Wednesday, Nov 21 2018 | Time 22:04 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ट्रैक्टर से कुचलकर एक की मौत
  • गुजरात में नदी से मिले जनधन योजना के खातों के 350 से अधिक एटीएम कार्ड
  • अखनूर में पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया
  • अखनूर में पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया
  • एसटीएफ ने मुठभेड़ में किए दो पेशेवर लुटेरे गिरफ्तार
  • कांग्रेस के नेता सत्ता का मक्खन खाने को बेकरार: तोमर
  • शिवराज ने पूछा, क्या यही है कांग्रेस का बदलाव
  • हिन्दू-मुसलमान को वोट में बांट रही है कांग्रेस: शिवराज
  • किसान आलू की फसल को झुलसा रोग एवं कीट से बचायें:राघवेन्द्र
  • नीतीश ने की चादरपोशी, बिहार में अमन, चैन के लिए दुआएं मांगी
  • असम में बंद के दौरान एक की मौत, तीन घायल
  • फेसबुक के सीईओ पद से हटने का इरादा नहीं: जुुुकरबर्ग
  • सर्विसेज के खिलाफ यूपी को उपयोगी बढ़त
  • देश में बैडमिंटन प्रतिभाओं की कमी नहीं : सायना
  • देश में बैडमिंटन प्रतिभाओं की कमी नहीं : सायना
राज्य Share

प्रदेश में शीघ्र होने लगेंगी कृत्रिम बरसात:सिंह

प्रदेश में शीघ्र होने लगेंगी कृत्रिम बरसात:सिंह

बुलन्दशहर,09 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि कानपुर के आईआईटी के वैज्ञानिकों ने कृत्रिम बरसात की तकनीक खोज निकाली है जो चीन के मुकबले सुगम एवं सस्ती होगी और इसे स्वीकृति के लिए शीघ्र ही केबिनेट की बैठक में रखा जाएगा।

सिंचाई विभाग के क्रिया कलापों की समीक्षा एवं भाजपा के अति पिछड़े कार्यकर्ताओं को संबोधित करने रविवार को यहा आये श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश के बुन्देलखण्ड में पानी की बेहद कमी है पानी की कमी दूर करने व फसलों की सिंचाई के लिए चीन से तकनीकी मदद लेने की बात तय हुई थी। इसके तहत एक हजार किमी के क्षेत्र में 5 मिनट की कृत्रिम वर्षा के लिए साढ़े दस करोड़ रूपये अदा करने की बात तय हुई थी, लेकिन चीन वायदे से मुकर गया।

उन्होंने बताया कि अब कानपुर के आईआईटी वैज्ञानिकों ने कृत्रिम वर्षा की तकनीक खोज निकाली है जिस पर चीन के मुकाबले 5 करोड़ रूपया प्रति पांच मिनट कम खर्च आयेगा। इस प्रस्ताव पर शीघ्र ही मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ से बातचीत कर उनकी सहमति मिलने पर प्रस्ताव को केबिनेट में मंजूरी वास्ते रखा जायेगा।

श्री सिंह ने बताया कि प्रदेश में इजराल की तर्ज पर ड्रिप-स्प्रिंकलर योजना लागू की जा रही है जिससे 50 लाख किसान लाभांवित होंगे। उन्होंने बताया कि ड्रिप-स्प्रिंकलर पद्धति से फसल की सिंचाई पूरे विश्व में सिर्फ इजराइल में होती है। यह पद्धति उत्तर प्रदेश में भी लागू की जायेगा। इसके लिए किसानों को सरकार अनुदान देगी। लघु सिमांत किसानों को लागत का 90 प्रतिशत व बाकी को 80 प्रतिशत तक अनुदान मिलेगा।

More News
पिपराइच शुगर मिल को अत्याधुनिक बनाया जायेगा:राणा

पिपराइच शुगर मिल को अत्याधुनिक बनाया जायेगा:राणा

21 Nov 2018 | 9:59 PM

लखनऊ, 21 नवम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि पिपराइच स्थित शुगर मिल को अत्याधुनिक बनाया जायेगा ताकि बेहतर तरीके से एथनाॅल से जूस बनाने का काम प्रारम्भ किया जा सके।

 Sharesee more..
कमलनाथ के वीडियो पर विवाद

कमलनाथ के वीडियो पर विवाद

21 Nov 2018 | 9:58 PM

भोपाल, 21 नवंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के ऐन पहले कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ के एक और वायरल वीडियो ने प्रदेश में एक नए विवाद को जन्म दे दिया है।

 Sharesee more..

सफलता के लिए विश्वास आवश्यक-आनंदीबेन

21 Nov 2018 | 9:57 PM

 Sharesee more..
image