Sunday, Sep 23 2018 | Time 19:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पैन पैसिफिक फाइनल हारने के बाद वुहान ओपन से हटीं ओसाका
  • केजरीवाल की अमित शाह को बहस की चुनौती
  • महाराष्ट्र में धूमधाम से हुआ गणेश विसर्जन
  • सवर्ण समाज पार्टी मध्यप्रदेश के अलावा छत्तीसगढ और राजस्थान में भी लड़ेगी चुनाव
  • त्रिपुरा में मलेरिया का कहर,20 बच्चे अस्पताल में भर्ती
  • झारखंड को 6-0 से पीटकर दिल्ली क्वार्टरफाइनल में
  • गुजरात में गणपति की प्रतिमाओं का विसर्जन
  • हुसैनसागर झील में भगवान गणेश की 2000 से अधिक मूर्तियां विसर्जित
  • तीन तलाक का मुद्दा राजनीति का विषय नहीं : रविशंकर
  • एकता, अखंडता और सम्मान के लिए डालें वोट: लू
  • भारत ने छह स्वर्ण के साथ जीता ट्रैक एशिया कप
  • वोट बैंक की राजनीति के कारण गरीबों के स्वास्थ्य की हुई अनदेखी : मोदी
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • सरकार को आन्दोलनरत कर्मचारियों से करनी चाहिए बात-पायलट
राज्य Share

कड़ी सुरक्षा में सुनील एवं चंदन को सिफ्ट किया लखनऊ व कानपुर जेल

कड़ी सुरक्षा में सुनील एवं चंदन को सिफ्ट किया लखनऊ व कानपुर जेल

गोरखपुर, 09 सितम्बर (वार्ता)कड़ी सुरक्षा में गोरखपुर जेल से हिन्दु युवा वाहिनी .भारत. के अध्यक्ष सुनील सिंह को लखनऊ और उनके सहयोगी चंदन विश्वकर्मा को कानपुर जेल में सिफ्ट किया गया है।

पुलिस सूत्रों ने रविवार को यहां कि इन दोनों को गोरखपुर जिला जेल से गत रात ही लखनऊ एवं कानपुर के लिए रवाना कर दिया गया था।

हिन्दू युवा वाहिनी .हियुवा. भारत के संयोजक चंदन विश्वकर्मा को हिन्दू युवा वाहिनी के एक कार्यकर्ता को धमकी देने के आरोप में पिछले 31 जुलाई को गिरफतार किया गया था। इसकी जानकारी होने पर हियुवा भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह कुछ सहयोगियों के साथ चंदन को छुडाने राजघाट थाने पहुंच गये। आरोप है कि इस दौरान उन्होंने जमकर हंगामा किया और इसी मामले में पुलिस ने सुनील सिंह सहित दस सहयोगियों को गिरफतार कर लिया था।

इसके कुछ दिन बाद इसी थाना क्षेत्र में एक कार बरामद हुयी थी जिसपर सुनील सिंह के नाम का स्टीकर लगा हुआ था। इस दौरान पुलिस ने दावा किया था कि कार में पेट्रोल बम बरामद हुआ है। इस मामले में भी सुनील के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर लिया गया और इन मुकदमों को आधार बनाकर सुनील सिंह और चंदन के विरूध्द रासुका की कार्रवायी भी हुयी है। यह दोनो गोरखपुर जिला जेल में थे।

गौरतलब है कि जेल में सुनील सिंह और चंदन से मिलने काफी लोग आते रहते थे, लेकिन गोरखपुर संसदीय सीट के सांसद प्रवीण निषाद के तीन दिन पूर्व उनसे मिलने जाने के बाद राजनीति गर्मा गई थी। दोनो से मुलाकातियों की आवाजाही को लेकर जेल प्रशासन की रिपोर्ट पर शासन ने दोनों को दूसरी जेल भेजने के निर्देश दिये थे।

More News
तीन तलाक का मुद्दा राजनीति का विषय नहीं : रविशंकर

तीन तलाक का मुद्दा राजनीति का विषय नहीं : रविशंकर

23 Sep 2018 | 7:54 PM

पटना 23 सितम्बर (वार्ता) केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज कहा कि तीन तलाक का मुद्दा कोई राजनीति का विषय नहीं है बल्कि मुस्लिम महिलाओं के सम्मान एवं सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा है।

 Sharesee more..
बादल के गढ़ में गरजेंगे अमरिंदर सात अक्तूबर को

बादल के गढ़ में गरजेंगे अमरिंदर सात अक्तूबर को

23 Sep 2018 | 7:48 PM

चंडीगढ़ ,23 सितंबर (वार्ता ) पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सात अक्तूबर को पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के निर्वाचन क्षेत्र लंबी के किलियांवाली में रैली को संबोधित करेंगे ।

 Sharesee more..

महाराष्ट्र में धूमधाम से हुआ गणेश विसर्जन

23 Sep 2018 | 7:47 PM

 Sharesee more..
image