Tuesday, Nov 20 2018 | Time 20:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भारत में मलेरिया के मामले घटे : डब्लुएचओ
  • दुर्घटनावश चली गोली से घायल हेड कांस्टेबल की मौत
  • चुनाव प्रचार नहीं करने के लिए कांग्रेस नेता ने की 25 लाख की पेशकश: आेवैसी
  • केजरीवाल पर युवक ने मिर्ची पाउडर फेंका सियासत शुरु
  • कांग्रेस की बारात तो सज गयी, दूल्हे का पता नहीं : राजनाथ
  • बिजली दरों में कटौती पर भाकियू ने किया मुख्यमंत्री का आभार
  • कानूनी राय लेने के बाद मराठा आरक्षण के संबंध में रिपोर्ट सदन में रखी जायेगी
  • बक्सर में पीपा पुल का निर्माण इस माह के अंत तक शुरु होगा:चौबे
  • छत्तीसगढ़ में दूसरे एवं आखिरी चरण में 72 प्रतिशत से अधिक मतदान
  • राजस्थान में 613 नामांकन रद्द
  • निगम -विहिप संघर्ष मामले की जांच के लिए टीम का गठन :मंडलायुक्त
  • सिख दंगों के एक मामले में एक को फांसी, दूसरे को आजीवन कारावास 35 35 लाख रुपए जुर्माना
  • झारखंड विद्युत प्रणाली सुधार परियोजना के लिए विश्व बैंक देगा 31 करोड़ डॉलर का ऋण
  • आप या बसपा के साथ गठबंधन पर कर रहे हैं विचार: दिग्विजय
  • फूजी फिल्म का दिल्ली एनसीआर में ग्राफिक आर्ट्स डेमो सेंटर शुरू
राज्य Share

35 ए हटा तो करेंगे आम चुनाव का बहिष्कार: फारूक

श्रीनगर 08 सितंबर (वार्ता) नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री फारूक अब्दुल्ला ने धमकी दी है कि यदि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर से संबंधित संविधान के अनुच्छेद 35 ए को लेकर संशय की स्थिति स्पष्ट नहीं करती है तो उनकी पार्टी आगामी आम चुनाव तथा विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करेगी।
श्री अब्दुल्ला ने शनिवार को यहां कहा कि उनकी पार्टी पहले ही इस मुद्दे पर राज्य में अगले महीने होने वाले पंचायत तथा नगर पालिका चुनावों का बहिष्कार करने की घोषणा कर चुकी है। उन्होंने सं‌वाददाताओं को बताया कि अगर केंद्र सरकार अनुच्छेद 35 ए को लेकर संशय की स्थिति स्पष्ट नहीं करती है, तो पार्टी लोकसभा तथा विधानसभा चुनावों का भी बहिष्कार करेगी।
श्री अब्दुल्ला ने ये बातें शेख मोहम्मद अब्दुल्ला की 36 वीं पुण्यतिथि के मौके पर आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने बताया कि 14 मई 1954 में जम्मू-कश्मीर के संविधान में अनिच्छेद 35 ए के तहत की गयी व्यवस्था के अनुसार स्थायी नागरिकता को परिभाषित कर राज्य का विषय है। उन्होंने बताया कि अनुच्छेद 370-ए जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देता है।
उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान में जिन लोगों का निहित स्वार्थ है वे लोग नहीं चाहते हैं कि दोनों देशों के बीच रिश्ते बेहतर हों।
उल्लेखनीय है कि अनुच्छेद 35 ए संवैधानिक प्रावधान है जिसके तहत जम्मू-कश्मीर विधानसभा को राज्य के स्थायी नागरिता को परिभाषित करने की अनमति दी गयी है। इसको रद्द करने को लेकर हालांकि उच्चतम न्यायालय में कई याचिकाएं दाखिल की गयी हैं और न्यायालय ने इस पर सुनवाई पंचायत ए‌वं नगर पालिका चुनाव तक के लिए टाल दी है।
संतोष.श्रवण
वार्ता
More News
बक्सर में पीपा पुल का निर्माण इस माह के अंत तक शुरु होगा:चौबे

बक्सर में पीपा पुल का निर्माण इस माह के अंत तक शुरु होगा:चौबे

20 Nov 2018 | 7:56 PM

पटना 20 नवम्बर (वार्ता) केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने आज कहा कि 12 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले बक्सर पीपा पुल का निर्माण कार्य इस माह के अंत तक शुरु हो जायेगा।

 Sharesee more..

20 Nov 2018 | 7:55 PM

 Sharesee more..
image