Wednesday, Feb 20 2019 | Time 18:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मंत्री ने धार्मिक,पुरातात्विक,ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक स्थलों की मांगी जानकारी
  • गडकरी ने किया मुरादाबाद और मेरठ में करोड़ों की परियोजनाओं का शिलान्यास
  • टेलर ने फ्लेमिंग को पीछे छोड़ा
  • आरपीएफ को विशेष अभियान में 922 लावारिस बच्चे मिले
  • नामवर पंचतत्व में विलीन, साहित्य में शोक की लहर
  • श्रम कार्ड के लम्बित आवेदनों का 15 दिन में होगा निस्तारण - डहरिया
  • जोशी ने दिये शहीद के आश्रित के लिए डेढ़ लाख
  • देश को गर्त में धकेलने का प्रयास कर रहे हैं विपक्षी दल-शर्मा
  • पाकिस्तान के खिलाफ भड़काऊ बयान देकर करतारपुर कॉरीडोर को नुकसान पहुंचा रहे : खेहरा
  • 73 साल की सुनीता के लिए उम्र सिर्फ एक नंबर
  • राष्ट्रीय ग्रिड से बिजली उपलब्ध कराना हुआ आसान : राजकुमार
  • चौथी भारत-आसियान प्रदर्शनी एवं सम्मेलन कल से
  • छत्तीसगढ़ सरकार पंचायतों से रेत खदाने लेंगी वापस – भूपेश
  • भारत से जाने वाले हाजियों का काेटा बढ़ा
  • अमेरिका आईएनएफ संधि से हटने को लेकर गंभीर नहीं : पुतिन
राज्य Share

आयुर्वेद से मरीजों को बेहतर उपचार मिले इस पर रिसर्च हो: पटेल

उज्जैन, 09 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के आयुष राज्य मंत्री जामलसिंह पटेल ने कहा कि वर्तमान दौर में आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति को बेहतर ढंग से मरीजों का उपचार कैसे किया जाये, इस पर रिसर्च किया जाये। पद्धति से जुड़े लोग पूर्ण ईमानदारी से पीड़ितों का उपचार कर सेवा का फल प्राप्त करें।
श्री पटेल ने शासकीय स्वशासी धन्वंतरि आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय की बैठक कहा कि आयुर्वेद पद्धति टिकाऊ, उम्दा तथा सस्ता उपचार है। एेलोपैथी के बजाय लोगों का रूझान आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में उपचार कराने के लिये बढ़ा है। आयुर्वेद के उपचार की पद्धतियों के बारे में अधिक से अधिक व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये, ताकि जरूरतमन्द मरीज अपना इलाज एेलोपैथी की बजाय आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति से करा सकें।
उन्होंने कहा कि आयुर्वेद ही एकमात्र ऐसा चिकित्सा विज्ञान है, जो हमें बताता है। रोग होने ही नहीं पाये अर्थात प्रीवेंटिव मेडिसिन, आहार विहार से सम्बन्धित साहित्य आयुर्वेद में समृद्ध हैं। क्या खायें, क्या न खायें, यह गुर आयुर्वेद से सीखने को मिलता है।
बैठक में मौजूद ऊर्जा मंत्री पारस जैन कहा कि आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिये पंचकर्म पद्धति के विस्तार की उज्जैन में आवश्यकता है। पंचकर्म के विस्तार के लिये शासकीय भूमि की मांग पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि चिमनगंज क्षेत्र स्थित आयुर्वेद अस्पताल के समीप भूमि आवंटन सम्बन्धी प्लान बनायें। भूमि शासन से उपलब्ध करवा दी जायेगी। जैन ने कहा कि सरकार के द्वारा आमजनों के स्वास्थ्य सम्बन्धी अनेकों योजनाएं संचालित की जा रही हैं।
सं बघेल
वार्ता
image