उलझ रहे हैं।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार की नाकामी और केन्द्र की राजग सरकार की राजस्थान के प्रति भेदभावपूर्ण नीति के कारण हर वर्ष बकाया भुगतान बढ़ रहा है जिसका एक उदाहरण यह है कि चालू वर्ष 2018-19 में प्रथम पांच महिनों में ही विलम्बित भुगतान राशि 340 करोड़ रूपये हो गई है। उन्होंने कहा कि सरकार की मनरेगा विरोधी सोच के कारण ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सम्बल देने वाले महत्वपूर्ण कानून के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बतायें कि क्या उनकी इस सोच से प्रदेश का गौरव बढ़ा है।
सैनी
वार्ता
More News
प्रियंका का ‘हठ योग’ मृत प्राय. कांग्रेस को दिला सकता है संजीवनी

प्रियंका का ‘हठ योग’ मृत प्राय. कांग्रेस को दिला सकता है संजीवनी

19 Jul 2019 | 11:50 PM

लखनऊ 19 जुलाई (वार्ता) चंद महीने पहले सक्रिय राजनीति में पदार्पण करने वाली कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लोकसभा चुनाव में संख्या बल के लिहाज से भले ही आशानुरूप प्रदर्शन न कर सकी हो लेकिन उत्‍तर प्रदेश की राजनीति के दूसरे स्पेल में उन्होने शुक्रवार को ‘हठ योग’ की बदौलत कानून व्यवस्था के मामले में बहुमत की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार का प्रभावी तरीके से मुकाबला कर हाशिये पर पड़ी पार्टी में उम्मीद की किरण जगा दी है।

see more..
कामत गोवा विस में विपक्ष के नेता

कामत गोवा विस में विपक्ष के नेता

20 Jul 2019 | 12:00 AM

पणजी 19 जुलाई (वार्ता) गोवा विधानसभा अध्यक्ष राजेश पाटनेकर ने मडगांव विधायक एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिगम्बर कामत को शुक्रवार को विपक्ष के नेता के रूप में मान्यता दे दी।

see more..
image