Monday, Sep 24 2018 | Time 07:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मैक्रों की लोकप्रियता में आैर गिरावट : सर्वे
  • स्विट्जरलैंड के दूसरे प्रांत में भी बुर्का पर लगा प्रतिबंध
  • अपहृत नौका चालक दल के सदस्यों की हुई पहचान
  • मालदीव के राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार सोलिह जीते
  • मालदीव राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार की जीत
  • गब्बर और हिटमैन ने पाकिस्तान को धो डाला, भारत फाइनल में
  • अफगानिस्तान बाहर, बंगलादेश-पाकिस्तान में होगा सेमीफाइनल
  • कांगो में विद्रोहियों के हमले में 14 नागरिक मारे गये
  • हिमाचल में सड़क हादसों में छह की मौत,38 घायल
  • भाजपा के शीर्ष नेताओं में पर्रिकर से इस्तीफा मांगने का साहस नहीं : कांग्रेस
राज्य Share

राष्ट्रीय नकवी हाट दो अंतिम इलाहाबाद

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि इससे पहले हुनर हाट दिल्ली,पुडुचेरी और मुंबई में आयोजित किये गए हैं। इस साल के अंत तक हाट का आयोजन पुडुचेरी, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला दिल्ली , मुंबई में होगा जबकि अगले साल के शुरू में हुनर हाट दिल्ली और गोवा में लगाये जायेंगे।
उन्होने कहा कि इलाहाबाद में आठ से 16 सितम्बर के बीच आयोजित हुनर हाट में देश भर से 18 राज्यों एवं संघ राज्य क्षेत्रों से सैंकड़ों शिल्पकार, दस्तकार और देश के कोने-कोने के पारम्परिक पकवानों के उस्ताद भाग ले रहे हैं, जिनमे बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं। साथ ही जानी-मानी कला एवं संगीत की हस्तियां अपने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत कर रहे हैं।
हाट में केन और बांस से निर्मित वस्तुएं, असम के जूट उत्पाद, झारखण्ड की टस्सरगीजा सिल्क और भागलपुर की लीनेन, पारंपरिक गहनें, लाख एवं स्टोन जडित़ चूड़ियां और आभूषण, पश्चिम बंगाल का कण्ठा, मूंगा सिल्क और वाराणसी का ब्रोकेड, लखनवी चिकनकारी, सेरामिक उत्पाद, मणिपुर के काले पत्थर के बर्तन, पूर्वोत्तर के पारंपरिक हस्तशिल्प, गुजरात का अज्रख/बंधेज, धातु उत्पाद और मिट्टी के बर्तन और मध्य प्रदेश के बाटिक/बाग/महेश्वरी/चंदेरी, मुरादाबाद की ज़री ज़रदौजी, चमड़ा उत्पाद, पीतल के बर्तन, हैदराबाद की कलमकारी, मंगल गिरी और मोती, जम्मू एवं कश्मीर के तांबा उत्पाद एवं अरी का काम, पंजाब की फुलकारी एवं जुत्ती, मिर्जापुरी दरी, मुजा और प्राकृतिक घास उत्पाद, राजस्थान के लहरियां, लकड़ी उत्पाद इत्यादि इस "हुनर हाट" में प्रदर्शनी एवं बिक्री के लिए उपलब्ध हैं।
यहाँ आने वाले लोग देश के कोने-कोने से विभिन्न पारम्परिक लजीज़ व्यंजन जैसे अवधी खाना, राजस्थानी पकवान, गुजराती थाली, कश्मीर वाजवान, महाराष्ट्री व्यंजन, पंजाबी रसोई, केरल का मालाबारी व्यंजन, बिहार का लिट्टी-चोखा, मुगलई खाना, झारखण्डी खाना, बंगाली मिठाई, अलग-अलग राज्यों के पारम्परिक मिष्ठान, सुगंधित पान, मुखवास इत्यादि का आनंद भी ले रहे हैं।
दिनेश/प्रदीप
वार्ता
More News

24 Sep 2018 | 12:04 AM

 Sharesee more..
आयुष्मान भारत एक नयी क्रांति: शिवराज

आयुष्मान भारत एक नयी क्रांति: शिवराज

23 Sep 2018 | 11:45 PM

भोपाल, 23 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आयुष्मान भारत योजना की प्रशंसा करते हुए आज कहा कि यह योजना एक नयी क्रांति है।

 Sharesee more..

नयी पार्टी बनाने की कोई योजना नहीं: अलागिरी

23 Sep 2018 | 11:38 PM

 Sharesee more..
image