Wednesday, Sep 19 2018 | Time 16:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एक करोड़ से अधिक के चरस के साथ दो तस्कर गिरफ्तार
  • शेयर बाजार आठ सप्ताह के निचले स्तर पर
  • मुस्लिम महिलाओं को मिला सम्मान से जीने का हक: शाह
  • मासूम से दुष्कर्म मामले में आरोपी को फांसी की सजा
  • कांग्रेस और कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार हवाला के काराेबार में लिप्त: भाजपा
  • शिखर ने की युवराज की बराबरी
  • शिखर ने की युवराज की बराबरी
  • एटीएस ने सीमा सुरक्षा बल के कांस्टेबल को जासूसी के आरोप में किया गिरफ्तार
  • गुजरात में विधायकों के वेतन में 65 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी, पक्ष-विपक्ष ने सर्वसम्मति से कराया विधेयक पारित
  • एनआरसी में नाम शामिल करने के दावे की प्रक्रिया 25 सितम्बर से
  • अधिकारियों की नियुक्ति को मंजूरी
  • सबसे तेज 50 विकेटों में दूसरे नंबर पर पहुंचे कुलदीप
  • सबसे तेज 50 विकेटों में दूसरे नंबर पर पहुंचे कुलदीप
  • नवाज, बेटी मरियम और दामाद की सजा स्थगित
  • तीन तलाक को ‘राजनीतिक फुटबाल’ बना रही है मोदी सरकार : कांग्रेस
राज्य Share

राजस्थान के दक्षिण पूर्वी जिलों में आफत बनी बरसात

जयपुर, 08 सितम्बर(वार्ता) राजस्थान में फिर से सक्रिय हुए मानसून तंत्र ने दक्षिण पूर्वी राजस्थान में जन जीवन अस्त व्यस्त कर दिया। बारां में वर्षाजनित हादसों में दो की मौत होने के साथ कुछ लोगों के घायल होने की सूचना है। आसपास के क्षेत्रों में कल से हो रही तेज बरसात से बारां जिले में बहने वाली सभी नदियां उफान पर हैं जिसके कारण यहां बाढ़ के हालात बन गये हैं। बारां से सवाई माधोपुर तथा कोटा श्योपुर सड़क मार्ग बंद हो गये । इसके अलावा कुछ कच्चे मकानों के ढहने की भी सूचना है। शहरी क्षेत्रों में भी जलभराव के चलते मकानों, दुकानों के साथ सड़कों ने भी दरिया का रूप ले लिया साथ ही कयी गांव टापू बन गये। इन प्रभावित इलाकों में प्रशासन ने राहत कार्य शुरू कर दिये है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में रास्ते अवरुद्ध हो जाने से राहत पहुंचाने के काम में दिक्कतें आ रही है।
मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में राज्य के पूर्वी सीमावर्ती धौलपुर, सवाईमाधोपुर, कोटा, बारां तथा झालावाड़ में भारी वर्षा की चेतावनी दी है। इधर प्रदेश के पश्चिमी भाग में अभी भी अच्छी बारिश के एक दौर का इंतजार है। हालांकि राज्य के कृषि विभाग ने इन दिनों में हो रही बरसात काे खेती के लिए लाभदायक बताते हुए इसे अगली फसल के लिए फायदमंद बताया।
सैनी मनोज
वार्ता
image