Wednesday, Jul 17 2019 | Time 17:53 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लखनऊ राजभवन में स्वामी विवेकानन्द की मूर्ति का अनावरण
  • कृष की इच्छामृत्यु के मांग मामले की भागलपुर जिला प्रशासन ने कराई जांच
  • शास्त्री बने रह सकते हैं टीम इंडिया के कोच
  • शेयर बाजार में तीसरे दिन तेजी जारी
  • ट्रेन से कटकर युवती की मौत
  • डिश टीवी ने बुजुर्गों के लिए शुरू की ‘आयुष्मान एक्टिव’ सेवा
  • सोनभद्र में जमीनी विवाद में गोलीबारी, तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत
  • इलाहाबाद -दीनदयाल उपाध्याय जं के बीच बिछेगी तीसरी पटरी
  • चिकित्सा परिषद् की जगह राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग के गठन पर मंत्रिमंडल की मुहर
  • हाईकोर्ट ने राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, जिलाधिकारी से मांगा जवाब
  • एनआईए के दुरुपयोग की आशंका जतायी विपक्ष ने
  • विश्वास मत का समर्थन करेंगे या नहीं, इस फैसला अभी नहीं: बसपा विधायक
  • बेबी ने किया पुस्तक, एक लघु डाक्यूमेंट्री फिल्म का विमोचन
  • कुलदीप बिश्नोई ने सरकार पर लगाया आदमपुर से भेदभाव करने का आरोप
  • सोनभद्र में जमीनी विवाद में गोलीबारी, तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत
राज्य


-----

लगभग पन्द्रह मिनट तक सदन में हुये शोर गुल और हंगामे के कारण कुछ भी सुनाई नहीं दिया। प्रतिपक्ष की ओर से लगातार पेट्रोल के दाम कम करो भई कम कराे और महंगायी पर अंकुश लगाओं के नारे लगाये जाते रहे वहीं सत्ता पक्ष की ओर से प्रतिपक्ष विशेषकर कांग्रेस के इस व्यवहार को निंदनीय बताते हुये अध्यक्ष से इनके खिलाफ कार्यवाही की मांग की जाती रही।
सत्ता पक्ष की ओर से गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया, संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़, उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने विपक्ष पर हंगामा करने का आरोप लगाते हुये कहा गया कि विपक्ष जानबूझकर हंगामा करना चाहता है और अपने
स्वार्थ के लिये सदन की कार्यवाही में बाधा डाल रहा है। श्री राठौड़ ने कहा कि विपक्ष के इस व्यवहार ने राजस्थान के इतिहास को कलंकित कर दिया है। वही सरकारी सचेतक मदन राठौड़ ने अध्यक्ष से आग्रह किया कि वह विपक्ष से इस संबंध में प्रस्ताव ले ले और सरकार उस पर जवाब देने को तैयार है।
सरकारी सचेतक मदन राठौड़ ने कहा कि विपक्ष ने कल प्रश्नों को अप्रसांगिक करने के मुद्दे को लेकर प्रश्नकाल में कार्यवाही नहीं होने दी और आज सदन उनसे प्रश्न करने के लिए कह रहा है तो भी वह हंगामा कर रहे हैं। सदन में कांग्रेस के सदस्यों के शोर शराबे के बीच ही चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री काली चरण सराफ ने निर्दलीय विधायक नंद किशोर महरिया के प्रश्न का जवाब दिया जो शोरगुल में सुनाई नहीं दिया।
सदन में लगातार हो रहे शोरगुल और हंगामे के बाद विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने विपक्ष के आचरण को सदन की गरिमा के अनुकूल नहीं होने और कार्यवाही में बाधा डालने वाला बताते हुये सदन की कार्यवाही बारह बजे तक स्थगित कर दी ।
अजय मनोज
वार्ता
image