Tuesday, Jun 25 2019 | Time 09:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ईरान समेत कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगे ट्रम्प और पुतिन
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 26 जून)
  • मुजफ्फरनगर मुठभेड़ में सवा लाख का इनामी बदमाश ढेर
  • ईरान के खिलाफ आक्रमण के लिए कांग्रेस की मंजूरी की जरूरत नहीं: ट्रम्प
  • कराची में पुलिस ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया
  • अमेरिका की धमकी के आगे नहीं झुकेगा ईरान, नहीं करेगा वार्ता: रवांची
  • सुरक्षा परिषद की ब्रीफिंग में भाग लेने से रोक रहा है अमेरिका: ईरान
  • शाह और नड्डा सहित भाजपा के अन्य नेताओं ने दी सैनी को श्रद्धांजलि
  • अमेरिका ने ईरान पर लगाये नये प्रतिबंध
  • कजाकस्तान के सैन्य डिपो में विस्फोट,एक की मौत, 70 घायल
राज्य


राहुल को पता होना चाहिये,आस्था को सार्टिफिकेट की जरूरत नहीं होती : स्मृति

राहुल को पता होना चाहिये,आस्था को सार्टिफिकेट की जरूरत नहीं होती : स्मृति

अमेठी 07 सितम्बर (वार्ता) केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर तंज कसते हुये कहा कि राजनीतिक सशक्तिकरण की मंशा दिल में लिये पवित्र धाम की यात्रा पर गये श्री गांधी को पता होना चाहिये कि आस्था को कभी प्रामणिकता की जरूरत नही होती।

एक सप्ताह के भीतर दूसरी बार श्री गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी आयी श्रीमती ईरानी ने कहा “ आस्था को कभी प्रामाणिकता की जरूरत नहीं पड़ती। आस्था प्रभु के द्वार पर प्रभु और भक्त के बीच का सम्बंध होता है। न भगवान सार्टिफिकेट मांगता है न भक्त सार्टिफिकेट मांगता है। जो आज सार्टिफिकेट दे रहे हैं उन्हें पता होना चाहिए कि ये भक्ति का मार्ग नहीं है, बल्कि राजनैतिक सशक्तीकरण का एक प्रयास है। ”

अमेठी के जायस में स्थित राजीव गांधी पेट्रोलियम संस्थान में पत्रकारों से मुखातिब भाजपा नेता ने कहा “ कांग्रेस के मुखिया ने सिद्धू साहब के पाकिस्तान के दौरे पर चुप्पी साधी रखी, अब मुखिया क्या करेगें कि सिद्धू साहब के पाकिस्तान से लौटने के बाद पाकिस्तान भारत के खिलाफ जहर उगल रहा है। मैं समझ सकती हूं कि एक तरफ नवजोत सिंह सिद्धू हैं जो उसी जरनल से गले लगते हैं जो भारत के खिलाफ आज जहर उगल रहे, दूसरी तरफ मणिशंकर अय्यर हैं जिनकी सदस्यता को ख़ारिज करने का ढोंग राहुल जी ने गुजरात के चुनाव में रचा था। ”

उन्होने कहा कि कांग्रेस के नेताओं के पाकिस्तान के साथ इस प्रकार से रिश्ते श्री गांधी का चीन के साथ सम्बंध अपने आप में इस बात को दर्शाता है कि कांग्रेस भारत के पक्ष में कम चिंता करती है, विदेशी ताकतों की चिंता ज्यादा करती है।

केन्द्रीय मंत्री ने श्री गांधी पर कटाक्ष करते हुये कहा कि जो अपने संसदीय क्षेत्र का ध्यान नही रख सकता वो देश का ध्यान कैसे रखेगा। स्मृति ने कहा कि यहाँ के सांसद आलू से सोना निकल रहे थे लेकिन मैं गृहणी हूं मैं वादा करती हूं कि जल्द ही खड़ी ग्रामोद्योग की मदद से आलू उत्पादक किसानों के लिए डायवर्सिफाइड इंडस्ट्री लगवाने की पूरी कोशिश करूंगी।

प्रदेश की योगी सरकार की तारीफ करते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि पहली बार प्राथमिक विद्यालय के बच्चे बेंच और मेज पर बैठ कर पढ़ रहे है।

image