Monday, Sep 24 2018 | Time 19:04 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • छात्र के पांच हत्यारों को आजीवन और दो उम्र कैद की सजा
  • स्काउट गाईड राज्य परिषद का अधिवेशन सम्पन्न
  • छात्रों को तकनीकी शिक्षा देने के लिए बिहार सरकार गंभीर : प्रो नंदन
  • राहुल, ओलांद पर जेटली का बयान हास्यास्पद : कांग्रेस
  • उत्तराखंड में मानसून अति सक्रिय
  • संजीव भट्ट की पत्नी की याचिका पर गुजरात सरकार को नोटिस
  • अयोग्यता मामला: जद यू की याचिका पर शरद को नोटिस
  • नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस वे पर आवास परियोजनाओं को पूरी करने की सिफारिश
  • मुंबई में पेट्रोल का दाम 90 रुपये से ऊपर
  • नायडू मंगलवार को दो दिवसीय यात्रा पर जयपुर आयेंगे
  • सेना ने हरियाणा को 5 विकेट से हराया
  • गाने में अभिनय से नाराज भाई ने बहन को कृपाण से किया घायल
  • सीएसआर के लिए सही साझेदारों का चयन करें कंपनियां:सिंह
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • अमृतसर से नये एफ एम चैनल ‘देश पंजाब’ शुरू
राज्य Share

श्री मंडल ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की मूल्य वृद्धि के बाद लोगो के रोजमर्रा के इस्तेमाल में आने वाली सभी वस्तुएं महंगी हो गयी है। केंद्र सरकार पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क प्रतिलीटर 19.48 रुपये और डीजल पर 15.33 रुपये लेती है। वहीं, बिहार की नीतीश सरकार पेट्रोल पर प्रतिलीटर 24.21 रुपये और डीजल पर 18.34 रुपये उत्पाद शुल्क लेती है। इस तरह केंद्र और नितीश सरकार पेट्रोल पर 43.69 रुपये और डीजल पर 33.67 रुपये प्रतिलीटर उत्पाद शुल्क के नाम पर मुनाफा कमाती हैं। इसके बावजूद दोनों सरकारें उत्पाद शुल्क कम करके देश और राज्य की जनता को महंगाई से राहत नहीं देना चाहती हैं।
सांसद ने आरोप लगाते हुये कहा कि मोदी सरकार ने साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में सिर्फ उत्पाद शुल्क के नाम पर 11 लाख करोड़ रुपये कमाये हैं। मोदी की सरकार ने गरीबों की जेब से गाढ़ी कमाई निकाल कर अपनी और तेल कंपनियों की जेब भर रही है। उन्होंने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार में पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 9.48 रुपये और डीजल पर 3.56 रुपये प्रतिलीटर था। वहीं, इस दौरान पेट्रोल की कीमत 71.48 रुपये और डीजल की 56.71 रुपये प्रति लीटर थी।
श्री मंडल ने कहा कि संप्रग सरकार में पेट्रोल और डीजल की कीमत तुलनात्मक रूप से कम होने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी के नेता संप्रग सरकार के खिलाफ महंगाई पर कोहराम मचाते थे। लेकिन, आज महंगाई की मार से जनता कराह रही है। चारो ओर कोहराम मचा हुआ है लेकिन मोदी सरकार मौन धारण कर बैठी हुई है। सरकार को महंगाई, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार पर अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए।
सं सूरज सतीश
वार्ता
More News
मुंबई में पेट्रोल का दाम 90 रुपये से ऊपर

मुंबई में पेट्रोल का दाम 90 रुपये से ऊपर

24 Sep 2018 | 7:02 PM

मुंबई 24 सितंबर (वार्ता) मुंबई में पेट्रोल के दाम सोमवार को 90 रुपये पार कर 90.08 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया जबकि राज्य के अन्य हिस्सों में इसके दाम इससे अधिक रहे।

 Sharesee more..
image