Friday, Sep 21 2018 | Time 15:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कश्मीर में पुलिसकर्मियों के इस्तीफे की खबर दुष्प्रचार: गृह मंत्रालय
  • मणिपुर विवि से पांच प्रोफेसर और 100 से अधिक छात्र गिरफ्तार
  • पुलिसकर्मियों की हत्या आतंकवादियों की हताशा का नतीजा: मलिक
  • विश्व में सभी के लिए मानवाधिकारों को बढ़ावा देने की जरुरत: गुटेरेस
  • छोटे प्रक्षेपण यान बनाने के लिए सामने आये निजी क्षेत्र : एंट्रिक्स अधिकारी
  • गडकरी करेंगे पूर्वाेत्तर में राजमार्ग परियोजाओं की समीक्षा
  • सेंसेक्स ने लगाया 1128 अंकों का गोता;निफ्टी 368 अंक टूटा
  • सोमेंद्रनाथ मित्र बने पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष
  • एनटीपीसी कर्मियों ने महाप्रबंधक को किया घेराव
  • सर्जिकल स्ट्राइक दिवस मनाना राजनीतिकरण करना नहीं: जावड़ेकर
  • रामकृष्णा इलेक्ट्रो ने पेश किया नाविक आधारित मॉड्यूल ‘यूट्रैक’
  • तंजानिया नौका हादसे में मृतकों की संख्या 86 हुई
  • सोना तीन माह के उच्चतम स्तर पर ;चांदी 20 रुपये सस्ती
राज्य Share

प्रदेश में शीघ्र होने लगेंगी कृत्रिम बरसात:सिंह

प्रदेश में शीघ्र होने लगेंगी कृत्रिम बरसात:सिंह

बुलन्दशहर,09 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि कानपुर के आईआईटी के वैज्ञानिकों ने कृत्रिम बरसात की तकनीक खोज निकाली है जो चीन के मुकबले सुगम एवं सस्ती होगी और इसे स्वीकृति के लिए शीघ्र ही केबिनेट की बैठक में रखा जाएगा।

सिंचाई विभाग के क्रिया कलापों की समीक्षा एवं भाजपा के अति पिछड़े कार्यकर्ताओं को संबोधित करने रविवार को यहा आये श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश के बुन्देलखण्ड में पानी की बेहद कमी है पानी की कमी दूर करने व फसलों की सिंचाई के लिए चीन से तकनीकी मदद लेने की बात तय हुई थी। इसके तहत एक हजार किमी के क्षेत्र में 5 मिनट की कृत्रिम वर्षा के लिए साढ़े दस करोड़ रूपये अदा करने की बात तय हुई थी, लेकिन चीन वायदे से मुकर गया।

उन्होंने बताया कि अब कानपुर के आईआईटी वैज्ञानिकों ने कृत्रिम वर्षा की तकनीक खोज निकाली है जिस पर चीन के मुकाबले 5 करोड़ रूपया प्रति पांच मिनट कम खर्च आयेगा। इस प्रस्ताव पर शीघ्र ही मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ से बातचीत कर उनकी सहमति मिलने पर प्रस्ताव को केबिनेट में मंजूरी वास्ते रखा जायेगा।

श्री सिंह ने बताया कि प्रदेश में इजराल की तर्ज पर ड्रिप-स्प्रिंकलर योजना लागू की जा रही है जिससे 50 लाख किसान लाभांवित होंगे। उन्होंने बताया कि ड्रिप-स्प्रिंकलर पद्धति से फसल की सिंचाई पूरे विश्व में सिर्फ इजराइल में होती है। यह पद्धति उत्तर प्रदेश में भी लागू की जायेगा। इसके लिए किसानों को सरकार अनुदान देगी। लघु सिमांत किसानों को लागत का 90 प्रतिशत व बाकी को 80 प्रतिशत तक अनुदान मिलेगा।

More News
कड़ी सुरक्षा के बीच निकले यौमे आशूरा के जुलूस

कड़ी सुरक्षा के बीच निकले यौमे आशूरा के जुलूस

21 Sep 2018 | 3:47 PM

लखनऊ 21 सितम्बर (वार्ता) हजरत इमाम हुसैन की शहादत की याद में राजधानी लखनऊ समेत समूचे उत्तर प्रदेश में कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच 10वीं मोहर्रम 'यौमे-आशूरा' का जुलूस निकाला गया।

 Sharesee more..

हत्या के आरोपी दामाद को आजीवन कारावास

21 Sep 2018 | 3:46 PM

 Sharesee more..
image