Saturday, Jan 19 2019 | Time 14:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कश्मीर में बर्फ़बारी से यातायात प्रभावित, लेह हाईवे बंद
  • कार्यकर्ताओं पर हार का ठीकरा फोड़ने पर भूपेश ने भाजपा पर कसा तंज
  • बक्सर में ट्रक से भारी मात्रा में विदेशी शराब बरामद
  • उत्तरी अफगानिस्तान में आईएस का शीर्ष कमांडर गिरफ्तार
  • दिल्ली में धुंध से राहत, खिली धूप
  • कर्नाटक में एक सप्ताह बाद लौटे भाजपा विधायक
  • बाबुल सुप्रियो का तृणमूल कांग्रेस की विशाल रैली पर कटाक्ष
  • कमजोर लोगों पर हमला करता है डिमेंशिया
  • ठेके पर शिक्षकों की नियुक्ति का प्रस्ताव नहीं हो सका पारित
  • कोलकाता में ‘पाखंड शो’: बाबुल सुप्रियो
  • श्रीनगर हवाई अड्डे पर उड़ानें बाधित
  • लद्दाख में हिमस्खलन में मरने वालों की संख्या पांच हुई
  • कुम्भ के लिये सात हजार क्यूसेक जल का अतिरिक्त प्रवाह
  • दक्षिण भारत पर हमले की साजिश नाकाम, तीन गिरफ्तार
  • अमेरिका, उत्तर कोरिया के बीच कार्यकारी स्तर की ‘सार्थक’ बैठक
राज्य Share

एस.मोहिन्दर ने ठुकरा दिया था मधुबाला का विवाह प्रस्ताव

..जन्मदिवस 08 सितम्बर के अवसर पर ..
मुंबई 07 सितंबर(वार्ता) बीते जमाने के मशहूर संगीतकार एस.मोहिन्दर को एक बार बेपनाह हुस्न की मल्लिका मधुबाला से शादी का प्रस्ताव मिला था जिन्हें उन्हें ठुकरा दिया था।
एस.मोहिन्दर मूल नाम मोहिन्दर सिंह सरना का जन्म अविभाजित पंजाब में मोंटगोमरी जिले के सिलनवाला गांव में 08 सितम्बर 1925 को एक सिख परिवार में हुआ। मोहिन्दर के पिता सुजान सिंह बख्शी पुलिस में सब इंस्पेक्टर थे। उनके पिता बांसुरी बहुत अच्छी बजाते थे जिसे वह बेहद प्यार से सुना करते थे1बचपन के दिनो से ही मोहिन्दर का रूझान संगीत की ओर हो गया था।
वर्ष 1935 में मोहन्दर ने गायक संत सुजान सिंह से शास्त्रीय संगीत की शिक्षा लेनी शुरू की। बाद में उन्होंने संगीतज्ञ भाई समुंद सिंह से शास्त्रीय संगीत की शिक्षा ली। मोहिन्दर ने महान शास्त्रीय गायक बड़े गुलाम अली खां और लक्ष्मण दास से भी शास्त्रीय संगीत की शिक्षा ग्रहण की थी। मोहिन्दर के पिता का लगतार तबादला हुआ करता था जिसके कारण उनकी पढ़ाई काफी प्रभवित हुआ करती थी। चालीस के दशक के प्रारंभ में उनका दाखिला अमृतसर जिले के कैरों गांव में खालसा हाई स्कूल में करा दिया गया।
वर्ष 1947 में देश का विभाजन होने पर उनका परिवार तो भारत में पूर्वी पंजाब चला गया लेकिन संगीत के प्रति रूझान के कारण मोहिन्दर बनारस आ गये जहां उन्होंने दो साल तक शास्त्रीय संगीत की शिक्षा ली। शुरूआती दौर में मोहिन्दर पार्श्वगायक बनना चाहते थे। कुछ वर्ष तक वह लाहौर रेडियो स्टेशन से भी गायक के तौर पर काम किया इसी दौरान उनकी मुलाकात सुरैया से हुयी जिन्होंने उन्हें मुंबई आने का न्यौता दिया। मुंबई आने पर मोहिन्दर की मुलाकात जानेमाने संगीतकार खेमचंद्र प्रकाश से हुयी।
प्रेम टंडन
जारी वार्ता
More News
कर्नाटक में एक सप्ताह बाद लौटे भाजपा विधायक

कर्नाटक में एक सप्ताह बाद लौटे भाजपा विधायक

19 Jan 2019 | 2:10 PM

बेंगलुरु, 19 जनवरी (वार्ता) कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सभी 104 विधायक सप्ताहभर के हरियाणा के गुरुग्राम में प्रवास के बाद राज्य लौट आये हैं।

 Sharesee more..
कार के ट्रक से टकराने से चार लोगों की मौत

कार के ट्रक से टकराने से चार लोगों की मौत

19 Jan 2019 | 2:03 PM

बीकानेर, 19 जनवरी (वार्ता) राजस्थान में बीकानेर जिले के नोखा थाना क्षेत्र में कल देर रात एक कार के ट्रक से टकराने से चार लोगों की मौत हो गई।

 Sharesee more..
image