Wednesday, Sep 26 2018 | Time 15:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सायना और परूपल्ली करेंगे विवाह
  • चीनी मिलाें के लिए 5538 करोड़ रुपये के पैकेज को मंजूरी
  • आधार पर न्यायालय का फैसला हमारी जीत : कांग्रेस
  • मजदूरों की मदद वाला उपकरण बनाने वाले छात्र सम्मानित
  • बंगाल में भाजपा के बंद से जनजीवन प्रभावित
  • माडल टाउन मामले में नवाज शरीफ को तलब करने की याचिका खारिज
  • अफगानिस्तान से टाई हम नहीं भूल पाएंगे: राहुल
  • हाउसिंग सोसायटी घोटाला मामले में पाकिस्तान के पूर्व मुख्य न्यायाधीश का दामाद गिरफ्तार
  • लिबर्टी ने लांच किया परफ्यूम
  • उड़ान के दौरान विमान में शिशु की मौत
  • सायना आसान जीत से दूसरे दौर में
  • सायना आसान जीत से दूसरे दौर में
  • ई टेंडरिंग मामले से संबंधित जनहित याचिका खारिज
  • तेलंगाना की पूर्व मंत्री कांग्रेस में शामिल
  • ममता ने दी मनमोहन को जन्म दिन की बधाई
राज्य Share

हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह को भेजा अवमानना नोटिस

हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह को भेजा अवमानना नोटिस

नैनीताल 06 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड उच्च न्यायालय में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा की अध्यक्षता वाली पीठ ने राज्य के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह को अवमानना नोटिस जारी किया है।

पीठ ने मुख्य सचिव से पूछा है कि अदालत के निर्देशों का जानबूझकर पालन न करने के मामले में क्यों न आपके खिलाफ अवमानना की कार्यवाही अमल में लायी जाए। इसके साथ ही अदालत ने मुख्य सचिव को 48 घंटे के अंदर प्रदेश के संघ लोक सेवा आयोग को प्रस्ताव भेजने के भी निर्देश दिये हैं।

पीठ ने गुरुवार को जारी आदेश में न्यायालय के रजिस्ट्री कार्यालय को मुख्य सचिव को नोटिस जारी करने को कहा है। दरअसल पीठ ने याचिकाकर्ता रवीन्द्र सिंह नयाल की याचिका की सुनवाई करते हुए विगत 28 अगस्त को मुख्य सचिव को निर्देशित किया था कि वह 48 घंटे के अंदर सम्बद्ध मामले में उत्तराखंड के संघ लोक सेवा आयोग को प्रस्ताव भेजे लेकिन पीठ ने अपने आदेश में कहा कि मुख्य सचिव ने कोर्ट के निर्देशों का पालन नहीं किया है।

इसके साथ ही पीठ ने यह भी कहा कि आयोग ने मुख्य सचिव को 24 अप्रैल 2018, 31 जुलाई 2018 एवं सात अगस्त 2018 को तीन बार पत्र लिखा है लेकिन मुख्य सचिव की ओर से सम्बद्ध मामले में कोई कार्यवाही नहीं की गयी। अदालत ने कहा कि प्रदेश के मुख्य सचिव की ओर से मामले को लोक सेवा आयोग के बजाय उत्तर प्रदेश सरकार को भेज दिया गया।

अदालत ने इसे गंभीर माना और मुख्य सचिव को इस मामले में जवाब देने को कहा है। अदालत ने मुख्य सचिव को निर्देशित किया है कि संघ लोक सेवा आयोेग को 48 घंटे के अंदर प्रस्ताव भेजा जाए। साथ ही संघ लोक सेवा आयोग को भी निर्देश दिया कि सरकार से प्रस्ताव मिलने के बाद उस पर दो सप्ताह में आवश्यक कार्यवाही अमल में लायें। मामले में अगली सुनवाई दस सितम्बर को होगी।

रवीन्द्र, उप्रेती

वार्ता

More News
ई टेंडरिंग मामले से संबंधित जनहित याचिका खारिज

ई टेंडरिंग मामले से संबंधित जनहित याचिका खारिज

26 Sep 2018 | 3:52 PM

जबलपुर, 26 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय ने राज्य के कथित ई टेंडरिंग घोटाले से संबंधित जनहित याचिका को आज राजनीति से राजनीति से प्रेरित बताते हुए खारिज कर दिया।

 Sharesee more..
प्रकृति ,संस्कृति और परम्पराओं के अनुकूल हो स्मार्ट शहर -उपराष्ट्रपति

प्रकृति ,संस्कृति और परम्पराओं के अनुकूल हो स्मार्ट शहर -उपराष्ट्रपति

26 Sep 2018 | 3:39 PM

जयपुर ,26 सितम्बर(वार्ता) उपराष्ट्रपति एम वैंकया नायडु ने कहा है कि बढ़ते शहरीकरण के दवाब के कारण हमारे बेहतर भविष्य के लिए स्मार्ट सिटी प्रकृति,संस्कृति और परम्पराओं के अनुकूल हाेने के साथ ही इनमें शहरी अपशिष्ट के प्रबंधन का पर्याप्त बंदोबस्त होना चाहिए।

 Sharesee more..
image