Monday, Feb 18 2019 | Time 04:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ‘नयी सुविधाओं’ से जवानों के काफिले को सुरक्षित बनाया जाएगा: भटनागर
  • फ्रांस में सरकार विरोधी प्रदर्शन के तीन महीने पूरे
  • लीबिया में खुफिया विभाग के पूर्व प्रमुख डोरडा हुआ रिहा
  • केरल में युवक कांग्रेस के दो कार्यकर्ताओं की हत्या
  • गृह मंत्रालय ने जम्मू-श्रीनगर क्षेत्र में सीआरपीएफ जवानों के लिए हवाई सुविधा मामले में स्पष्टीकरण दिया
राज्य Share

सामूहिक दिव्यांग विवाह समारोह में 52 जोड़े बने हमसफर

उदयपुर 09 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान के उदयपुर में नारायण सेवा संस्थान की ओर से आयोजित 31वां नि:शुल्क दिव्यांग एवं निर्धन सामूहिक विवाह समारोह में आज 52 जोड़े हमसफर बने।
समारोह में देश के विभिन्न राज्यों से आए 104 दिव्यांग पारम्परिक रस्मो रिवाज से विवाह बंधन में बंधे। समारोह में शादी के जोड़ों में सजे दूल्हा दुल्हन बारी बारी से एक दूसरे को वरमाला पहनाकर हमेशा के लिए वे एक दूसरे के बन गये। वरमाला के दौरान कोई दूल्हा कृत्रिम उपकरणों की मदद से वरमाला लिए आगे बढा, कोई जमीन पर हाथों एवं पैरो की मदद से तो कोई व्हील चेयर पर वरमाला लिए आगे बढा। इस दौरान विवाह के पारम्परिक एवं फिल्मी गीतों एवं धुनों पर पूरा पांडाल थिरक उठा।
वर वधुओ को आर्शिवाद प्रदान करने के लिए नई दिल्ली, मुबंई, अहमदाबाद, गाजियाबाद, फरीदाबाद, गुडगांव, जोधपुर, इंदौर, आगरा, नागपुर, हैदराबाद, अलीगढ, पूना, राजकोट, देहरादून, पटना, बडौदा सहित देश के कई राज्यों एवं शहरों से संस्थान के सहयोगी शामिल हुये।
गौरतलब है कि संस्थान द्वारा अब तक आयोजित 31दिव्यांग सामूहिक विवाह में 1401 दिव्यांग जोड़े परिणय सूत्र में बंध चुके हैं। इसके अलावा संस्थान ने पिछले 30वर्षो में लगभग तीन लाख पचास हजार से अधिक रोगियों का ऑपरेशन किया है और उन्हें चिकित्सा सेवाओं, दवाईयों और प्रौद्योगिकी का नि:शुल्क लाभ देकर सामाजिक आर्थिक सहायता प्रदान की हैं।
रामसिंह जोरा
वार्ता
More News

उत्तर प्रदेश आईपीएस तबादले दो अंतिम लखनऊ

17 Feb 2019 | 11:31 PM

 Sharesee more..
भाजपा नागरिकता संशोधन विधेयक लाने के लिए प्रतिबद्ध: अमित शाह

भाजपा नागरिकता संशोधन विधेयक लाने के लिए प्रतिबद्ध: अमित शाह

17 Feb 2019 | 11:21 PM

गुवाहाटी, 17 फरवरी (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को यहां इस बात पर जोर देकर कहा कि अगर केन्द्र में उनकी पार्टी फिर से सत्ता में आई तो एक बार फिर से नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) लाया जाएगा।

 Sharesee more..
image