Monday, Sep 24 2018 | Time 15:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पितृऋण से मुक्त होने का अवसर देता है “ पितृपक्ष”
  • टैफ़े ने लॉँन्च किया ट्रैक्टर रेंटल प्‍लेटफॉर्म ‘जेफार्म सर्विसेज’
  • राहुल भारत के अगले प्रधानमंत्री: रहमान मलिक
  • मुंबई में पेट्रोल 90 के पार दिल्ली में 83 रुपये के निकट
  • टीवीएस स्टार सिटी प्लस का नया संस्करण लांच
  • अपराधियों ने किराना व्यवसायी को मारी गोली
  • भारती एक्सा लाईफ ने व्हाट्सऐप के जरिये की क्लेम प्रोसेसिंग की शुरुआत
  • प्रमुख मुद्राओं में तेजी
  • सोना 100 रुपये चमका;चांदी 50 रुपये फिसली
  • कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, दो आतंकवादी ढेर
  • त्रिपुरा हथियारों के साथ तीन लोग गिरफ्तार
  • सरकार का मकसद आम जनता का जीवन सरल बनाना: पुरी
  • राफेल को लेकर राहुल का मोदी पर फिर हमला
  • एसपीजी पर राहुल का बयान निराधार और दुर्भाग्यूपर्ण: गृह मंत्रालय
  • ईरान ने अमेरिका-इजरायल को चेताया, हमले का लेगा बदला
राज्य Share

सुविधाओं के अभाव में भी कॉमनवेल में भारत का अच्छा प्रदर्शन-पुनिया

उदयपुर, 08 सितम्बर(वार्ता) आलेम्पिक खेलों में स्वर्ण पदक विजेता और पदमश्री पुरस्कार से सम्मानित कृष्णा पुनिया ने कहा कि साधन सुविधाओं के अभाव के बावजूद भी हाल ही सम्पन्न राष्ट्रमंडल खेलों में भारत ने अच्छा प्रदर्शन कर 67 पदकों को अपने नाम किया।
श्रीमती पुनिया विश्व फिजियोथेरेपी दिवस पर आज यहां राजस्थान विद्यापीठ विश्वविद्यालय में फिजियोथेरेपी विभाग की ओर से आयोजित नि:शुल्क चिकित्सा शिविर एवं रक्तदान शिविर का उदघाटन करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि खेलों में आज भी अपार संभावना है लेकिन साधन सुविधाओं के अभाव हम बहुत पीछे हैं।
श्रीमती पुनिया ने कहा कि जब भी कोई खेलों में अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन करता है तो मीडिया और सरकारें वाहवाही लेने के लिए उसके पीछे चल देती है जबकि खिलाडी जानता है कितने अभावों के बाद उसने अपना प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि शारीरिक शिक्षा को स्कूली शिक्षा से ही पाठ्यक्रम में अनिवार्य करना होगा तथा प्रत्येक बालक को उसकी रूचि के अनुसार खेल से जोडना होगा।
कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि दंगल फिल्म में अभिनेता आमिर खान के ट्रेनर एवं 2007 के कॉमन वैल्थ कोच कृपाशंकर पटेल ने कहा कि आज खेलों में कौच के साथ फिजियोथेरेपिस्ट की भी महत्ता बढ गई है। उन्होने कहा कि कुश्ती एवं चोट का चोली दामन का साथ होता है। कुश्ती में चोटे लगने की अधिक संभावना है जिसके कारण इस खेल में फिजियोथेरेपिस्ट की भूमिका बढ जाती है।
रामसिंह सैनी
वार्ता
More News

अपराधियों ने किराना व्यवसायी को मारी गोली

24 Sep 2018 | 2:53 PM

 Sharesee more..
हिमाचल में सड़क हादसों में छह की मौत,38 घायल

हिमाचल में सड़क हादसों में छह की मौत,38 घायल

24 Sep 2018 | 2:53 PM

शिमला 23 सितंबर(वार्ता) हिमाचल प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में छह लोगों की मौत हो गई और 38 अन्य घायल हो गए।

 Sharesee more..
image