Wednesday, Jan 23 2019 | Time 16:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ईवीएम विवाद : नीतीश ने कहा, ईवीएम ने मताधिकार को मजबूत किया
  • अस्थाना के तबादले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गयी
  • लगातार दूसरे दिन शेयर बाजार में हावी रही बिकवाली
  • राजीव दीक्षित की मौत की पीएमओ के निर्देश पर
  • घरेलू कामगारों पर भारत ने किया कुवैत के साथ समझौता
  • जोकोविच सेमीफाइनल में, सेरेना का सपना टूटा
  • पात्रता निर्धारित होने पर बीपीएल परिवारों को एक रुपए किलो गेंहू-मीणा
  • गुजरात के स्कूलों में ऑनलाइन गेम पबजी पर लगा प्रतिबंध
  • मारुति ने उतारी नयी वैगन आर; कीमत 4 19 से 5 69 लाख रुपये तक
  • आईटीसी के मुनाफे में चार फीसदी की बढ़त
  • मीठी तुलसी से भारतीय आहार से 250 अरब कैलोरी कम करने की योजना
  • प्रवासियों का पैसा नहीं, ताकत, सुझाव, तकनीक चाहिए : वी के सिंह
  • राजपथ पर सेना के साथ दिखायी देंगे आजाद हिन्द फौज के सैनिक
  • रवि शंकर ने प्रियंका की नियुक्ति पर ली चुटकी
  • धारी सनसनीखेज घटना: शवों की शिनाख्त, तीनों एक ही परिवार सदस्य
राज्य Share

भाजपाईयों को भी अखर रहा है एससी-एसटी संशोधन विधेयक

भाजपाईयों को भी अखर रहा है एससी-एसटी संशोधन विधेयक

देवरिया,08 सितम्बर (वार्ता) अनुसूचित जाति/अनुसूचित जन जाति(एससी-एसटी) संशोधन विधेयक को लेकर सवर्ण समाज की नाराजगी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उसके सहयोगी दलों के अलावा पार्टी के घोर समर्थकों काे भी अखर रही है।

भाजपा समर्थकों को आशंका है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में यह मामला पार्टी के लिये परेशानी का सबब बन सकता है। अगणी जाति के भारत बंद ने इन संभवानाओं को बल दिया है। सोशल मीडिया पर इस एक्ट में संशोधन का जमकर विरोध हो रहा है।

पिछले दिनों भाजपा के वरिष्ठ नेता और देवरिया से सांसद कलराज मिश्र ने इस कानून में संशोधन के खिलाफ अपनी असहमति जताकर यह संदेश देने की कोशिश की थी कि इस कानून में संशोधन करने से जहां सवर्ण जाति के लोग नाराज हैं तथा इसका दुरूपयोग भी हो सकता है।

उधर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) भी एसी-एसटी कानून में संशोधन काे लेकर अपनी असहमति जता चुके हैं। उत्तर प्रदेश,मध्य प्रदेश,बिहार,राजस्थान आदि राज्यों में इस कानून में संशोधन का भारी विरोध देखने को मिला है। इन राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं और वहां की जनता ने इस कानून में संशोधन के खिलाफ विरोध करके जता दिया है कि आगामी लोकसभा चुनाव 2019 यहां भाजपा के लिये रास्ते ठीक नहीं हो सकते हैं।

भाजपा समर्थक और पेशे से अधिवक्ता सुनील श्रीवास्तव का कहना है कि एससी-एसटी अधिनियम में संशोधन से इसका दुरूपयोग होगा। इससे नकारा नहीं जा सकता। भाजपा को सवर्णों के साथ अन्य जातियों का भरपूर मत पिछले चुनाव में मिला था लेकिन अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जन जाति को रिझाने के लिये एक्ट में संशोधन कर उसने मुश्किलों को न्योता दिया है।

गृहणी कालिन्दी दुबे का कहना है कि एससी-एसटी एक्ट में संशोधन से भाजपा यह जान रही है कि उनको 2019 के चुनाव में मतों के माध्यम से फायदा मिलेगा। यह तो समय बतायेगा,लेकिन सच्चाई यह है कि इस कानून में संशोधन से सवर्णों का भाजपा से मोह भंग होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि रसोई गैस,पेट्रोल और डीजल के दाम बड़ते जा रहे हैं। भाजपा कहती रही है कि अच्छे दिन आयेंगे लेकिन अच्छे दिन जिस तरह से दिखने चाहिये,वे दिखे नहीं।

More News

गोण्डा में एनआईए का छापा

23 Jan 2019 | 4:36 PM

 Sharesee more..
भाजपा को नहीं अाने देंगे सत्ता में : राहुल

भाजपा को नहीं अाने देंगे सत्ता में : राहुल

23 Jan 2019 | 4:32 PM

अमेठी 23 जनवरी (वार्ता) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि समाजवादी पार्टी(सपा)-बहुजन समाज पार्टी(बसपा) और कांग्रेस का लक्ष्य भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सत्ता से बाहर करने का है और इस नेक काज को सभी बखूबी से अंजाम दे रही है।

 Sharesee more..
विषयवार आरक्षण का मतलब है आरक्षण खत्म : लालू

विषयवार आरक्षण का मतलब है आरक्षण खत्म : लालू

23 Jan 2019 | 4:31 PM

पटना, 23 जनवरी (वार्ता) राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने आरक्षण के मुद्दे पर अपने विरोधियों पर एक बार फिर हमला करते हुए आज कहा कि विषयवार आरक्षण का मतलब आरक्षण खत्म करना है।

 Sharesee more..
image