Saturday, Feb 16 2019 | Time 20:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रविवार को नियत वक्त पर चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस
  • पारसनाथ से नक्सली गिरफ्तार, कई बंकर ध्वस्त
  • ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्डस ने पाकिस्तान पर आतंकवाद को सहारा देने का आरोप लगाया
  • शहीदों की सजी चितायें, आंसुओं के सैलाब में डूबा उत्तर प्रदेश
  • मतदाता पंजीकरण के लिये हरियाणा में 23-24 फरवरी को लगेंगे विशेष शिविर
  • पाकिस्तानी विदेश सचिव ने पुलवामा हमले पर भारत के आरोपों को नकारा
  • जिम्बाब्वे में कंडोम संकट
  • अफगानिस्तान में 51 आतंकवादी ढेर, 50 घायल
  • विधायक देशराज करेंगे बाघा सीमा पर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन
  • बागान ने आइजॉल को 2-1 से हराया
  • भारत और मॉरीशस मिलकर करेंगे गीता का प्रचार-प्रसार पूरी दुनिया में
  • भारत और मॉरीशस मिलकर करेंगे गीता का प्रचार-प्रसार पूरी दुनिया में
  • बेटी की डोली उठाने का सपना लेकर गये ‘संजय’ नहीं लौटे
  • कार के ऊपर गन्ने से भरा ट्रक पलटा, चार घायल
  • इरफान की राष्ट्रीय पैदल चाल प्रतियोगिता में हैट्रिक
राज्य Share

वैज्ञानिक बनना चाहते थे अनुराग कश्यप

जन्मदिवस 10 सितंबर के अवसर पर
मुंबई 09 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड के जाने-माने फिल्मकार अनुराग कश्यप ने अपनी फिल्मों के जरिये भले ही दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी हो लेकिन वह फिल्मकार नहीं, वैज्ञानिक बनना चाहते थे।
अनुराग कश्यप का जन्म 10 सितंबर 1972 को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में हुआ। उनके पिता उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन में काम किया करते थे। अनुराग ने ग्वालियर के सिंधिया स्कूल में अपनी पढ़ाई की। इसी दौरान उनका रूझान पढ़ने की ओर बढ़ता गया और उन्हें जो भी किताब मिलती वह उसे पढ़ डालते। अनुराग ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि सिंधिया स्कूल में वह अपनी कमजोर इंग्लिश के चलते अपने बैचमेट से घुल-मिल नहीं पाते थे। इस कारण उन्होंने स्कूल की लाइब्रेरी में समय गुजारना शुरू कर दिया। वह शुरूआती दौर में वैज्ञानिक बनना चाहते थे। इसी उद्देश्य से उन्होंने दिल्ली के हंसराज कॉलेज में दाखिला लिया। वर्ष 1993 में उन्होंने स्नातक की पढ़ाई पूरी की।
वर्ष 1997 में अनुराग को फिल्म ‘सत्या’ के लिये सर्वश्रेष्ठ स्क्रीनप्ले के फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वर्ष 2007 में उनके निर्देशन में बनी फिल्म ‘ब्लैक फ्राइडे’ प्रदर्शित हुयी। फिल्म हालांकि टिकट खिड़की पर सफल नहीं रही लेकिन समीक्षकों को बेहद पसंद आयी। वह शरत चन्द्र के मशहूर उपन्यास देवदास से बेहद प्रभावित थे और उन्होंने इसे आधुनिक रंग में रंगकर बड़े पर्दे पर देव डी के रूप में पेश किया। वर्ष 2009 में प्रदर्शित यह फिल्म टिकट खिड़की पर बेहद सफल रही।
देव डी के निर्माण के दौरान उनका रूझान अभिनेत्री कल्की कोचलीन की ओर हो गया और वर्ष 2011 में उन्होंने कल्की से शादी कर ली। दोनों ने हालांकि बाद में अलग रहने का फैसला कर लिया। अनुराग ने इससे पूर्व वर्ष 2003 में फिल्म एडिटर आरती बजाज से भी शादी की थी जो 2009 में टूट गयाी थी। वर्ष 2009 में अनुराग कश्यप ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया । वर्ष 2010 में अनुराग कश्यप ने उड़ान का निर्माण किया। फिल्म टिकट खिड़की पर बेहद सफल रही।वर्ष 2012 में अनुराग कश्यप ने गैंग्स ऑफ वासेपुर का निर्माण और निर्देशन किया। यह फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी। इसी वर्ष उनकी गैंग्स ऑफ वासेपुर 2 भी प्रदर्शित हुयी लेकिन यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई खास कमाल नहीं दिखा सकी।
वर्ष 2014 में अनुराग ने हंसी तो फंसी और क्वीन जैसी कामयाब फिल्मों का निर्माण किया। उनकी वर्ष 2015 में फिल्म ‘बांबे वेलवेट’ प्रदर्शित हुई। रणबीर कपूर और अनुष्का शर्मा की जोड़ी वाली यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कोई कमाल नही दिखा सकी। वर्ष 2016 में अनुराग ने फिल्म रमन राघव 2.0 का निर्देशन किया लेकिन यह फिल्म भी कोई कमाल नहीं दिखा सकी। वर्ष 2018 में अनुराग कश्यप निर्देशित मुक्काबाज प्रदर्शित हुयी लेकिन यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर नकार दी गयी। अनुराग कश्यप निर्देशित फिल्म मनमर्जिया 14 सितंबर को प्रदर्शित हो रही है। फिल्म में अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू और विक्की कौशल की मुख्य भूमिका है।
प्रेम, यामिनी
वार्ता
More News

पटवन के दौरान किसान की हत्या

16 Feb 2019 | 8:54 PM

 Sharesee more..
शहीद जवानों की राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि

शहीद जवानों की राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि

16 Feb 2019 | 8:53 PM

जयपुर 16 फरवरी (वार्ता ) जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले में शहीद हुये राजस्थान के केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के पांच जवानों का आज राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

 Sharesee more..
राजकीय सम्मान के साथ शहीद अश्विनी कुमार काछी का अंतिम संस्कार

राजकीय सम्मान के साथ शहीद अश्विनी कुमार काछी का अंतिम संस्कार

16 Feb 2019 | 8:51 PM

जबलपुर, 16 फरवरी (वार्ता) जम्मू कश्मीर के पुलवामा में दो दिन पहले हुए आतंकवादी हमले में शहीद मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के सपूत अश्विनी कुमार काछी का आज उनके गृह गांव खुडावल में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

 Sharesee more..

पारसनाथ से नक्सली गिरफ्तार, कई बंकर ध्वस्त

16 Feb 2019 | 8:43 PM

 Sharesee more..
image