Monday, Apr 22 2019 | Time 12:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • झांसी: फायरिंग कर इलाके में दहशत फैलाने वाले सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज
  • सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा
  • सातवें चरण के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी, नामांकन शुरू
  • खगड़िया में कैसर और मुकेश सहनी के बीच रोमांचक मुकाबला
  • ट्रक की टक्कर से मोटरसाइकिल सवार दो की मौत
  • मधेपुरा में नीतीश और लालू की प्रतिष्ठा दाव पर
  • पुतिन, किम की बैठक, रूसी विश्वविद्यालय की सुरक्षा बढ़ी
  • कांग्रेस ने दिल्ली की छह सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित किये
  • उप्र में वाराणसी समेत 13 लोकसभा क्षेत्रों के लिये अधिसूचना जारी, नामांकन प्रक्रिया शुरू
  • कांग्रेस ने दिल्ली के छह लोकसभा उम्मीदवारों की घोषणा की
  • तृणमूल कांग्रेस के आक्रामक प्रहारों से जूझ रहे अभिजीत मुखर्जी
  • सीकर जिले का हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार
  • श्रीलंका आतंकवादी हमले में मृतकों की संख्या 290 हुई
  • संयुक्त राष्ट्र ने श्रीलंका में हुये आतंकवादी हमले की निंदा की
  • कारवां-ए-अमन बस की सेवा आठवें सप्ताह स्थगित
राज्य


मेघालय में शिक्षकों की नियुक्ति की आयु सीमा बढ़ी

शिलांग 08 सितंबर (वार्ता) मेघालय सरकार ने प्राथमिक शिक्षा स्कूल से कॉलेज स्तर के शिक्षकों की नियुक्ति के लिए आयु सीमा 27 से बढ़ाकर 32 वर्ष और अनुसूचित जनजाति के लिए 37 वर्ष तक करने संबंधी शिक्षा विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।
वर्तमान में अधिकतम आयु छूट के साथ 27 वर्ष है जोकि शुक्रवार को मंत्रिमंडल की मंजूरी के बाद 32 वर्ष की आयु तक निर्धारित हो गई है। इसके अलावा अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों को अतिरिक्त पांच साल तक छूट होगी, जिसके बाद उनके लिए 37 वर्ष तक आयु निर्धारित हो गयी है।
शिक्षामंत्री लाहमैन रिम्बुई ने मंत्रिमंडल की मंजूरी को एक बड़ा फैसला बताया और कहा कि यह उन लोगों को अवसर देगा जिन्हें शिक्षकीय पेशे में शामिल होने के लिए अतिरिक्त योग्यताएं प्राप्त करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा,“अब, शिक्षक बनने के लिए आपको अतिरिक्त योग्यताएं प्राप्त करनी होगी। इससे पहले, स्नातक की डिग्री प्राप्त करना पर्याप्त होता था, लेकिन अब माध्यमिक विद्यालयों के लिए बैचलर ऑफ एजुकेशन (बी.एड) के साथ स्नातक डिग्री आैर उच्च माध्यमिक विद्यालयों के लिए स्नातकोत्तर प्लस बीएड होना चाहिए। ”
रमेश टंडन
वार्ता
image