Sunday, Jul 21 2019 | Time 16:04 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पैरोल जंप करने वाला ‘मोस्ट वांटेड‘ बदमाश पकड़ा गया
  • अमेरिका में लू से छह लोगों की मौत, करोड़ों प्रभावित
  • विश्व में खसरे से प्रति घंटे दस बच्चों की होती है मौत
  • विराट को तीनों फार्मेट की कप्तानी, हार्दिक को विश्राम
  • सादगी की मिसाल राय दा ने आजीवन पेंशन नहीं ली
  • सिरसा मेंं कांग्रेस नेताओं ने दी शीला दीक्षित को श्रद्धाजंलि
  • सिंधू का 2019 में अपने पहले खिताब का सपना टूटा
  • खाद्य तेलों पर दबाव: गेहूँ, दाल में उबाल, गुड़ नरम
  • ममता का मतपत्रों का इस्तेमाल दोबारा शुरू करने का आह्वान
राज्य


अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अधिनियम के विरोध में भाजपा नेताओं का घेराव

ग्वालियर, 09 सितंबर (वार्ता) अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अधिनियम के विरोध में आज मध्यप्रदेश के ग्वालियर में सवर्ण समाज के लोगों ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं का घेराव किया और विरोध प्रदर्शन कर नेताओं के खिलाफ नारेबाजी की।
प्रदर्शनकारियों ने जहां एक ओर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद प्रभात झा और मुरैना सांसद अनूप मिश्रा के निवास पर पहुंच कर विरोध जताया। वहीं शहर के मंगल वाटिका में हो रही बैठक के दौरान भी भाजपा नेताओं को घेरा। बैठक में जहां पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान आए ही नहीं, वहीं प्रदर्शनकारियों के विरोध को देखते हुए सांसद प्रभात झा पीछे के गेट से बैठक में शामिल होने पहुंचे।
इस दौरान प्रदर्शनकारी पहले गेट के सामने डटे रहे। वहीं कुछ प्रदर्शनकारियों को श्री झा के दूसरे गेट से अंदर जाने की सूचना मिली। तभी प्रदर्शनकारी जबरन बैठक परिसर में घुसने लगे। इसके बाद प्रभात झा को बाहर आकर प्रदर्शनकारियों से शांति की अपील करनी पडी। इस पर भी जब सवर्ण समाज के कार्यकर्ता नहीं माने तो मंगल वाटिका के सभी गेट बंद कर बैठक को दोबारा शुरू कराया गया।
इतना ही नहीं बैठक में शामिल होने पहुंचे कई कार्यकर्ताओं को यहां से जबरन वापस लौटा दिया गया। हंगामे के दौरान बैठक में हिस्सा लेने आए कई नेताओं को सपाक्स और आरक्षण विरोधी कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी के बीच वापस जाने के लिए मजबूर कर दिया। तभी सवर्ण समाज के नेताओं ने प्रभात झा को एक धिक्कार पत्र सौंपा। प्रभात झा ने धिक्कार पत्र लेने के बाद कांग्रेस को कोसते हुए एट्रोसिटी एक्ट जैसे काले कानून के लिए जिम्मेदार बताया।
बैठक में प्रदेश की नगरीय विकास मंत्री माया सिंह, स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष वेद प्रकाश शर्मा जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा सहित कई अन्य अतिथि शामिल थे। खास बात यह है कि विरोध के चलते मेला परिसर में भारी पुलिस बल तैनात करना पड़ा। तब कहीं जाकर चुनिंदा नेताओं की मौजूदगी में ताला बंद कमरे में बैठक शुरू हो चुकी हो सकी।
सं बघेल
वार्ता
More News
बलरामपुर पुलिस ने दो इनामी बदमाशों को किया गिरफ्तार

बलरामपुर पुलिस ने दो इनामी बदमाशों को किया गिरफ्तार

21 Jul 2019 | 3:47 PM

बलरामपुर, 21 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश की बलरामपुर जिला पुलिस ने देहात कोतवाली क्षेत्र से रविवार को पांच-पांच हजार रुपये के दो इनामी बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया ।

see more..
image