Tuesday, Feb 19 2019 | Time 15:59 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सिख युवकों की हत्या के जिम्मेवार पुलिस अधिकारियों पर मामला दर्ज किया जाये: बलदेव सिंह
  • झाविमो को सम्मान नहीं मिला तो गठबंधन की होगी हार : बाबूलाल
  • रोजगार को प्राथमिकता देने वाले निवेश को देंगे प्रोत्साहन : कमलनाथ
  • राष्ट्र ध्वज के प्रति प्रतिज्ञा न लेने वाला छात्र गिरफ्तार
  • ए320 विमान पर सफल रहा टैक्सीबोट का परीक्षण
  • चार साल में बदली रेलवे की सूरत और सीरत : मोदी
  • कंफर्मटिकट ऐप अब गूगल प्ले स्टोर इंस्टेंट ऐप के रूप में
  • केरल टूरिज्म की नयी कैंपेन फिल्म ‘ह्यूमैन बाई नेचर’ रिलीज
  • खराब स्वास्थ्य की वजह से ईडी के समक्ष नहीं पेश हो सके वाड्रा
  • मंदसौर गोलीकांड में किसी को भी क्लीन चिट नहीं : गृह मंत्री
  • रेलयात्री ने शुरू की स्मार्ट बस सेवा
  • एससी/एसटी अत्याचार निवारण कानून मामले में 26 मार्च को सुनवाई
  • माघी पूर्णिमा पर लोगों ने लगायी आस्था की डुबकी
  • स्टार्टअप को मिलेगी आयकर में छूट
राज्य Share

सिद्धू ने जारी की कोटकपुरा फायरिंग की सीसीटीवी फुटेज, शिअद ने कहा, “आरोप सिद्ध करके दिखाएं“

चंडीगढ़, 06 सितंबर (वार्ता) पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने 2015 में धार्मिक बेअदबी की घटनाओं के बाद कोटकपुरा में पुलिस फायरिंग की घटना का सीसीटीवी फुटेज जारी करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का नाम प्राथमिकी में शामिल करने की मांग की जबकि शिरोमणि अकाली दल ने उन्हें आरोप सिद्ध करने की चुनौती दी।
शिअद ने यहां जारी बययययान में श्री सिद्धू की ‘हरकत‘ को अवसरवादी और शरारती राजनीति का उदाहरण करार देते हुए कहा कि यदि उनके आरोपों में जरा भी सच्चाई है तो प्रमाण पेश करें।
शिअद नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि श्री सिद्धू वह साबित करने की कोशिश कर रहे हैं जो रंजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट में भी नहीं है। श्री मजीठिया ने कहा कि रिपोर्ट में पृष्ठ क्रमांक 50 पर लिखा है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री ने फरीदकोट जिला प्रशासन को निर्देश दिया था कि कोटकपुरा में जमा भीड़ की स्थिति को संवेदनशीलता से संभाला जाये और कोई जान मालहानि न होने दी जाये।
महेश विक्रम
वार्ता
image