Saturday, Nov 17 2018 | Time 16:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गुजरात में समुद्र के खारे पानी को पीने योग्य बनाने वाले संयंत्र के लिए समझौता
  • बिस्कुट ट्रॉफी के बाद पाकिस्तान खेलेगा ‘ओये होये ट्रॉफी’
  • रामाराव की पौत्री सुहासिनी ने दाखिल किया नामांकन पत्र
  • जोगी ने धर्म ग्रन्थों को हाथ में लेकर भाजपा को समर्थन नही देने की ली शपथ
  • जोगी ने धर्म ग्रन्थों को हाथ में लेकर भाजपा को समर्थन नही देने की ली शपथ
  • रामाराव की पौत्री सुहासिनी ने दाखिल किया नामांकन पत्र
  • वर्ष 1971 के युद्ध के हीराे ​ब्रि0 कुलदीप सिंह चांदपुरी नहीं रहे
  • अमरिंदर के राजनीतिक सचिव करनपाल सेखों का निधन
  • कबड्डी के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सुखमन चोहला का निधन
  • सेवानिवृत्ति के बाद अधिया को दूसरे क्षेत्रों में जिम्मा देना चाहती है सरकार
  • सोना 135 रुपये, चाँदी 125 रुपये मजबूत
  • गुजरात में मंत्री के नाम पर कई लोगों को फोन कर पैसे की धोखाधड़ी
  • कर्नाटक में सड़क हादसे में छह मुंबईकर की मौत
  • जिम में पसीना बहा रहे विराट, साझा की तस्वीरें
  • जिम में पसीना बहा रहे विराट, साझा की तस्वीरें
राज्य Share

आयुर्वेद से मरीजों को बेहतर उपचार मिले इस पर रिसर्च हो: पटेल

उज्जैन, 09 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के आयुष राज्य मंत्री जामलसिंह पटेल ने कहा कि वर्तमान दौर में आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति को बेहतर ढंग से मरीजों का उपचार कैसे किया जाये, इस पर रिसर्च किया जाये। पद्धति से जुड़े लोग पूर्ण ईमानदारी से पीड़ितों का उपचार कर सेवा का फल प्राप्त करें।
श्री पटेल ने शासकीय स्वशासी धन्वंतरि आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय की बैठक कहा कि आयुर्वेद पद्धति टिकाऊ, उम्दा तथा सस्ता उपचार है। एेलोपैथी के बजाय लोगों का रूझान आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में उपचार कराने के लिये बढ़ा है। आयुर्वेद के उपचार की पद्धतियों के बारे में अधिक से अधिक व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये, ताकि जरूरतमन्द मरीज अपना इलाज एेलोपैथी की बजाय आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति से करा सकें।
उन्होंने कहा कि आयुर्वेद ही एकमात्र ऐसा चिकित्सा विज्ञान है, जो हमें बताता है। रोग होने ही नहीं पाये अर्थात प्रीवेंटिव मेडिसिन, आहार विहार से सम्बन्धित साहित्य आयुर्वेद में समृद्ध हैं। क्या खायें, क्या न खायें, यह गुर आयुर्वेद से सीखने को मिलता है।
बैठक में मौजूद ऊर्जा मंत्री पारस जैन कहा कि आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिये पंचकर्म पद्धति के विस्तार की उज्जैन में आवश्यकता है। पंचकर्म के विस्तार के लिये शासकीय भूमि की मांग पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि चिमनगंज क्षेत्र स्थित आयुर्वेद अस्पताल के समीप भूमि आवंटन सम्बन्धी प्लान बनायें। भूमि शासन से उपलब्ध करवा दी जायेगी। जैन ने कहा कि सरकार के द्वारा आमजनों के स्वास्थ्य सम्बन्धी अनेकों योजनाएं संचालित की जा रही हैं।
सं बघेल
वार्ता
image