Thursday, Sep 20 2018 | Time 13:18 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोटरसाइकिल की डिक्की से चार लाख की चोरी
  • फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम
  • कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पिटाई मामले में एएसपी जांच तक हटे
  • कांग्रेस की सरकार बनते ही 'राम वन गमन पथ' बनाने की घोषणा
  • स्कूल बस और कार की टक्कर में दोनों चालक घायल
  • बंद रहे शेयर और मुद्रा बाजार
  • कांग्रेस का आचरण लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं : शिवराज
  • गुलशन कुमार का किरदार निभायेंगे आमिर खान
  • गुलशन कुमार का किरदार निभायेंगे आमिर खान
  • बत्ती गुल मीटर चालू की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये शाहिद कपूर
  • पाकिस्तान के साथ संबंध प्रगाढ़ : जिनपिंग
  • बत्ती गुल मीटर चालू की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये शाहिद कपूर
  • शरद ने सफाई कर्मचारियों की मौत पर उठाये सवाल
  • भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या
  • भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या
राज्य Share

पेयजल एवं सिंचाई के बाद ही उद्योगों को हो जल का आवंटन- मुख्य सचिव

रायपुर 07 सितम्बर(वार्ता)छत्तीसगढ़ के मुंख्य सचिव अजय सिंह ने पेयजल की आपूर्ति, सिंचाई के लिए जल आपूर्ति के बाद ही औद्योगिक प्रयोजनों के लिए नदियों का पानी आवंटित किये जाने के निर्देश दिये है।
श्री सिंह ने राज्य जल संसाधन उपयोग समिति की 45वीं बैठक में कल अधिकारियों को यह निर्देश दिया।बैठक में राज्य की विभिन्न नदियों से पेयजल, निस्तार एवं औद्योगिक प्रयोजन के लिए विभिन्न शहरों एवं उद्योगों को जल आबंटन एवं जल प्रदाय किये जाने के प्रस्तावों पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया।
बैठक में समिति के समक्ष पेयजल प्रदाय एवं औद्योगिक प्रयोजन के कुल 11 प्रस्ताव रखे गए। समिति ने नौ प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान की। दो प्रस्ताव विभिन्न कारणों से लंबित रखे गए हैं। मुख्य सचिव ने इन दोनों प्रस्तावों के विषय में आवश्यक परीक्षण करने के निर्देश दिए है।
समिति में सूरजपुर जिले के भैयाथान-पासल के निकट रेहर नदी पर प्रस्तातिव 24 मेगावाट रेहर-1 लघु जल विद्युत परियोजना और जांजगीर-जिले के अकलतरा-नरियरा में प्रस्तावित 3600 मेगावाट थर्मल पॉवर प्लांट के लिए महानदी से जल आबंटन के प्रस्ताव को विभिन्न परीक्षणों के लिए लंबित रखा है।
साहू
वार्ता
image